शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2013

चले गए जहां से हम...खुशदीप



मन्ना डे  (1 मई 1919 - 24 अक्टूबर 2013)
मधुशाला...ये सुनते ही आप को किस की याद आती है...हरिवंश राय बच्चन जी की...या फिर मधुशाला को ओजस्वी आवाज़ में गाते बच्चन जी के यशस्वी पुत्र अमिताभ बच्चन की...लेकिन
क्या आपने मन्ना डे दादा की आवाज़ में मधुशाला को सुना है...जयदेव के संगीत निर्देशन में मन्ना डे के गायन से सजी मधुशाला को जिसने भी सुना होगा, वो ज़रूर जानता होगा इसका जादू....यकीन मानिए जब मैंने पहली बार मन्ना डे की गाई मधुशाला को सुना था तो सुध-बुध खो बैठा था...ना जाने कितनी बार सुना, फिर भी कभी मन नहीं भरा...जिसने मन्ना डे की आवाज़ में मधुशाला को नहीं सुना है, वो सिर्फ एक बार मेरे कहने पर इसे गंभीरता से पूरा सुन ले...अगर ना अलौकिक आनंद की प्राप्ति हो, तो मुझे कहिएगा....लीजिए पहले इस लिंक पर इसे सुनिए, फिर कुछ कहिएगा...

http://gaana.com/#!/streamalbums/manna-de-madhushala

यू-ट्यूब के लिंक पर यहां सुन सकते हैं...इस लिंक पर शुरू में हरिवंश राय बच्चन जी की आवाज़ को भी सुना जा सकता है...


10 टिप्‍पणियां:

  1. मन्ना डे को विनम्र श्रद्धांजलि..

    उत्तर देंहटाएं
  2. मैंने मन्‍ना डे का लाइव प्रोग्राम उदयपुर में देखा है, बहुत ही आनन्‍द आया था। मधुशाला सुनी हुई है। सच है सुनते ही दीवानापन आ जाता है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. कल 26/10/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस रिकार्ड ने मुझे पागल सा कर दिया था -श्रद्धांजलि!

    उत्तर देंहटाएं
  5. मधुशाला इनकी आवाज में पहली बार सुनी ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. मन्ना दा का जाना ये दस्तक दे देना जैसा है मानो अब सब कुछ अवसानमय हो चला है । उन्हें नमन और श्रद्धांजलि । हां मैंने भी ये पहली बार ही सुना है खुशदीप भाई । शुक्रिया इसे साझा करने का ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. मनना डे की भरपूर आवाज़ मे बहुत रस आता था. शानदार गाने गाए हैं उन्होने . उनके गानों मे वे हमेशा जिंदा रहेंगे .

    उत्तर देंहटाएं
  8. जिंदगी इसी तरह चली जाया करती है..पर अपने पीछे अपनी निसानियां छोड़ जाती है....पर कुछ निशानियां ऐसी आवाज होती हैं जिनको भूलना मुश्किल होता है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. मधुशाला के रिकार्ड जब रीलिज हुये थे तभी खरीदे थे जो आज भी मौजूद हैं, ऐसी आवाज अब नही पैदा होगी, विनम्र श्रद्धांजलि.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं