रविवार, 18 जुलाई 2010

कहां ले जाऊंगा मैं इतना प्यार...खुशदीप

क्या कहूं...क्या न कहूं...आप सबके प्यार ने निशब्द कर दिया है...इतनी बधाई मेरे सारे जन्मदिनों को मिलाकर नहीं मिली जितनी अकेले इस 18 जुलाई पर मिल गई...




कल रात 18 जुलाई होने में दो मिनट ही थे कि मोबाइल की रिंग हुई दूसरी तरफ़ पाबला जी की कड़क लेकिन बड़े भाई के प्यार वाली आवाज़ थी...पता नहीं कहां से पता लगा लेते हैं सब ब्लॉगर्स के जन्मदिन, सालगिरह का...ब्लॉग पर तो पोस्ट लगाते ही हैं, फोन पर बधाई देना भी नही भूलते...सच में पाबला जी इस गाने को पूरी तरह चरित्रार्थ कर रहे हैं- अपने लिए जिए तो क्या जिए, तू जी ए दिल ज़माने के लिए...यहां ये बता चलूं कि पाबला जी अभी महाराष्ट्र के टूर पर थे...लेकिन इस टूर के आखिरी चरण में एक बड़े हादसे में बाल-बाल बचे...पाबला जी की वैन इस हादसे में पूरी तरह जल कर राख हो गई...शुक्र है ऊपर वाले का पाबला जी और परिवार के किसी सदस्य को कोई गंभीर चोट नहीं आई...लेकिन इस हादसे के बावजूद पाबला जी की ज़िंदादिली पर कोई असर नहीं पड़ा...इसका सबूत है कल पूरी गर्मजोशी से मुझे जन्मदिन की बधाई देना...


पाबला जी की पोस्ट पर गुरुदेव समीर लाल जी की बधाई सबसे पहले आई...सब ब्लॉगर्स के लिए खुशखबरी है कि दिसंबर में समीर जी का भारत आना फिक्स हो गया है...समीर जी ने ई-मेल भेज कर इस बात की पुष्टि की है...

उसके बाद फोन, एसएमएस, ई-मेल और कमेंट के ज़रिेए बधाई आने का सिलसिला जो शुरू हुआ, अभी तक बदस्तूर जारी है...पाबला जी के फोन के कुछ ही सेंकड बाद पैम्पर्ड बॉय महफूज़ का लखनऊ से फोन आया...मुझे ताज़्जुब हुआ, क्योंकि तब तक पाबला जी की पोस्ट ब्लॉग पर नहीं आई थी...मैंने महफूज़ से पूछा कि कहां से पता चल गया...जवाब मिला बड़े भाई का बर्थडे मुझे मालूम नहीं होगा तो किसे मालूम होगा...जिस वक्त महफूज़ फोन कर रहा था, उस वक्त भी फोन पर दूसरी कॉल आ रही थीं...मैंने महफूज़ से अगले दिन बात का वादा कर विदा ली...फिर ललित शर्मा जी, शिवम मिश्रा, अजय कुमार झा, दीपक मशाल, राजीव तनेजा भाई,  अदा जी, डॉ टी एस दराल का एसएमएस (बाद में सेल देखा, उनकी मिस कॉल भी आई हुई थी), शाहनवाज़ सिद्दीकी, इरफ़ान भाई (कार्टूनिस्ट), बोले तो बिंदास रोहित, अरुण भंडारी, अतुल सिन्हा जी, रोहित सरदाना ने मोबाइल के ज़रिए शुभकामनाएं भेजी...प्रवीण त्रिवेदी ने मेल और अविनाश वाचस्पति जी ने चैट के ज़रिए बधाई की चाट खिलाई...

अब बात पाबला जी की पोस्ट की...समीर जी के बाद क्रम के हिसाब से एम वर्मा जी, मो सम कौन, रतन सिंह शेखावत जी, अलबेला खत्री जी, गिरिजेश राव जी, अजित गुप्ता जी, तारकेश्वर गिरी जी, संगीता पुरी जी, ललित शर्मा भाई, महेंद्र मिश्र जी, प्रकाश गोविंद जी, शिवम मिश्रा, संगीता स्वरूप जी, भाई गिरीश बिल्लौरे, वंदना जी, सोनल रस्तोगी, शिखा वार्ष्णेय, अदा जी, राज भाटिया जी, गगन शर्मा जी, ऑनेस्टी प्रोजेक्ट डेमोक्रेसी वाले जय कुमार झा जी, अजय कुमार झा, अरविंद मिश्रा जी, डॉ रुपचंद्र शास्त्री जी मयंक और भाई धीरू सिंह (बाद में उनकी मिसकॉल भी देखी) की शुभकामनाओं के फूलों का गुलदस्ता मिला...

मेरी अपनी पोस्ट पर भी बोले तो बिंदास रोहित, राज भाटिया जी, समीर जी, डॉ टी एस दराल (कमेंट करने तक डॉ साहब पसोपेश में थे कि आखिर जन्मदिन किसका है), ललित शर्मा भाई, संगीता पुरी जी, सुरेश चिपलूनकर जी, शिवम मिश्रा, अर्चना जी, अमरेंद्र नाथ त्रिपाठी, अरगनिकभाग्योदय, तारकेश्वर गिरी जी, वंदना जी, राजभाषा हिंदी, दीपक मशाल, धीरू भाई और सतीश सक्सेना भाई जी ने स्नेह की खुशबू के गुलाब भेजे...

हां, एक बात और बता चलूं, शाम को अदा जी का फोन आया तो उनसे मैंने अपना बर्थडे का गिफ्ट मांग लिया...वो गिफ्ट था कि अदा जी अपनी पोस्ट पर कमेंट बॉक्स को जल्दी दोबारा शुरू करें...

इसके अलावा भी मैं जानता हूं कि डॉ अमर कुमार जी, दिनेशराय द्विवेदी सर, ताऊ रामपुरिया जी, अनिल पुसदकर भाई, निर्मला कपिला जी, जी के अवधिया जी, अनूप शुक्ल जी, रवींद्र प्रभात जी, शरद कोकास जी, अजित वडनेरकर जी, योगेंद्र मुदगल जी, वाणी गीत जी, कनिष्क कश्यप, पारुल, हरकीरत हीर जी, रश्मि रवीजा बहन, शोभना, सागर, फौजिया, ज़ाकिर अली रजनीश भाई, शेफ़ाली बहना, कविता वाचक्नवी जी, प्रवीण शाह भाई, राजकुमार सोनी, सूर्यकांत गुप्ता, राजकुमार ग्वालानी भाई, एच पी शर्मा जी, सुमन जी, कड़वा सच वाले उदय जी, पंडित वत्स जी. देव बाबा, मिथिलेश दुबे, राम त्यागी और भी सब मेरे सम्मानित बड़ों और छोटे अज़ीज़ों का आशीर्वाद और प्यार मेरे साथ है...किसी वजह से वो ये पोस्ट नहीं देख पाए होंगे लेकिन उनके दिल की बात मेरे तक पहुंच गई है... आज स्लॉग ओवर में आपको मक्खन का नहीं अपने खुद का बचपन का मज़ेदार किस्सा सुनाता हूं...


स्लॉग ओवर

तब मैं हूंगा कोई सात-आठ साल का...मेरठ के बेगम ब्रिज की न्यू मॉर्केट कॉलोनी में हमारा घर था...दिमाग बचपन से ही खुराफाती था...इसलिए फर्स्ट अप्रैल को मेरी सोच के घोड़े दौड़ने लगे...कॉलोनी में जिस घर में भी कोई बच्चा था या बच्चे थे, सभी के घर गया और भोली सी सूरत बना कर सारी ऑन्टी जी से कह आया मेरा बर्थडे है, इसलिए सब बच्चों को भेज दीजिएगा...इतनी सावधानी बरती कि अपनी मम्मी को अपने इस कारनामे की हवा तक नहीं लगने दी...अब फर्स्ट अप्रैल आ गई तो अपनी हवा शंट होने लगी...एक दोस्त बड़ा करू था...वो सुबह ही देखने आ गया कि बर्थडे की क्या तैयारी हो रही है...मैंने उसे टरकाया कि खाने-पीने का सामान शाम को सब रेस्तरां से बना-बनाया आएगा...अब वो टाइम भी आ गया, शाम पांच बजे...बच्चे एक एक कर गिफ्ट लेकर घर पर आने लगे...ये देखकर मैं खुद तो छत पर जाकर छुप गया...अब वो सारे बच्चे कहें कि आज खोशी (मेरा निक नेम) का बर्थडे है...मम्मी कहें, ये 18 जुलाई इतनी जल्दी कैसे आ गई...उन्होंने कहा कि नहीं आंटी वो हम सब को खुद घर पर कह कर आया है...तब तक कुछ बच्चे अपनी मम्मियों को भी बुला लाए थे...किसी तरह मुझे छत से ढूंढ कर निकाला गया...अब वो सारे मुझे गिफ्ट देने पर आमादा...मम्मी ने मना किया कि जब बर्थडे ही नहीं तो गिफ्ट कैसी...फिर मम्मी को वाकई सारा सामान रेडीमेड बाज़ार से मंगाना पड़ा...गिफ्ट तो एक नहीं लिया सब बच्चों को मम्मी को पार्टी और करानी पड़ गई...उसके बाद सब बच्चों ने हैप्पी बर्थडे कहने की जगह मेरे घर के बाहर खड़े होकर एक सुर में गाया- अप्रैल फूल बनाया, तुमको गुस्सा आया, हमारा क्या कसूर, ज़माने का कसूर...वो झूठ का जन्मदिन आज भी मुझे साफ़-साफ़ याद है...

39 टिप्‍पणियां:

  1. जन्मदिन पर अनन्त शुभकामनाएं, खुशदीप जी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. ह्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म तो इसीलिए -----जन्मदिन त्यौहार की तरह मना रहे हैं .......प्यार कही ले के मत जाओ बस बाँटते चलो......

    उत्तर देंहटाएं
  3. सच भैया वे सबके अपने से हैं,,,,, ?
    पाबला जी की वज़ह से हम किसी को भूल नही पाते खास तौर पर जन्म दिन और वर्षगांठ पर तो बिलकुल नहीं.
    आपको पुन: जन्म दिन की हार्दिक शुभ कामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपको पुन: जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं|

    मक्खन या गुल्ली से कुछ कम तो नहीं थे / है आप !!

    उत्तर देंहटाएं
  5. खुशदीप जी जन्म दिन की हार्दिक शुभ कामनाएं !!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. तो आज शाम केक मिल रहा है या नहीं। पता नहीं चला अब तक।

    उत्तर देंहटाएं
  7. एक बार फिर से जन्‍मदिन की बधाई !!

    उत्तर देंहटाएं
  8. जन्मदिन की बधाई ....देर से ही स्वीकार कीजिये ....!

    उत्तर देंहटाएं
  9. हा हा हा
    अब साल में दो जन्मदिन मनाए जाएंगे।
    गिफ़्ट सीधे मेल से ही भिजवाए जाएगें।

    बहुत बहुत शुभकामनाएं
    जलजीरा वाली कुल्फ़ी पिघल रही है
    जल्दी चले आओ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. हैप्पी बड्डे खुशदीप जी...
    आपको और आपकी प्यारी विम्मी जी को भी..आखिर अर्धांगिनी हैं वो....इस दिन पर आधा हक उनका भी है...
    कल उनसे बात करके मुझे बहुत ही ज्यादा ख़ुशी हुई...
    जहाँ तक आपके गिफ्ट का सवाल है ....(ज़बरदस्ती की गिफ्ट :):) )
    थोडा समय तो दीजिये....
    आशा है आप बुरा नहीं मानेगे....
    एक बार फिर आपको जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनायें....

    उत्तर देंहटाएं
  11. तो अब १ अप्रेल को भी हेप्पी बर्थ डे कहा करेंगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. एक बार फिर जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  13. भाई हम तो पहले से ही वन्‍स मोर, वन्‍स मोर कहे जा रहे हैं। खुशदीप भाई सच में यह ब्‍लाग-जगत एक परिवार बन गया है, बस अब यह परिवार ही बना रहे। हम लडे, झगड़े फिर भी एक ही बने रहें। पाबलाजी निश्चित रूप से बहुत अच्‍छा काम कर रहे हैं, उनके लिए सभी के मन में अपार सम्‍मान है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. खुशदीप जी , कल सुबह पोस्ट पढने के बाद मुझे एक कॉन्फेरेन्स में जाना था । पाबला जी का एस एम् एस वहीँ पर मिला । तब पता चला कि जन्मदिन आपका था ।
    तो ज़नाब , बचपन से ही खुरापाती रहे ।
    बढ़िया संस्मरण , जन्मदिन का ।

    उत्तर देंहटाएं
  15. .
    .
    .
    आदरणीय खुशदीप जी,

    क्षमा करेंगे थोड़ी देर से दे रहा हूँ...

    'जन्मदिन की लख-लख बधाइयां!'

    आभार!


    ...

    उत्तर देंहटाएं
  16. @प्रवीण शाह भाई,
    न जाने कौनसी पिनक में था जो पोस्ट में आपका ज़िक्र करना भूल गया...गलती सुधार ली है...जब दिल मिले होते हैं तो बिना कहे भी बात पहुंच जाती है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  17. हमारा स्नेह और आशीर्वाद तो हमेशा आपके साथ है खुशदीप जी। क्या करें, बहुत ही आलसी आदमी हैं हम, खासकर टिप्पणियाँ, बधाई आदि देने के मामले में।

    कृपया हमारी बासी बधाई भी स्वीकार करें।

    जैसे राजश्री प्रोडक्शन के फिल्म "हनीमून" में उत्पलदत्त और श्यामा ने "लेट हनीमून" मनाया था, वैसे ही हमारी इस बधाई को "लेट बधाई" समझ लें।

    उत्तर देंहटाएं
  18. खुशदीप जी,
    जन्मदिन पर लाख लाख बधाई और ढेरों असीम शुभकामनाये....दीघार्यु हों ...
    महेंद्र मिश्र
    जबलपुर.

    उत्तर देंहटाएं
  19. हमारी तरफ़ से भी शुभकामनायें। मंगलकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  20. एक बार फिर से जन्‍मदिन की बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  21. खुशदीप भाई
    कल हाथियों पर हाहाकार नामक पोस्ट लिखने के बाद मैं एक ऐसे जरूरी काम में फंसा कि आपको बधाई देना ही भूल गया.
    आपसे उम्र में छोटा ही हूं.. इस गलती के लिए माफी चाहता हूं
    आपको ढेर सारी शुभकामनाएं
    जाने वाली 18 तारीख के लिए भी और आने वाली 18 तारीख के लिए भी.
    आप हमेशा मस्त रहे और जबरदस्त रहे.

    उत्तर देंहटाएं
  22. खुशदीप भाई आपका भी जवाब नहीं ...,आप जिन्दा दिल इंसान की पहचान हैं ..

    उत्तर देंहटाएं
  23. खुशदीप भाई आपका भी जवाब नहीं ...,आप जिन्दा दिल इंसान की पहचान हैं ..आपने पूरे ब्लॉग परिवार को अपना मुरीद बना लिया है साथ ही अपने इस पोस्ट लेखन से एक सार्थक सन्देश देने की कोशिस भी की है की अलग-अलग हमारे विचार और कार्य क्यों नहीं हो लेकिन हम-सब एक दुसरे के ख़ुशी और गम में एकजुट हैं | इस काम में पावला जी का योगदान व कार्य भी हमेशा यादगार रहेगा | पावला जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना है |

    उत्तर देंहटाएं
  24. sharminda hun.deree ke liye....fir bhi zaroor kahungee.....happpppy birthday to yuuuuu....

    उत्तर देंहटाएं
  25. खुशदीप जी.....बस यूँ ही प्यार बांटते रहिये...अपने आप दुगना हो कर मिलता रहेगा....जन्मदिन की एक बार और बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  26. हिंदी ब्लॉग लेखकों के लिए खुशखबरी -


    "हमारीवाणी.कॉम" का घूँघट उठ चूका है और इसके साथ ही अस्थाई feed cluster संकलक को बंद कर दिया गया है. "हमारीवाणी.कॉम" पर कुछ तकनीकी कार्य अभी भी चल रहे हैं, इसलिए अभी इसके पूरे फीचर्स उपलब्ध नहीं है, आशा है यह भी जल्द पूरे कर लिए जाएँगे.

    पिछले 10-12 दिनों से जिन लोगो की ID बनाई गई थी वह अपनी प्रोफाइल में लोगिन कर के संशोधन कर सकते हैं. कुछ प्रोफाइल के फोटो हमारीवाणी टीम ने अपलोड किये हैं अगर उनमें कुछ त्रुटी हो तो उपयोगकर्ता उनमें संशोधन कर सकता है.

    अपनी ID बनाने की बाद अपना ब्लॉग हमें सुझाना ना भूलें.

    आपके जितने भी सुझाव आएं हैं उनपर ध्यान दिया जा रहा है, उम्मीद है आप इसी तरह से अपने बहुमूल्य सुझाव हमें भेजते रहेंगे. किसी भी तरह की असुविधा के लिए हमारी पूरी टीम क्षमा की प्रार्थी है.



    अगर आपने अभी तक अपना ब्लॉग हमारीवाणी.कॉम को नहीं सुझाया है तो झट से अपनी ID बनाइये और अपने ब्लॉग का URL हमें भेज दीजिये.


    धन्यवाद!

    हमारीवाणी.कॉम

    उत्तर देंहटाएं
  27. खुशी का यह दीप, खुशदीप! यूं ही रोशनी देता रहे..इसी कामना के साथ हमारी शुभकामनायें भी स्वीकारें.

    चैतन्य आलोक और सलिल वर्मा !!

    उत्तर देंहटाएं
  28. जन्मदिन की अनेकों शुभकामनाएं खुशदीप भाई...सचमुच बहुत अफ़सोस हुआ कि मेरा नाम पहली लिस्ट में ना होकर दूसरी लिस्ट में था. कल इतवार का दिन होने से यह गलती हो गयी और पता ही नहीं चल पाया.
    एक बार फिर आपको बहुत बहुत मुबारक हो जन्मदिन , दुनिया की सारी खुशियाँ मिलें और कामयाबी आपके कदम चूमें.

    उत्तर देंहटाएं
  29. भैया जी... आपकी बात ही अलग है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  30. चलो इस एक अप्रेल को फिर से मना लेते है .. हम आ रहे है गिफ्ट लेकर ।

    उत्तर देंहटाएं
  31. जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं खुशदीप जी |

    उत्तर देंहटाएं
  32. शीर्षक देखकर इसलिए पोस्‍ट नहीं खोली थी क्‍योंकि बधाई लिखचीत बॉक्‍स पर होली/दिवाली थी, हो ... ली थी। अभी पाबला जी के बारे में समाचार की जानकारी अरविन्‍द मिश्रा जी के ब्‍लॉग शीर्षक और पोस्‍ट से मिली तो तुरंत पाबला जी से बात की और देशनामा की पोस्‍ट तलाशी तो पाया कि बाखबर करने वाली खबर यहां मौजूद थी। खैर ... पाबला जी खैरियत से हैं। फर्स्‍ट अप्रैल को फिर से खोशी का जन्‍मदिन मनाना चाहेंगे यदि वे चाहें। क्‍योंकि गिफ्ट ले जायेंगे तब भी देना नहीं पड़ेगा न, हां ....। और प्‍यार को कहीं ले जाने की जरूरत नहीं होती वो तो दिल में बस जाता है खुशदीप भाई।

    उत्तर देंहटाएं
  33. खुशदीप जी, आप चिरायु हों, शतायु हों। सपरिवार सदा सानन्द रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  34. खुशदीप भाई! पिछले दो दिनों से इतनी व्यस्तता रही कि आप के जन्मदिन का भी कल पता लगा। देर से ही सही बहुत बहुत बधाइयाँ।

    उत्तर देंहटाएं
  35. एक बेहद उम्दा पोस्ट के लिए बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
    आपकी चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है यहां भी आएं

    उत्तर देंहटाएं
  36. आकस्मिक दुर्घटना से उपजे अवसाद के क्षणों में आप सभी की मंगलकामनायों से मुझे बेहद संबल मिला है,
    आपकी शुभेच्छायों हेतु पाबला परिवार कृतज्ञ है.

    स्नेह बनाए रखिएगा

    उत्तर देंहटाएं
  37. पाबला जी..!!
    आपसे नया नया ही परिचय हुआ है पर जिस तरह के आप हैं तो आपसे रिश्ता सीधे ही अपनेपन की गली से गुजरने लगता है.. चौंकाने जैसा घटनाक्रम हुआ आपके साथ.. वैसे बड़ी बात कहना फ़िज़ूल होगा, बस अपनी समस्या में ह्रदय से मुझे अपना समझिएगा.. अतिशीघ्र ठीक होकर फिर से हम में पहले ही की तरह से मिल जाएँ आप.. साथ ही ख़ुशी भ है की कोई बड़ा हादसा नहीं हो पाया.. बेटी सही सलामत है इसकी भी अत्यंत ख़ुशी है.. !!..शुभकामनायें..!! .....जोगी.....

    उत्तर देंहटाएं