शनिवार, 11 सितंबर 2010

मुन्नी नहीं लौंडा बदनाम...खुशदीप


हर तरफ मुन्नी बदनाम हुई का हल्ला है...क्या एफएम और क्या टीवी चैनल, हर वक्त यही राग...मलाईका अरोड़ा जी के ठुमके...दबंग हिट हो या न हो मुन्नी बदनाम सुपर हिट है...गाना ललित पंडित जी ने लिखा है...अरे अपने ब्लॉग जगत वाले ललित जी नहीं, पूर्व संगीत जोड़ी जतिन-ललित के ललित...दबंग के संगीतकार साजिद-वाजिद हैं...तो जनाब ललित जी ने गीत लेखन में अपनी पंडिताई दिखाई और तीर सीधा निशाने पर लगा...ललित का एक परिचय और भी कि ये बीते दौर की अभिनेत्री-गायिका सुलक्षणा पंडित के छोटे भाई हैं...संगीतकार के तौर पर भाई जतिन के साथ दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे और कुछ कुछ होता है जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्मों का संगीत दे चुके हैं...

ललित का कहना है कि उन्हें गाने में झंडू बाम के इस्तेमाल की प्रेरणा निर्माता-निर्देशक मधुर भंडारकर से मिली...मधुर झंडू बाम को तकियाकलाम की तरह इस्तेमाल करते हैं...खैर ये तो हो गई मुन्नी बदनाम और उसके गीतकार की कहानी...अब आते हैं असली मुद्दे पर...ये गाना पहले एक बार नहीं दो-दो बार अलग-अलग अंदाज में पेश किया जा चुका है...आज से बीस साल पहले ताराबानो फैज़ाबादी ने मुन्नी बदनाम के मूल गीत की रचना की थी...गाने के बोल थे...लौंडा बदनाम होगा, नसीबन तेरे लिए...इस गाने को भोजपुरी स्टेज शो में गायिका राजबाला जब भी गाती थीं, सुनने वाले दर्शक झूम उठते थे...

इस गाने को पहली बार चुरा कर बॉलीवुड में 1994 में फिल्म रॉकडांसर में पेश किया गया...गायक और संगीतकार बप्पी लहरी थे...यहां भी शब्द बदल दिए गए थे...लौंडा बदनाम हुआ, लौंडिया तेरे लिए...लेकिन वो फिल्म कब आई और कब गोल हो गई किसी को पता ही नहीं चला...लेकिन आज दबंग का मुन्नी बदनाम गाना हर ज़ुबान पर है...लेकिन इसकी ओरिजनल गीतकार ताराबानो फैज़ाबादी का परिवार बहुत मुफलिसी में है...भोजपुरी सुपरस्टार मनोज तिवारी ने अपील की है कि सलमान खान इस परिवार की आर्थिक मदद करें...

जनाब जब साहित्य में (ब्लॉग में भी) दूसरे के क्रिएटिव काम को अपना कह कर पेश किया जा सकता है तो मुन्नी बदनाम के गीतकार ललित पंडित ने ऐसा कर दिया तो कौन सा पहाड़ टूट पड़ा...अब आप तक मैं इस गाने के तीनों अंदाज़ पहुंचा रहा हूं....क्योंकि मुन्नी बदनाम का ओरिजनल गीत.. लौंडा बदनाम होगा...आंचलिक (फोक) पुट लिए हुए है, इसलिए द्विअर्थी शब्द भरे हुए हैं....किसी को दिक्कत या परेशानी न हो, इसलिए पहले ही सावधान कर देता हूं, कि इसे अपने रिस्क पर ही सुनें...लीजिए सबसे पहले ओरिजनल गीत...


लौंडा बदनाम होगा, नसीबन तेरे लिए....


फिर इसी गीत को आधार बना कर 1994 में आई फिल्म रॉक डांसर में पेश किया गया गीत सुनिए-देखिए...


लौंडा बदनाम हुआ, लौंडिया तेरे लिए...


और आखिर में दबंग के लेटेस्ट क्रेज से भी खुद को धन्य कीजिए...


मुन्नी बदनाम हुई, डॉर्लिंग तेरे लिए...

26 टिप्‍पणियां:

  1. भैया... यह गाना ताराबानो फैजाबादी ने भी नहीं गाया है... यह गाना ऐक्चुयली में पाकिस्तानी सिंगर चार्ली उम्र शरीफ ने 1992 में किसी फिल्म में गाया था... और यह गाना कव्वाली के रूप में था... जिसमें बोल ऐसे थे...'लड़का बदनाम हुआ... हसीना तेरे लिए" .... ताराबानो ने भी वहीँ से नक़ल किया था... ब्रिटेन के टैबलोइड पेपर में ... भारत और सलमान खान की फैमिली के बारे में जब यह गाना रिलीज़ हुआ... तो चुराने के आरोप में बड़ी बदनामी हुई है... उस समाचार को पैसे के दम पर सलमान खान ने दबा दिया... और अभी उमर शरीफ ने सलमान और अरबाज़ के ऊपर केस दायर किया है... इसके बोल और गानों को तोड़-मरोड़ कर पेश करने के लिए... यह वाला विडियो देखिये....

    http://www.youtube.com/watch?v=NRVrtEO2gQQ

    उस विडियो को पूरा देखिएगा सब समझ में आ जायेगा... उस वक़्त ताराबानो पर भी प्लेजियरिस्म का इलज़ाम लगा था...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  2. यह हुयी ना पत्रकारों वाली बात ..........पूरी रिपोर्ट सबूत के साथ !
    जय हिंद !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे यहाँ तो सब चोर है ...पर जो भी है गाना है जबरदस्त

    उत्तर देंहटाएं
  4. http://www.youtube.com/watch?v=JC60Y--PuY4


    भैया..इसे देखिएगा... शॉक हो जायेंगे... मैं तो अभी देखा हूँ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. नई चीजें, पुराने मटेरियल से ही बनती हैं। एक जगह मंडी परिसर बनाने के लिए राजा के वंशजों ने अपने पुरखों के ध्वस्त होते महल के पत्थर बेच दिए। लोग वैसे ही चुरा कर ले जा रहे थे।

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक दम खोजी पोस्ट है आज तो
    यहाँ तो एक से एक चोर धरे है ....महफुस मिया भी ठुंड कर लाए है

    उत्तर देंहटाएं
  7. आहा हा,वाह वाह, फ़ुंकनी फ़ूंकना वाला बढिया है।
    लौंडा बदनाम हो्गा नसीमन तेरे लिए, हा हा हा

    जय हो गुरु

    उत्तर देंहटाएं
  8. मैं भी सुन लूं ज़रा ये गाना जल्दी से ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. तु बुश है हसीनों की अगर तो मैं आशिकों का सद्दाम हूँ।
    ये लड़का बदनाम हुआ तेरे लिए हसीना तेरे लिए
    जीना हराम हुआ हसीना तेरे लिए।

    ये महफ़ुज का कमाल है-हा हा हा

    जय हिंद

    उत्तर देंहटाएं
  10. पहले ईद मुबारक ..
    वाह भाई खुशदीप ,आज तो सबरवैं सबेरवें क्लीन बोल्ड कर दिए हैं भाई !
    कहाँ कहाँ से रिसर्च कर कड़ी जोड़ दिए हैं -लौंडा तो अपने ब्लॉग जगत का ही है -असली लौंडियाँ नामालूम -उसे भी खोज निकालो तो जानू :)
    ताराबनो फैजाबादी की मदद की गुहार हम भी करें! मुफिलिसी किसी भी की हो दुखी करती है -मुन्नी बदनाम की प्रेरणा मिली तो वहीं से है !
    इस जोरदार पोस्ट के लिए बधाई ,शुक्रिया भी !
    अरे यी अपने ....महफूज मियाँ भी जोरदार खबर ..दूर की कौड़ी लाये हैं ....

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपने और महफूज ने दोनों ने ही हमारे ज्ञान की वृद्धि की है वैसे मैं गाना सुनकर रिस्‍क नहीं लेना चाहती इसलिए नहीं सुन रही। क्‍योंकि पता नहीं दिमाग का कौन सा जीन विद्रोह कर उठे? आप दोनों को बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  12. English में एक कहावत है की 'originality is art of concealing the source.. ' !

    उत्तर देंहटाएं
  13. ारे आज किस मुन्नी के चक्कर मे पड गये? पत्रकार हो सब कुछ करना पडता है। सोच रही हूँ इस ब्लाग पर ऐसा कौन सा विषय है जो अभी नही आया? हसी हसी मे इतना कुछ समझा देते हो ब्लागरोंको, गुरू। बहुत खूब लगे रहो। आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  14. ब्लागरों को इस लिये कहा कि वो पंजाबी की एक कहावत है न धीये गल सुण बहुये कन कर। अर्थात बहु को सुना कर बेटी को कहना।

    उत्तर देंहटाएं
  15. गणेशचतुर्थी और ईद की मंगलमय कामनाये !
    नई जानकारी मिली, बहुत बहुत धन्यवाद


    इस पर अपनी राय दे :-
    (काबा - मुस्लिम तीर्थ या एक रहस्य ...)
    http://oshotheone.blogspot.com/2010/09/blog-post_11.html

    उत्तर देंहटाएं
  16. khush deep ji...mehfooz ji..i m shocked to see original songs...accha postmartam kiya hai aap dono ne ..badhai :)

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह वाह ....तो गोया ये थी ..बदनाम होने की कहानी ..भई वाह ..पूरे तफ़सील से पढने के बाद यही साबित होता है कि ....पहले लौंडा बदनाम होता था ....अब मुन्नी होती है ......हाय जमाना सचमुच बदल गया है भाई ...........निकल लेता हूं ..वर्ना कहीं मुझे ही न बदनाम कर कर दें सब

    उत्तर देंहटाएं
  18. गीत हिंट हुआ... ओर वो भी चोरी का, लेकिन हमारे यहां ऎसे बकवास गीत ही क्यो हिंट होते है, क्या लोगो की सोची ऎसी है...
    सब बेकार ओर बकवास चीजे आज हिटं हो रही है, हमारी सोच बस मुन्नी से आगे नही जा सक्ती, इसी लिये यह नेता हमारी वोटो पर जीत कर, हमे मुन्नी की तरह से अंध नगां कर के भुखे प्यासा कर के नचा रहे है

    उत्तर देंहटाएं
  19. लौंडा बदनाम होगा, नसीबन तेरे लिए... बचपन मे जब यह गाना गुनगनाते थे तो घर मे बहुत डांट पडती थी .

    उत्तर देंहटाएं
  20. अब समझे झंडू बाम और मुन्नी बाई के बदनामी का राज़ :)

    उत्तर देंहटाएं
  21. लौंडा बदनाम हुआ नसीबन तेरे लिए" को लगभग दो दशक पहले सड़कों पर बंजारों से ढोलक की थाप के साथ सुना था। सो दोराय नहीं कि "मुन्नी बदनाम....." चोरी की नई कारस्तानी है।

    उत्तर देंहटाएं
  22. अरे भाई , हमें तो सुनने से मतलब है । फिर कोई भी सुनाये -क्या फर्क पड़ता है ।

    उत्तर देंहटाएं
  23. चोरों की कमी नहीं है ग़ालिब.. एक ढूंढो हज़ार मिलते हैं..

    उत्तर देंहटाएं
  24. पहले बताना था ना कि गाना हेडफोन लगाकर सुनना है ...?

    उत्तर देंहटाएं