गुरुवार, 20 अक्तूबर 2011

भारत 15 साल बाद...खुशदीप





INDIA AFTER 15 YEARS...................

...............................................................................................

...............................................................................................

...............................................................................................


1 जनवरी 2025

भारतीय प्रधानमंत्री अमेरिका को आर्थिक सहायता पैकेज देने के लिए वाशिंगटन डीसी के दौरे पर...


स्विट्जरलैंड और लग्ज़मबर्ग जैसे देशों को कहीं पीछे छोड़ भारत दुनिया का सबसे अमीर देश...


अमेरिका में हवेली में छुपा दाऊद इब्राहिम भारत की एनआईए कार्रवाई में मारा गया...


स्कॉटलैंड यार्ड के आला अधिकारी यूपी पुलिस से रिफ्रेशर ट्रेनिंग लेने के लिए लखनऊ में ...


1 भारतीय रुपया= 76 अमेरिकी डॉलर ...


भारत में पेट्रोल 10 रुपये लीटर...


डीज़ल 7 रुपये लीटर ...


सोना 500 रुपये प्रति दस ग्राम...

-----------------------------------------------

ये सब हक़ीकत में बदल सकता है अगर आप मक्खन की भविष्य के प्रधानमंत्री की दावेदारी का समर्थन करें...

----------------------------------------

क्यों ? क्या देश के लोगों को सपने दिखाने का अधिकार सिर्फ राजनेताओं का है...अब तो गैर राजनीतिक लोग भी देश से भ्रष्टाचार मिटा कर रामराज्य लौटने के सपने दिखाने लगे हैं...अब सपने सपने ही रहने हैं तो क्यों न बड़े सपने दिखाए जाएं...मक्खन महाराज का कहना है कि ये क्या बिजली, सड़क, पानी जैसी छोटी छोटी तुच्छ चीज़ों का ख्वाब पाल कर अपना स्टैंडर्ड गिराते हो...सपने देखो तो बड़े देखो...इसमें कौन सा आप की जेब से कुछ जाना है...

SO VOTE, SUPPORT & ELECT MAKKHAN THE GREAT....



HAPPY DREAMING.....
--------------------------------------------




19 टिप्‍पणियां:

  1. वोट फॉर मक्‍खन...ऐसा सपना कितना सुहाना लगता है

    हिन्‍दी कॉमेडी

    उत्तर देंहटाएं
  2. दिल को बहलाने के लिए गालिब ये ख्‍याल अच्‍छा है.....
    मजेदार.....
    मेरा वोट मख्‍खन को.....

    उत्तर देंहटाएं
  3. आमीन ...मेरा पक्का वाला वोट मक्खन को.

    उत्तर देंहटाएं
  4. सपने देख लो अपने अपने हिसाब से .....कुछ न कुछ तो सच हो ही जाएगा..नहीं तो नींद तो रहेगी न

    उत्तर देंहटाएं
  5. मक्‍खन कहां से चुनाव लड रहा है?

    उत्तर देंहटाएं
  6. मक्खन भैय्या 'जिंदाबाद'!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. यू पी पुलिस वाली न्यूज़ गलत पायी गयी :-)
    बकिया सब ठीक पायीं गयीं !
    मक्खन महाराज की जय जय !
    ज्योतिषाचार्य आचार्य श्री खुशदीप आनंद महाराज की जय !

    उत्तर देंहटाएं
  8. अरे हां ऊपर पंद्रह साल आगे की एक बात का ज़िक्र करना भूल गया था...

    सतीश सक्सेना भाई जी को रिटायरमेंट के बाद यूपी पुलिस ने बेहद मनुहार कर अपना जनसंपर्क अधिकारी बना लिया है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  9. ek sahi sapana ....kisi ne bhee dekha ho......

    jai baba banaras.........

    उत्तर देंहटाएं
  10. ओह ! मुझे तो लगा था की किरण बेदी पर कोई पोस्ट आयेगी कुछ और नई जानकारी मिलेगी......... खैर

    @ अब तो गैर राजनीतिक लोग भी देश से भ्रष्टाचार मिटा कर रामराज्य लौटने के सपने दिखाने लगे हैं..

    सपने तो कोई नहीं दिखा रहा है लड़ने वाले भी बस आधा ही भ्रष्टाचार ख़त्म करने की बात कर रहे है वो भी सरकारों को मंजूर नहीं है |

    उत्तर देंहटाएं
  11. सिर्फ सपने दिखाने वालों के पीछे कौन भाग रहा है.
    मक्खन बताए कि उसके पास क्या योजना है और वो खुद आगे बढकर क्या करने वाला है.

    उत्तर देंहटाएं
  12. हमारा वोट तो मक्खन को पक्का……………काश ये सपना सच हो जाये तो मक्खन की पार्टी भी पक्की।

    उत्तर देंहटाएं
  13. @ अब तो गैर राजनीतिक लोग भी देश से भ्रष्टाचार मिटा कर रामराज्य लौटने के सपने दिखाने लगे हैं....तो गोया ये भी अपराध ही साबित हुआ आखिर , मुझे लगता है कि यदि स्थिति इतनी निराशाजनक है तो फ़िर धत री जिंदगी , फ़िर काहे का मोह जी ..काहे की चिंता , काहे की फ़िकर ,और काहे की नींद और काहे के सपने ..

    किस किस की चिंता ,किस किस को रोईए
    आराम बडी चीज़ है ,मुंह ढक के सोईए

    उत्तर देंहटाएं
  14. सपने देखने पर कोई पाबंदी नहीं और दिखाने पर भी।

    उत्तर देंहटाएं
  15. क्या सुहाना सपना है ...एक और वोट पक्का है मक्खन को !

    उत्तर देंहटाएं
  16. यह सुबह कभी नहीं आएगी? न यह सपना पूरा होगा ग़ालिब !
    ऐसे ही थे? ऐसे ही हैं ?? ऐसे ही रहेगे ???

    उत्तर देंहटाएं