शनिवार, 24 दिसंबर 2011

अन्ना की पूरी कहानी, एक तस्वीर की ज़ुबानी...खुशदीप

अन्ना का नया रण....

27 से अनशन का मुंबई संस्करण...


मिल ही गया MMRDA का मैदान...


बस करना पड़ेगा मोटा भुगतान...


30 से जेल भरो का फ़रमान...


सोनिया-राहुल के घर के बाहर भी होगा धरना-प्रदर्शन का घमासान...



अब ये पूरी गाथा बिना कुछ कहे आर प्रसाद के इस कार्टून में....





(साभार...मेल टुडे)


9 टिप्‍पणियां:

  1. बचपन में कहानी सुनते थे,

    एक था राजा, एक थी रानी।

    उत्तर देंहटाएं
  2. यह तो बिल्कुल ही गलत है, अन्ना के पीछे आरएसएस बताना।
    सही नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं