शनिवार, 30 जुलाई 2011

इब समझ आई ताऊ घणा मशहूर क्यों से...खुशदीप




कल खेल खेल में ई-मेल से मिले चार सवाल आप से पूछ डाले...पहली बात तो ये समझ आई कि अपने ताऊ रामपुरिया क्यों हर ब्लॉगर के दिल में बसे हैं...पहेलियां- सवाल पूछ पूछ कर उन्होंने सभी ब्लॉगरों को चोखा समझदार बना दिया...इससे पहले कि अब शिवम मिश्रा ताऊ का ही लठ्ठ लेकर मेरे पीछे पड़ जाए, कल पूछे गए सवालों की बात कर लूं...पोस्ट को पढ़ा तो खूब ब्लॉगर साथियों ने लेकिन इम्तिहान में बैठने की हिम्मत शिवम मिश्रा, जीवास्वा, संजय झा, एस एम मासूम, रचना और दिनेश राय द्विवेदी सर ही दिखा सके...सतीश सक्सेना भाई आए लेकिन सवालों का जवाब देने की ज़िम्मेदारी मक्खन के सिर पर डालकर पतली गली से निकल लिए...विवेक रस्तोगी भाई आए और सभी सवालों को आसान बताते हुए जवाब दूं या रहने दूं की धमकी देकर रह गए...अजित गुप्ता जी को सवाल देखकर तीतर के दो आगे तीतर, पीछे तीतर गाना याद आ गया....डॉ अनवर जमाल बड़ा सा लिंक लेकर आए लेकिन सवालों का जवाब न देकर ये जानकारी दे गए कि मेरी पोस्ट को ब्लॉग की खबरों में स्थान मिला है...निर्मला कपिला जी ने अन्ना हजारे से प्रेरणा लेकर अनशन का अल्टीमेटम दे डाला...उन्हें शिकायत थी कि द्विवेदी सर को बिना इम्तिहान में बैठे नंबर कैसे मिल गए...निर्मला जी ये गलतफहमी आपको इसलिए हुई क्योंकि मॉडरेशन महाराज किसी भी प्रतियोगी के जवाबों को लीक नहीं होने दे रहे थे...राकेश कुमार जी ने खुला चैलेंज दिया- जाइए क्या कर लेंगे 0 नंबर देकर...

अब एक बार फिर उन छह प्रतियोगियों के जज़्बे को सलाम जिन्होंने पोस्ट की मूलभावना के अनुरूप इसमें भागीदारी की...इसलिए उनके स्पोर्टसमैनशिप को सौ में सौ नंबर...रही बात सवालों की तो सारे जवाब कोई नहीं दे पाया...ये रहा सभी प्रतियोगियों का प्रदर्शन...

एस एम मासूम         3 जवाब सही         75%


जीवास्वा                    2 जवाब सही          50%

शिवम                       1 जवाब सही          25%


रचना                        1 जवाब सही         25%



संजय झा                 1 जवाब सही         25%



दिनेशराय द्विवेदी   1 जवाब सही         25%
 
सभी सवालों का सही जवाब जानने के लिए आपको इस लिंक पर जाने का कष्ट उठाना पड़ेगा...




14 टिप्‍पणियां:

  1. आखिर सब अपनी बुद्धि का लोहा मनवाने के लिये तैयार रहते हैं । बधाई हो ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको हरियाली अमावस्या की ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं .

    उत्तर देंहटाएं
  3. वही मैं कहूँ ... एक जवाब सही है ... फिर भी कह दिया जवाब गलत है ... राम राम राम घोर कलयुग ... मिडिया की साजिश है मेरे खिलाफ ... वैसे अपने अंग्रेजी ब्लॉग को खूब हिट्स दे रहे है आप यहाँ लिंक दे दे कर ... कुछ अंग्रेजी वालों को हिंदी ब्लोगस पर भी भेजिए ...
    जय हिंद !

    उत्तर देंहटाएं
  4. वैसे लठ्ठ जनता के सर पर बजता है ... मिडिया के सर पर नहीं ... आप काहे चिंता कर रहे है !?
    आप पूरी तरह से सुरक्षित है ... हाँ हमारा कुछ पता नहीं !

    उत्तर देंहटाएं

  5. भाई दिनेश राय द्विवेदी - १ सवाल सही ...
    हा ...हा....हा....हा.....

    मैंने मना किया था कि खुशदीप भाई के दंगल में मत कूदिये ...नहीं माने ...:-)

    यहाँ मैनेजमेंट में मख्खन और ढक्कन शामिल होते हैं ...

    हमें पहले ही शक था सो शामिल नहीं हुए नहीं तो अपना भी १ सवाल सही बताया जाता !

    यह कापी जांचने का काम जरूर ढक्कन का होगा :-)

    उत्तर देंहटाएं
  6. wah .... wah ........ chalo .......
    baron ke sohabat ka kuch to hasil hua...........

    bakiya sahi jawaw ka bhi intzar rahiga ........ bajariye makhhan
    aur dhakkan ke........


    pranam.

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे संजय झा जी, ऊपर जो इंग्लिश का लिंक दे रखा है, वहां सारे सही जवाब दे दिए हैं...जाकर चैक कर लीजिए आपने कहां गलती की...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  8. देख लिया मैं क्यों हमेशा कहता आया हूं कि सतीश भाई से ज़्यादा स्मार्ट ब्लॉगर और कोई नहीं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  9. हम तो सवालों में जवाब ढूढ़ते रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  10. ताऊ श्री का क्या कहना.
    प्रश्न प्रतियोगिता अच्छी रही खुशदीप भाई.
    'देशनामा' से 'Deshnama' तक
    आवाजाही भी रही.

    आभार.

    उत्तर देंहटाएं