बुधवार, 27 जून 2012

के बीमार का हाल अच्छा है...खुशदीप


अच्छे ईसा हो मरीज़ों का ख़याल अच्छा है, 
हम मरे जाते हैं तुम कहते हो हाल अच्छा है...
उनके देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक,
वो समझते हैं के बीमार का हाल अच्छा है...
रोज़ आता है याँ मेरे दिल को तसल्ली देने,
तुझसे तो दुश्मन-ए-जाँ तेरा ख़याल अच्छा है...​
​​
​ये जो कुछ भी कहा गया है, ये सब कमबख्त ब्लॉगिंग के लिए है...​दारू तो बेचारी यूहीं बदनाम है, दरअसल चचा ग़ालिब ने एडवांस में  ब्लॉगिंग के लिए ही ये फ़रमाया था कि छूटती नहीं हैं ये काफ़िर मुंह से लगी हुई...​​वाकई एक बार ग़ालिब साहब इस शौक को आज़मा लेते तो लाल परी भी इस सौत के ग़म में हर वक्त लाल-पीली हुई कुढ़ती रहती...​

चलिए अब आता हूं अपनी तबीयत पर...कभी खुद को स्टोन-व्टोन पहनने का शौक रहा नहीं...ऊपर वाले का करम देखिए कि शरीर के बाहर न सही शरीर के भीतर ही दो तीन स्टोनों की नेमत बख्श दी...एक स्टोन महाराज इतने खुराफाती निकले ​कि गाल ब्लैडर की नेक में फंस कर उसका टेंटुआ   ही दबा दिया...यानि खाया-पिया न कुछ अंदर जाने देंगे और न ही बाहर आने देंगे...रही सही कसर लिवर महाराज ने पूरी कर दी...एक्यूट कोलेसिस्टिस ( जान्डिस) का पूरा प्रकोप  दिखा कर...



डाक्टर को इन्फैक्शन दूर करने के लिए ही हफ्ते भर​ अस्पताल में भर्ती करना पड़ा...छुट्टी तो मिल गई है, लेकिन अभी वीकनेस बहुत है...​ये पूरा महीना ही बीमारी के नाम चढ़ गया...​ इस दौरान दिनेशराय द्विवेदी सर, समीर लाल जी, महफूज़, शाहनवाज़ और राकेश कुमार जी (मनसा वाचा  कर्मणा) लगातार फोन पर मेरा हाल लेते रहे...अदा जी, शिखा वार्ष्णेय, शिवम ​मिश्रा,  सर्जना शर्मा जी ने भी फोन पर तबीयत जानी और जल्द स्वस्थ होने के लिए शुभकामनाएँ दीं...

पाबला जी ने भी फोन और एसएमएस  किया, लेकिन मैं बेसुध होने की वजह से उनसे बात नहीं कर पाया...​​​इसके अलावा मेरे ब्लॉग पर भी अनूप  शुक्ल जी, रचना जी,वाणी गीत जी, अरविंद  मिश्र जी,अंशुमाला, प्रवीण  शाह भाई, सोनल   रस्तोगी,अंतर सोहिल,  संजय   (मो सम  कौन),अनुराग  भाई (स्मार्ट  इंडियन), दीपक  बाबा, डा अजित गुप्ता जी और डा टी एस  दराल  सर  ने मेरे शीघ्र स्वस्थ होने के लिए कामना की...​राकेश  कुमार जी अपनी पत्नी (मेरी दीदी शशि जी) के साथ  अस्पताल  मुझे देखने के लिए आए और दो घंटे वहां बैठे रहे...​
​​
​ठहरिए  पिक्चर अभी बाक़ी है दोस्त...अभी एक  शख्स का ज़िक्र  रह  गया है...मेरे इस बुरे दौर में ये शख्स न जाने कितनी बार मेरे पास  अस्पताल  आया...न  जाने कितनी बार इस  शख्स ने मुझे फोन  किया...यानि बड़े भाई  होने का फर्ज़  निभाया....ये शख्स  और कोई  नहीं सतीश  सक्सेना भाई हैं...विडंबना देखिए  कि  सोलह  जून  को सतीश भाई  के काव्य -संग्रह  मेरे  गीत का विमोचन था और उसी दिन  दोपहर को मुझे अस्पताल  ले जाया गया...सतीश भाई  से मैंने वादा किया था कि  मैं ज़रा भी सही हूंगा तो ज़रूर कार्यक्रम में हिस्सा लूंगा...क्योंकि ये सतीश भाई का नहीं, मेरा अपना कार्यक्रम था...लेकिन  ऐन  वक्त  पर  ऊपरवाला दग़ा दे गया...​
​​
सतीश  भाई, आपके लिए  एक  बात और...आपने मुझे अस्पताल  में मेरे गीत की जो प्रति दी, उसका इतना सदुपयोग हुआ  है कि आपके व्यक्तित्व और ​कृतित्व पर  बिल्कुल  सटीक  बैठता है...ये पूरी कहानी अगली पोस्ट में बताऊंगा...शरीर में थोड़ी और ताक़त आने के बाद...
​​​​​​​​​​​

31 टिप्‍पणियां:

  1. दिनों-दिन बेहतर हो आपका स्‍वास्‍थ्‍य.

    उत्तर देंहटाएं
  2. जल्दी पूर्ण स्वस्थ होकर आइये.

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे भैया अभी अभी तो भाभी जी से बात हुई है.. आपसे बात करना चाहता था.. लेकिन आपका मोबाइल उनके पास है.... अभी आपको फोन करता हूँ..

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप की सेहत के लिए....
    बहुत-बहुत
    शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  5. आप स्वस्थ होने की राह पर हैं, इससे सुखद कोई समाचार नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बीमार का हाल अच्छा है, यह जानकर खुशी हुई। ये रौनक़ यूँ ही बनी रहे! :)

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपकी अस्वस्थता से चिंतित होना स्वाभाविक है.
    आप पर बिमारी के अलावा अन्य कितने बोझ हैं,
    इसपर भी आपने पोस्ट लिखी डाली ,ब्लॉग्गिंग के लिए ऐसा
    समर्पण एक मिशाल ही है.
    आपके शीघ्रातिशीघ्र स्वस्थ होने की मंगलकामना करता हूँ.
    ब्लॉग जगत में मेरा पदार्पण केवल आप ही की वजह से है.
    आप मेरा प्रेरणास्रोत ही नहीं संबल भी हैं.
    आपसे बहुत कुछ सीखना है.जल्दी से स्वस्थ हो
    भाभी जी के साथ घर आईएगा.

    उत्तर देंहटाएं
  8. शीघ्र स्वास्थ्य-लाभ कर आप ऐसी ही हँसी-खुशी बाँटते रहें -यही कामना करती हूँ !

    उत्तर देंहटाएं
  9. आप फ़टाफ़ट ठीक होकर रवानी और रफ़्तार में आएं, हम यही प्रार्थना और दुआ करते हैं खुशदीप भाई । आप ये मोर्चा भी अपनी हिम्मत और संकल्प से जीत लेंगे हमें विश्चास है । पूरे हिंदी परिवार की तरफ़ से , और आपके हर दोस्त यार की तरफ़ से यही दुआ है कि शीघ्र स्वस्थ हों । अपना ख्याल रखिएगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. दिखाई दी रौनक यहाँ -खुशामदीद खुशदीप !

    उत्तर देंहटाएं

  11. आपके बिना ब्लॉग जगत की रौनक कम हो गयी खुशदीप भाई ...
    आपके लिए मंगलकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  12. ईश्वर आपको शीघ्र ही स्वास्थ्यलाभ प्रदान करे!

    उत्तर देंहटाएं
  13. खुशदीप जी, मैं भी इन दिनों पुणे में थे और आने के बाद नेट पर ब्‍लागस्‍पाट ही नहीं ओपन हो रहा था तो सभी से सम्‍पर्क टूटा हुआ था। आपकी बीमारी के बारे में जानकर तकलीफ हुई, जल्‍दबाजी ना करें, पूरा आराम करें। जितना आराम करेंगे उतनी जल्‍दी ही स्‍वस्‍थ होंगे। शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  14. oओह्! तो आप बीमार थे मगर यकीं नही आता। कैसे बीमार हो गये। वैसे ये ब्लागिन्ग अपने जिस्म पर ध्यसन नही देने देती। तभी तो मेत्रे लिये दिन भर मे सिर्फ एक घन्टा बैठना ही नसीब हुया है। अपनी सेहत का जरूर ध्यान करो\ मै अभी फोन पर बात करती होपोँ। शुभ्कामनायें, आशीर्वाद जल्दी स्वस्थ हो जाओ।

    उत्तर देंहटाएं
  15. खुशदीप भाई, आपका लिखा हुआ देखकर आनंद आ गया.... कितने दिन से आपकी आवाज़ भी नहीं सुन पाया हूँ... कुछ आप बीमार चल रहे हैं और कुछ मैं मसरूफ.... :-(

    चलिए आपने लिखना शुरू कर दिया, यह भी क्या कम खुशी की बात है! :-)

    उत्तर देंहटाएं
  16. चिकित्सकों की दवा, भाभी जी की तीमारदारी, आपकी ब्लॉगिंग, हमारी शुभकामनायें और सक्सेना जी की मेरे गीत
    आपको अब ज्यादा देर अस्वस्थ नहीं रहने देंगे।
    पूर्ण रिकवरी के साथ निरंतर हो जाईये

    प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  17. खुशदीप जी आप पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जायें यही दुआ है आपका नम्बर नही था मेरे पास चाहती तो थी कि बात कर सकूँ और जान सकूँ कि क्या हाल है पहले वाले मोबाइल मे था मगर वो मोबाइल बदलने से नम्बर भी गायब हो गया …………अब ईश्वर से दुआ है आप जल्द से जल्द स्वस्थ हों।

    उत्तर देंहटाएं
  18. खुशदीप भाई , थोडा और आराम करेंगे तो पूरा ठीक हो जायेंगे .
    और जब तक आपका मक्खन आता है तब तक हमारे डॉक्टर साब के साथ आनंद लीजिये .

    उत्तर देंहटाएं
  19. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  20. शीघ्र स्वास्थय लाभ के लिये शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  21. जब तक पूरी तरह से स्वस्थ न हो जायें। आप इतना न लिखें। न फ़ोन नम्बर है न इमेल एड्रस है मगर फिर भी जब से खबर मिली थी कि आप अस्वस्थ हैं इश्वर से प्रार्थना की थी जल्द स्वस्थ हों और हमसे बात करें। अनेक शुभकामनाओं एवं दुआओं के साथ। आपके स्वास्थ्य के लिये एक बार फिर प्रार्थना करते हैं।
    सादर
    सुनीता एवं पवन

    उत्तर देंहटाएं
  22. जल्दी से पूरी तरह स्वस्थ होकर ब्लॉगवुड की रौनक बढाएं
    आपके बेहतर स्वास्थ्य की अनेक दुआएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  23. Dear Khushdeep.Aap jaisa zinda dil aur dost maine nahin dekha aap jaldi hi ubar aayenge..laakhon logo ki duaaen hamaare blogging super star ke saath hain.Main UP nagar nigam elections me VOTER awareness campaign ki vajah se touch mein nahin tha us din aap phone nahin karte to pata bhi shayad nahin chalta...khair I am always praying ki aap jaldi durust ho jaao...

    उत्तर देंहटाएं
  24. बेहतर होगा पूरी तरह ठीक हो कर ही ब्लोगिंग शुरू करे ये कोई टेंशन विहीन ( तनाव मुक्त ) वाली जगह थोड़ी है !
    पूरी तरह से स्वस्थ होने के लिए शुभकामनाये !

    उत्तर देंहटाएं
  25. GET WELL SOON BHAIJEE......WE AALL WAIT & WATCH 'GULLI-MAKHHAN'......

    SUBHKAMNAYEN........


    PRANAM.

    उत्तर देंहटाएं
  26. @वो समझते हैं के बीमार का हाल अच्छा है...

    अच्छा ही रहे भाईजी,

    शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  27. अरे! मैंने तो सोचा, मेरा फोन/ एस एम एस आने से बेसुध हो गए होंगे :-)

    फटाफट लौटिए मैदाने-ब्लॉग में
    15 अगस्त इंतज़ार कर रहा है बधाई के लिए

    उत्तर देंहटाएं