बुधवार, 28 सितंबर 2011

राजे रजवाड़े न सही राजा, रेड्डी तो हैं...खुशदीप

कौन कहता है राजे-रजवाड़े चले गए...राजा और रेड्डी तो रह गए हैं...राजा दिल्ली की तिहाड़ जेल में है..रेडडी हैदराबाद की चंचलगुडा जेल में...राजा के टू जी ने कांग्रेस के दो जी यानि प्रणब जी और चिदंबरम जी को ऐसा उलझाया है कि पार्टी के साथ सरकार में भी भूकंप आया हुआ है...न सोनिया जी को कुछ सूझ रहा है और न ही मनमोहन जी को...मनमोहन जी को तो वैसे भी वही सूझता है जो 10, जनपथ से जो सुझवाया जाता है...

रेड्डी (बेल्लारी वाले जी जनार्दन रेड्डी) कनार्टक में मंत्री की कुर्सी छिनते ही पैदल क्या हुए कि सीबीआई लपक कर ले गई और आंध्र प्रदेश ले जा कर जेल में बंद कर दिया...इतनी गनीमत की, साथ में रेड्डी के साले श्रीनिवास रेड्डी को भी जेल में कंपनी देने के लिए बंद कर दिया...


जनार्दन रेड्डी भाई जी करुणाकरा रेड्डी और जी सोमाशेखर रेड्डी के साथ कभी सुषमा स्वराज जी को मां तुल्य बताते हुए उनके बड़े विश्वासपात्र हुआ करते थे...


लेकिन सुषमा जी कुछ महीने पहले ही इनसे पल्ला झाड़ चुकी हैं...सुषमा जी ने साथ ही अरुण जेटली जी पर ये आरोप और जड़ दिया था कि जानबूझकर रेड्डी बंधुओं को उनका नज़दीकी बताते हुए दुष्प्रचार किया जाता है...

खैर अब जनार्दन रेड्डी अंदर हैं और बीजेपी से सुध लेने वाला कोई नहीं है...जेल जाने से पहले जनार्दन रेड़्डी के क्या ठाठ थे, आप खुद ही नीचे दी तस्वीरों से अंदाज़ लगाइए...


बेल्लारी समेत ऐसी कई खदानें जिनसे निकले लौह अयस्क को रेड्डी भाईयों ने चीन जैसे देशों को अवैध निर्यात कर दस साल में पचास हज़ार करोड़ रुपये से ज़्यादा कूटे...

रेड्डी के लिविंग रूम में चालीस करोड़ रुपये का हीरों का मुकुट

चालीस करोड़ रुपये का ऐसा ही मुकुट रेड्डी भाइयों ने तिरुपति मंदिर को भेंट चढ़ाया था...भगवान वेंकटेश्वर को मिली ये सबसे कीमती भेंट है

सीबीआई को रेड्डी के घर से पांच करोड़ रुपये की सोने की ऐसी ही कटलरी मिली

बेल्लारी में रेड्डी भाइयों के घर की कीमत 120 करोड़ रुपये आंकी गई है

रेड्डी भाइयों के निजी फ्लीट में पांच हेली़कॉप्टर हैं...ये बेल्लारी और बैंगलुरू के बीच लंच के लिए भी आने-जाने को
हेलीकॉप्टर का ही इस्तेमाल करते रहे हैं...

ये तस्वीरें देखने के बाद भी आप कहेंगे, राजे-रजवाड़ों का ज़माना चला गया...तमिलनाडु में राजा के घर की भी आपको कभी सैर कराने की कोशिश करुंगा...

7 टिप्‍पणियां:

  1. राजा रजवाड़े तो छोटी छोटी रियासतों के ही थे ये तो चक्रवर्ती सम्राट हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. राजाओं की इनके आगे क्या विसात...सच कहा अजीत जी ने ये तो सम्राट हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  3. इनके लिये तो जेल में भी यही शानो-शौकत उपलब्ध होनी ही चाहिये वर्ना वहाँ तो श्र्वास लेना भी इनके लिये दूभर हो जावेगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत पहले एक कहानी पढी थी जिसमें एक साधु एक चूहे को बहुत ऊंचे कूदते देख कर उसका बिल खोदता है तो देखता है कि उसमें सोने का कलश पडा हुआ है । सच कहा आपने ये आज के उन रजवाडों जैसे ही हैं लेकिन वे तो फ़िर भी अपने राजधर्म का पालन करते थे , लेकिन ये । इस समस्या का एक ही निदान है कि इनकी तमाम संपत्ति ज़ब्त कर ली जाए और फ़िर चाहे इन्हें बिना सज़ा के भी छोड दें तो ये इनके लिए किसी सज़ा से कम नहीं होगी

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत बढ़िया!
    आपको सपरिवार
    नवरात्रि पर्व की मंगलकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं