शुक्रवार, 6 अगस्त 2010

क्या आप सेलफोन सही पकड़ते हैं...खुशदीप

इससे पहले कि आप इस सवाल पर मेरी क्लास लेना शुरू कर दें, आपको पहले ही बता दूं कि आपको सावधान करने की ये तीसरी और आखिरी कड़ी है...दवाओं की बात हो गई...इयर-बड्स की बात हो गई...आज कुछ और एहतियात...पहले बात करते हैं...सेलफोन की...यानि मोबाइल...महंगे सेल ज़रूर स्टेट्स सिंबल हो सकते हैं लेकिन हक़ीक़त ये है कि सेल आज हर एक की ज़रूरत बन गया है...



आपने कभी गौर किया कि जब आप सेल से बात करते हैं तो बाएं कान पर रखकर सुनते हैं या दाएं कान पर...अभी तक जो करते आए हैं सो ठीक...लेकिन आगे से कोशिश कीजिएगा कि सेल को बाएं कान से ही सुनें...सेल को दाएं कान से सुनने से आपका मस्तिष्क प्रभावित हो सकता है...एक बात और ध्यान रखें, जब आप सेल पर किसी दूसरे को कॉल मिलाएं, तो डॉयल करने के बाद एकदम सेल को कान से नहीं सटा लें...जब आप निश्चित हो जाएं कि दूसरी तरफ़ से किसी ने बात शुरू कर दी है, तभी सेल को कान के नज़दीक लाएं...डॉयलिंग के बाद सेल अधिकतम सिगनल पावर ( 2 watts=33dbi) का इस्तेमाल करता है...ये मैं नहीं कह रहा, अपोलो की रिसर्च टीम का निकाला हुआ निष्कर्ष है...

सेलफोन हो गया...अब बात कुछ खाने-पीने की...


अगर आपको खाने के लिए कोई कुरकुरे पेश करे तो विनम्रता से मना करने की कोशिश कीजिए...कुरकुरे में प्लास्टिक मौजूद होता है...यकीन नहीं आता तो कुरकुरे को जला कर देखिए...आपको खुद ही सच का पता चल जाएगा...ये मैं नहीं कह रहा टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट का निष्कर्ष है....

एप्पी फिज़ (Appy Fizz) पीने के शौकीन हैं तो इसे तत्काल छोड़ दीजिए...इसमें कैंसर को बढ़ावा देने वाले केमिकल एजेंट होते हैं...

कभी भी कोक या पेप्सी के पीने से पहले या बाद में मेंटोस (MENTOS) न खाएं...ये कंबीनेशन साइनाइड में बदल जाता है...और साइनाइड का मतलब आप जानते ही हैं कि जान के लिए कितना ख़तरनाक होता है...ज़्यादा से ज़्यादा अपने जानने वालों को इन बातों पर जागरूक करें...

27 टिप्‍पणियां:

  1. अब तो डर ही लगता है...क्या खाए और क्या न खाए...मिलावटी खाद्य पदार्थ पर भी हमलोगों नें इतना दिखा दिया है...की पेट के लिए काम करते हैं पर अब वो भी महफूज नहीं है.
    www.anuragbuxar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक बार फिर बहुत बहुत धन्यवाद् आपका !
    जय हिंद !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. कुछ समय पहले पता चला था की दूध और मिठाइयां भी मिलावटी मिल रही हैं. अभी कुछ दिन पहले पता चला की फल और सब्जियों में भी केमिकल हैं. अब भारत में क्या खाएं? या तो फिर अपनी सब्जियां उगायें!

    उत्तर देंहटाएं
  4. aapka kitna shukriya ada karun khushdeep ji...
    baar baar kar rahi hun..
    bas aap jab thak jaayein to bata dijiyega...
    sach mein..

    उत्तर देंहटाएं
  5. कभी कोका कोला की एक बोतल मै एक गोली (MENTOS) की डाल कर उसे कुछ पल हिलाये, जल्दी से नीचे रखे ओर फ़िर दुर भाग जाये, हां छोटे बच्चो को पहले ही दुर रखे.... फ़िर देखे नाजारा, मोबइल तो मै वेसे भी बहुत कम बरताता हुं, बाकी आप दोबारा बताया कोई भी समान ना खाते है ना पीते है, धन्यवाद इस अच्छी जानकरी के लिये

    उत्तर देंहटाएं
  6. बाबा रे बाबा ..... खाना पीना बंद करवा के ही मानेंगे आप

    उत्तर देंहटाएं
  7. इधर तो वैसे इतने कम फोन आते हैं और वो भी मोबाईल पर...कि कैसे भी पकड़ लें..खतरा नहीं है. :)

    इतना ज्यादा केयर...ऐसा भी क्या!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. समाज में जागरूकता फैलाने के लिए आपका आभार !!

    उत्तर देंहटाएं
  9. एप्पी फिज़ (Appy Fizz)हम पीते नहीं ,मेंटोस (MENTOS)भी कभी खाते नहीं

    हाँ मोबाइल पर बात करते समय जो गलतियाँ करते थे वे उन्हें सुधारने हेतु आज अभी से आपकी बात पर अमल शुरू :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. चित्र देखकर ही दिमाग का फ्यूज उड़ गया.
    अभी तक तो दाएं कान में बजाते थे अब बाएं कान में बजाएंगे...
    आज से सबको ज्ञान बघार कर गाल भी बजाएंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  11. ये प्लास्टिक वाली बात तो हमारे बच्चे भी बताते हैं । लेकिन कहते हैं मैगी नूडल्स में भी प्लास्टिक होता है ।
    मेन्टोस तो कभी देखी भी नहीं । लेकिन बड़ी काम की बात बताई है ।
    आज तो यही कहेंगे -- शाबाश ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. क्यों डरा रहे हो यार ! अभी यह श्रंखला बंद न करें, नया और बढ़िया प्रयोग है ! ठीक माउस पकड़ने पर भी लिखियेगा ...सुना है कोई भयानक रोग हो जाता है !

    उत्तर देंहटाएं
  13. कृपया ये लिंक देखे.. इन सब बातों के जबाब मिल जाएगा...

    http://www.kenneyjacob.com/2009/02/07/mythbusting-fwd-mails/

    http://www.indusladies.com/forums/forward-messages-and-jokes/59759-kurkure-plastic-baseless-rumors.html

    http://www.articlesbase.com/low-calorie-articles/kurkure-plastic-and-other-lies-959951.html

    http://snopes.com/horrors/freakish/mentos.asp

    http://qna.indiatimes.com/index.php?ref=permalinkquestion&question_id=140988

    कोका कोला और मेंटोस से साइनाइड नहीं बनाता.. बहुत सी कार्बन डाई ऑक्साइड बनाती है...

    ये देखें
    http://en.wikipedia.org/wiki/Diet_Coke_and_Mentos_eruption

    और ये वीडियो तो बहुत मजेदार है -

    http://www.youtube.com/watch?v=hKoB0MHVBvM

    इमेल में बहुत सारी बातें घुमती रहती है.. सही भी हो सकती है नहीं भी.. पर जरुरी है की खबर के source तक जाकर सच्चाई का पता लगाएं..

    मैंने टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट खोजने की कोशिश की.. नहीं मिली.. अगर आपको मिले तो उसका लिंक जरुर दें..

    उत्तर देंहटाएं
  14. achchhi jaankari...........:)

    lekin kya kya na karen.........ab itna soch samajh kar jindagi kaati to nahi ja sakti.......:(

    waise aapki baat sach hai.........:)

    उत्तर देंहटाएं
  15. अब क्या किया जाए-इस्तेमाल तो करना ही पड़ेगा।

    जय हिंद

    उत्तर देंहटाएं
  16. आदमी क्या क्या करे.....किस से बचे ,...आदमी तो चेहरा छुपाते ही हैं मशीन भी ऐसा करे तो...

    हा हां हां ...


    क्या बात है !! सुन्दर !!
    समय हो तो अवश्य पढ़ें और अपने विचार रखें:

    मदरसा, आरक्षण और आधुनिक शिक्षा
    http://hamzabaan.blogspot.com/2010/08/blog-post_05.html

    उत्तर देंहटाएं
  17. हमारे डाटाबेस पर वाइरस का ज़बरदस्त हमला हुआ है और हमारा अनुमान है कि यह किसी टिपण्णी के द्वारा वाइरस भेजने से हुआ है. इस कारण हमारे सर्वर के एंटी वाइरस ने डाटाबेस को उड़ा दिया है, हम बैकअप के द्वारा फिर से डाटा वापिस लाने की कोशिश कर रहे हैं. आपसे भी अनुरोध है की टिपण्णी को जाँच कर ही स्वीकृत करें तथा अपने ब्लॉग पर फोटो भी एंटी वाइरस से जाँच करके ही अपलोड करें. आपका अकाउंट भी इस तरह हैक अथवा समाप्त हो सकता है. कृपया सावधान रहें, आपका अकाउंट बंद करवाने के लिए टिपण्णी में कोडिंग के द्वारा आपके ब्लॉग में वाइरस भेजा सकता हैं.

    जो लोग चाहते हैं की उनकी पोस्ट तुरंत "हमारीवाणी" में प्रदर्शित हो तो वह .........

    अधिक पढने के लिए यहाँ चटका (click) लगाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  18. @रंजन भाई,
    ई-मेल में बहुत कुछ घूमता रहता है...ये सच है...लेकिन एहतियात बरतने में खराबी ही क्या है...कुरकुरे को जलाओ तो वाकई प्लास्टिक जैसा कुछ दिखता है...कंपनी की तरफ से तर्क दिया गया है कि ये स्टार्च कॉर्न की वजह से होता है...तो फिर स्टार्च ही सेहत के लिए कौन सी अच्छी चीज़ है...आपने कैडबरी की बात की...कोक-पेप्सी की बात करें तो वो भी मल्टीनेशनल कंपनी है...कौन डॉक्टर कहेगा, ये कारबोनेटेड ड्रिंक्स सेहत के लिए अच्छे हैं...हमारे देश में इनके अंदर पेस्टीसाइड्स की सीमा से कहीं ज़्यादा मात्रा होने के बावजूद कुछ नहीं हुआ...दरअसल जब इन मल्टीनेशनल कंपनियों पर उंगली उठती है तो ये करोड़ों रुपये डैमेज कट्रोल एक्सरसाइज के तहत एड की भरमार लगा देते हैं। कुरकरे, चिप्स, फास्टफूड खाते हमारे नौनिहाल फूल ज़रूर रहे हों लेकिन साथ ही कई तरह की बीमारियों को भी शरीर में पाल रहे हैं...विदेश में कई जगह स्कूलों की कैंटीन में कारबोनेटेड ड्रिंक्स नहीं बिकने दिए जाते...क्या हमारे देश में ऐसा है...दरअसल ये आर्थिक उपनिवेशवाद की नई चाल है...हमारे देश का खानपान ही बदल दिया जाए और फिर आर्थिक रूप से देश को गुलाम बना लिया जाए...पहले तो अकेली ईस्ट इंडिया कंपनी थी...लेकिन अब कई मल्टीनेशनल कंपनियों की भारत पर नज़र है....इसलिए बेहतर यही है कि हम बच्चों को जंक फूड की जगह रिच और फाइबरस डाइट लेने की आदत डालें...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत अच्छी जानकारी दी है……………शुक्रिया।

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

    उत्तर देंहटाएं
  21. हम तो हेड्फ़ोन यूज़ करते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  22. खुशदीप जी,

    आपने जो कमेन्ट में लिखा उससे मैं भी सहमत हूं.. पर जो पोस्ट में लिखा उससे नहीं.. आप सही तथ्यों के साथ संदेश दे.. आप कहे की "कारबोनेटेड ड्रिंक्स सेहत के लिए खराब है"... शत प्रतिशत सहमत पर आप जब साइनाइड की बात करते है तो कैसे सहमत हुआ जा सकता है..

    आप कहे की कुरकुरे में स्टार्च है.. ठीक लेकिन जब आप लिखते है की उसमे प्लास्टिक है कैसे सहमत हुआ जा सकता है..

    एप्पी फिज में केंसर के एजेंट है, मुझे तो कोई सन्दर्भ नहीं मिला.. आपके पास हो तो जरुर साझा कीजिये....


    आपके उद्देश्य बहुत सकारात्मक है... पर आप अपनी बात सही तथ्यों के साथ रखे तो ज्यादा प्रभावी होगी.. मुझे लगता है आपने जो कमेन्ट में लिखा उसे पोस्ट में होना था..

    जय हिंद.

    उत्तर देंहटाएं
  23. mobile phone ke bare me nahin kah sakta par baki ki baaten kori gapp hain bhaia.. sab afwaahbaazi hai

    उत्तर देंहटाएं