खुशदीप सहगल
बंदा 1994 से कलम-कंप्यूटर तोड़ रहा है

ज़िंदा है डॉक्टर, ज़िंदा है...खुशदीप

Posted on
  • Saturday, September 10, 2011
  • by
  • Khushdeep Sehgal
  • in
  • Labels: , ,

  • मुंबई में दो दिन से अस्पतालों के रेज़ीडेंट डॉक्टर हड़ताल पर हैं...डॉक्टर अस्पतालों में अपने लिए पूरी सिक्योरिटी मांग रहे हैं...दरअसल बुधवार को सायन अस्पताल में एक मरीज की मौत के बाद उसके रिश्तेदारों ने डॉक्टरों के साथ मारपीट की थी...इस घटना पर विरोध जताते हुए मुंबई के सभी सरकारी अस्पतालों के रेज़ीडेंट डॉक्टर गुरुवार सुबह से हड़ताल पर हैं...इस चक्कर में मरीज़ों का बुरा हाल है...खैर ये तो रही मुंबई की बात, अपने देश की बात...




    आपकी मुलाकात कराता हूं आज पाकिस्तान के एक 'डॉक्टर' से...वो भी हड़ताल पर है...शिकायत है कि उसे इतनी कम तनख्वाह क्यों मिलती है...पाकिस्तान के मशहूर कॉमेडियन सोहेल अहमद के निभाए 'डॉक्टर' के इस किरदार की बातें सुनकर मेरे तो पेट में बल पड़ गए...आपकी आप जानो...पूरा लुत्फ़ लेना है तो इस वीडियो को पूरा लोड होने के बाद देखें...जिंदा है डॉक्टर, जिंदा है...



    12 comments:

    1. इस वीडियो को देखकर M.B.B.S.का आज नया ही मतलब पता चला...

      मोहतरमा बेनज़ीर भुट्टो शहीद...

      जय हिंद...

      ReplyDelete
    2. भारत में
      और पाकिस्तान में भी
      दुकानदार जब दुकान खोलता है तो दुकान के आगे तीन-चार फुट सड़क तक सामान फैलाता है।
      आप की पोस्ट टिप्पणियों तक जारी रहती है।

      ReplyDelete
    3. यहां के आधुनिक समय के भगवानों का क्या कहना.

      ReplyDelete
    4. वाह जी वाह!
      जिन्दा है डॉक्टर, जिन्दा है
      गफलत में डॉक्टरी धंदा है.
      मरीज न मिले तो बिलकुल मंदा है.
      मरीज को मारे तो बहुत गन्दा है.
      हड़ताल पर जाएँ तो 'हुडदंगा' है.
      सच्ची सेवा करे तो ही 'चंगा' है.

      ReplyDelete
    5. कैसे झेला यह वीडियो आपने ।
      एकदम फूहड़ ! जैसी अक्सर पाकिस्तानी कॉमेडी होती है ।
      सिर्फ एक छोटा सा पंच था । बाकि सब बकवास ।

      ReplyDelete
    6. विश्वास कीजिये कभी कभी इन सरकारी डाक्टरों की लापरवाही और गरीब मरीजो को प्रति असंवेदनशीलता बेरुखापन इतनी ज्यादा होती है की मरने वाले के अपने क्या यदि आप भी वहा हो तो आप की भी इन्हें मारने की इच्छा होगी | रही बात पाकिस्तान की तो युवराज ने पिछले ब्लास्ट के बाद ही हमारे देश की तुलना पाकिस्तान से की थी अब तो वो भारत को भी पाकिस्तान बना कर ही छोड़ेंगे |

      ReplyDelete
    7. हँसते हँसते पेड़ में बल पड़ गये।

      ReplyDelete
    8. जिस तन लागे..वही जाने...
      अपनी व्यथा का सही तरीके से व्यक्त किया है उस पाकिस्तानी डाक्टर ने..

      ReplyDelete
    9. प्रवीण भाई,
      ये हंसने वाला कौन सा पेड़ इज़ाद कर लिया है...

      जय हिंद...

      ReplyDelete
    10. पाकिस्तानी हास्य में फूहड़ता अधिक होती है ...हमारा मख्खन बढ़िया है !
      शुभकामनायें आपको !

      ReplyDelete
    11. being a doctor i myself say "JINDA H DR. JINDA H"....too gud

      ReplyDelete

     
    Copyright (c) 2009-2012. देशनामा All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz