बुधवार, 22 सितंबर 2010

लाइफ़ का उलटा प्लान...खुशदीप

टाटा इंडीकॉम की आजकल एक एड आती है...लाइफ का उलटा प्लान...जिसमें बताया जाता है कि लोकल कॉल से भी एसटीडी करना सस्ता है उलटे प्लान में...


अब जानिए मक्खन का बनाया करियर का उलटा प्लान...


अगर कोई ए ग्रेड स्टूडेंट हैं...उसे तकनीकी या मेडिकल कालेजों में सीट मिल जाती है, वो डॉक्टर या इंजीनियर बन जाता है...


कोई बी ग्रेड स्टूडेंट है...उसे एमबीए में दाखिला मिल जाता है...वो एडमिनिस्ट्रेटर बन जाता है और ए ग्रेड वालों को मैनेज करता है...

कोई सी ग्रेड स्टूडेंट है, वो किसी तरह पास होकर राजनीति में आ जाता है...फिर वो ए ग्रेड और बी ग्रेड वाले, दोनों पर हुक्म चलाता है...

कोई फेल हो जाता है, वो अंडरवर्ल्ड ज्वाइन कर लेता है और फिर ऊपर वाले सभी को कंट्रोल करता है...


स्लॉग ओवर

मक्खन इतना जीनियस कैसे है...अमेरिका के एक मेडिकल इंस्टीट्यूट ने रिसर्चर्स की एक टीम भारत भेजी...उन्होंने मक्खन के दिमाग का मुआयना किया...तमाम एक्सपेरिमेंट्स किए...अंत में इस नतीजे पर पहुंचे...मक्खन का दिमाग मास्टरपीस है और दो हिस्सों में बंटा है...लेफ्ट और राइट...

लेफ्ट...जहां कुछ भी राइट (सही) नहीं है...


राइट... जहां कुछ भी लेफ्ट (बचा) नहीं है...

24 टिप्‍पणियां:

  1. गनीमत है मक्खन ने पूछा नहीं ...किसका लेफ्ट आपका लेफ्ट या मेरा लेफ्ट ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. पहले पता होता ....पढ़ पढ़ कर आँखों पर चस्मा नहीं लगाने देते :(
    चलो अमेरिका वालों ने कुछ तो सही कहा ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. ab maine tay kar liya hai...underworld hi join karna hai..
    haan nahi to..!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. उलटा जरूर है लेकिन हकीकत बयाँ करता प्लान है.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. कितना उल्टा पुल्टा है भई। मक्खन क्या कई लोग उल्टे हैं इस दुनिया में। या कभी कभी लगता है हम ही उल्टे हैं क्या?

    उत्तर देंहटाएं
  6. कह तो सही ही रहा है मख्खन!

    उत्तर देंहटाएं
  7. मक्खन का करियर के बारे में बनाया उल्टा प्लान हमारे देश में तो हकीकत में ही प्रयोग हो रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  8. ओह ये उल्टा प्लॉन बहुत देर से आया... वरना हम भी फ़ायदा उठा लेते

    उत्तर देंहटाएं
  9. हमारे जमाने में तो पिताजी का डण्‍डा चलता था तो जो वो कहें वो ही प्‍लान लेना पड़ता था। मन तो बहुत था कि चौथा ही अपने लिए श्रेष्‍ठ रहेगा लेकिन पिताजी ने नहीं लेने दिया। अब कोशिश करके देख लेते हैं, पर क्षेत्र ब्‍लोगिंग का चलेगा क्‍या? यही से शुरू करते हैं। सबसे पहले तो इस मक्‍खन को ही ब्रेड में लगाकर खाना पडेगा। हा हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  10. लाइफ तो उल्‍टी पुल्‍टी ही हो गयी है आजकल !!

    उत्तर देंहटाएं
  11. jab se bloging me aye ho.....ye makhan/makhhani/dhakkan ke nam par nayi-nayi tazi-tazi....ek se badhakar ek....master strike laga
    rahe ho....ab hame pata chal gaya hai...is makhhan
    ke dimag ke pichhe koun hai......bhaijee aap expose ho gaye....ye aap khud hi ho...magar main kisi ko bataoonga nahi .... basarte thora dimag hame bhi udhar de do......

    pranam.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत खूब. मक्खन की बात में दम तो है.

    उत्तर देंहटाएं
  13. अरे भैया दींपखुश[उल्टा प्लान]:) उनका क्या जो पढे ही नहीं हैं :):)

    उत्तर देंहटाएं
  14. सच मे हमारा खुशदीप बहुत जीनेयस है --- कहाँ से इतनी बडी बडी बातें ले आता है और मजाक मे बहुत कुछ कह जाता है
    अगर किसी डान ने पढ लिया तो? बहुत बहुत आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  15. ये मक्खन काम की बात इतने देर में क्यों बताता है अब हमारे किस काम का | :-)

    उत्तर देंहटाएं
  16. मक्खन का प्लान बेस्ट प्लान्……………अरे भाई जिसकी रिसर्च अमेरिका वाले करें वो किसी से कम कैसे हो सकता है……………हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  17. हम तो खाम ख्वाह ए ग्रेड के चक्कर में मारे गए ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. हकीकत से रूबरू करवा दिया अपने सर.

    बढिया.

    उत्तर देंहटाएं
  19. एकदम मस्त पोस्ट है भाई जी .........बिलकुल मक्खन मार के !

    उत्तर देंहटाएं