मंगलवार, 26 अप्रैल 2011

Tihar Jail VIP Guests...तेरे जीवन का है कर्मों से नाता...खुशदीप




इरफ़ान भाई के इस जबरदस्त कार्टून के बाद देखिए कौन कौन वीआईपी है इस वक्त दिल्ली की तिहाड़ जेल के मेहमान-


कॉमनवेल्थ घोटाले के कलंक-

सुरेश कलमाड़ी- नेता बनाम खेल प्रशासक, कांग्रेस से निलंबित, इंडियन ओलंपिक संघ के चीफ़ पद से होगी छुट्टी

ललित भनोट- कॉमनवेल्थ आर्गनाइजिंग कमेटी के पूर्व महासचिव

वी के वर्मा- कॉमनवेल्थ आर्गनाइजिंग कमेटी के पूर्व महानिदेशक



2 जी स्पेक्ट्रम घोटाले के कलंक-


ए राजा- पूर्व टेलीकॉम मंत्री


शाहिद उस्मान बलवा- डीबी रियल्टी के सर्वेसर्वा


संजय चंद्रा- यूनिटेक वायरलेस (तमिलनाडु) के चेयरमैन


विनोद गोयनका- एमडी, डीबी रियल्टी


गौतम दोषी- ग्रुप डायरेक्टर, रिलायंस टेलीकॉम-अनिल धीरू भाई अंबानी ग्रुप


सुरेंद्र पिपरा- ग्रुप प्रेज़ीडेंट, रिलायंस टेलीकॉम-अनिल धीरू भाई अंबानी ग्रुप


हरि नायर- सीनियर वाइस प्रेज़ीडेंट, रिलायंस टेलीकॉम-अनिल धीरू भाई अंबानी ग्रुप


आसिफ़ बलवा- डायरेक्टर, कुसेगांव फ्रूट्स एंड वेजीटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड


राजीव अग्रवाल-डायरेक्टर, कुसेगांव फ्रूट्स एंड वेजीटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड


छह मई को तिहाड़ भेजे जा सकते हैं...


कनिमोझी- राज्यसभा सांसद और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री करुणानिधि की बेटी


शरद कुमार- एमडी, कलाईनार टीवी


करीम मोरानी- प्रमोटर, सिनेयुग फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड



ये सभी राजनीति और कारपोरेट के वो दिग्गज हैं जिनके एक इशारे पर कारिंदों की फौज सामने खड़ी हो जाती थी- ये कहते हुए...क्या हुक्म है मेरे आका...लेकिन अब ये एयरकंडीशन्ड दफ्तर, कार और घर के चैन से दूर तिहाड़ जेल के मेहमान हैं...सुबह साढ़े पांच बजे इन्हें आम कैदियों की तरह ही लाइन में लगकर गिनती करानी पड़ती है...एक घंटे बाद नाश्ते में चाय और ब्रेड के दो पीस मिलते हैं...नौ बजे तक हर कैदी को नहा-धो कर तैयार हो जाना पड़ता है...नौ बजे ही दाल, रोटी, चावल और एक सब्जी का भोजन बंट जाता है...दोपहर को परिचित मुलाकातियों से मिलने की इजाजत दी जाती है...तीन बजे दो बिस्कुट, चाय मिलती है...तीन बजे ही कैदियों को कुछ खाली वक्त मिलता है जिसमें अखबार या सामूहिक सेल में टीवी देखा जा सकता है...रात का खाना भी छह बजे तक बंट जाता है...हां, कैदी चाहे तो उसे बाद में भी खा सकता है, लेकिन खाना लेना छह बजे ही होगा....

अब ये गाना सुनिए-

तेरे जीवन का है कर्मों से नाता...

What is the height of "oohh and shit", to find click this


21 टिप्‍पणियां:

  1. बाकी इन्तजामात अनऑफिसियली भी कुछ तो हो ही जाते होंगे....मगर अच्छी बात यह है कि यह अपनी असली जगह पहुँचे तो सही.

    उत्तर देंहटाएं
  2. थोड़े दिनों बाद सब छूट जायेंगे... और तब तक इसमें भी कोई चैनल रियलिटी शो बनाकर खजाने को भर लेगा..

    उत्तर देंहटाएं
  3. सूची देखकर समझ नहीं आ रहा है रोएं या हंसें.

    उत्तर देंहटाएं
  4. Nice post.

    मुन्सिफ़ से जाके पूछ लो ‘अनवर‘ ये राज़ भी
    वो बेख़ता है कैसे ख़ताओं के बाद भी

    Read full gazal
    http://vedquran.blogspot.com/2010/04/power-of-imagination.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. इरफ़ान भाई भ्रष्टाचारियों से लड़ने वाले जमीनी योद्धा हैं....इन्होने तो भ्रष्ट सर्वोच्च न्यायलय के मुख्य न्यायाधीश को नहीं बक्शा तो कलमाड़ी या अन्य की क्या औकात....इरफ़ान भाई वाला जज्बा ही आज इस देश से भ्रष्टाचार का सफाया करने के लिए चाहिए...हमें गर्व है की हमारे बीच इरफ़ान भाई जैसे लोग हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुनते हैं कि राजा का खाना तो अभी तक घर से ही आ रहा है। लेकिन कार्टून अच्‍छा है और आपके द्वारा बताया गया गरूड पुराण भी सीख देने के लिए काफी है। जेल के जीवन का परिचय संसद के बाहर भी लगा देना चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  7. चलो...एक मुराद तो पुरी हुई कलमाडी के जेल जाने से...
    देखें...बाकियों का नंबर कब आता है?

    उत्तर देंहटाएं
  8. चलो कुछ तो तथाकथित 'बड़े लोग' अन्दर हुए... वैसे पहली बार तो आपकी लिस्ट पढ़कर विशवास ही नहीं हो रहा था.... अगर ऐसे ही बुरे कामों का बुरा नतीजा निकलने लगे तो बुराई कुछ हद तक तो दूर हो ही सकती है... वर्ना हमारे देश में कहावत है कि अगर आपके पास पैसा है तो आपका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है... एक शुरुआत ही सही परन्तु अच्छी खबर है...

    एक कदम और आगे बढाते हुए इनसे घोटालों के पैसा सूद समेत वापस देश को मिलना चाहिए... यानि घोटालों के साथ-साथ जुर्माने स्वरुप इनकी सारी जायदाद, रुपया-पैसा ज़ब्त होकर सरकारी खजाने में जमा होना चाहिए.

    उत्तर देंहटाएं
  9. asli yahi karan hai ki azaad bharat ka aam aadmi kam nahi karta hai ....

    jab jail main itna aacchha khana aur nasta time se milta hai tab wah kiyu kaam kare.......

    log kahate hai ki bharat main log bhook se mar rahe hai.....

    jai baba banaras......

    उत्तर देंहटाएं
  10. शुक्रिया खुशदीप जी.आप लोगों कि आवाज़ साथ होने से मुझे बहुत ताक़त मिलती है,कल का दिन वाकई में बहुत बड़ा दिन था.अभी कलमाड़ी के आका लोग जब अन्दर जायेंगे(जैसा कि लग रहा है)तो देश को उम्मीद कि नयी रौशनी मिल सकती है!

    उत्तर देंहटाएं
  11. सब से पहले तो तिहाड जेल को अब और बडा करना पडेगा बाकी फौज भी पीछे पीछे आ रही है। इनको काले पानी की सजा होनी चाहिये फाँसी से तो सब दुखों से मुक्त हो जायेंगे। शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  12. कुछ समय पहले मुंबई में एक मंत्री ने जेल पर रेड किया तो अबू सलेम को दी जा रही पांच सितारा सुविधाए देख कर उनकी आंखे फटी रह गई थी उसके पहले जिस तेलगी को पुणे के जेल में होना चाहिए था वो मुंबई के एक महंगे से फ़्लैट में कई पुलिस अधिकारियो के साथ बार डांसर का डांस देखते पकड़ा गया | यु पी के जेल में किये गए एक स्टिंग आपरेशन में दिखा की कैसे मधुमिता कांड वाले अमरमणि जेल में दरबार लगा रहे थे साथ में उनके पिता भी बैठते थे जिन्हें जेल की सजा नहीं हुई थी और उनके लिए अलग खाना बनता था | जेल में बैठे अपराधी वही से सुपारी लेने और हत्या करने जैसे कम करते है | इन खबरों के बाद भी आप को लगता है की ये सरे लोग जेल में उस तरह से जी रहे होंगे जैसा आम कैदी जीता होगा | आप को लगता है की कलमाड़ी इतने दिन जेल नहीं गए क्योकि जाँच हो रही थी, जी नहीं वो बाहर रह कर सारी सेटिंग में लगे थे और अपने खिलाफ सबूतों को मिटा रहे थे जब सब कम अच्छे से हो गया तो उन्हें जेल भेज दिया गया ताकि चुनावों के मौसम में कुछ फायदा उठाया जा सके और बीजेपी पर कुछ दबाव बनाया जा सके | फ़िलहाल कलमाड़ी तो सीबी आई के नए मुख्याले में बने नए नवेले जेल में आराम फार्म रहे है और लालू , सिबू सेरेन , सुखराम, बोफोर्स आदि आदि के साथ अंत में आये परिणामो के बारे में सोच मुस्करा रहे होंगे |

    उत्तर देंहटाएं
  13. कम से कम इनलोगों ने भी ये दिन देखे तो...

    उत्तर देंहटाएं
  14. तिहाड़ --अब तीर्थ स्थल बन गया है ।

    उत्तर देंहटाएं
  15. अजी यह कलमाडी तो एक मोहरा हे, जिसे जान बुझ कर अंदर किया गया हे ताकि बाकी बचे रहे, बस एक आदमी के बस का नही इतना बडा घाटोला...

    उत्तर देंहटाएं
  16. मुझे भी इन लोगों के सामान्य कैदी होने की सम्भावना कम ही लग रही है ...

    उत्तर देंहटाएं
  17. पूरी सूचि बने तो ऐसे कितने ही लोग आ जाएंगे !!

    उत्तर देंहटाएं