शनिवार, 10 जुलाई 2010

आज मक्खन की ओवरडोज़...खुशदीप

बड़े दिनों से मक्खन छुट्टी पर था...सोचा आज की पोस्ट मक्खन को ही समर्पित कर दूं...दरअसल सीरियस टॉपिक्स पर बड़े दिन से लिखता आ रहा था...आज कोई मुद्दे की बात नहीं...आज सिर्फ जीनियस मक्खन का जीनियस टेलेंट...वैसे भी आप की किसी बात से किसी चेहरे पर मुस्कान आती है तो आपाधापी की इस गलाकाट दुनिया में इससे सार्थक और कोई बात नहीं हो सकती...चलिए मैं हटता हूं आपके और मक्खन के बीच से...





मक्खन द गैंगलीडर

मक्खन और ढक्कन ने अपने जैसी ही आईक्यू वाले लोगों के साथ गैंग बनाया...

पहले दिन ही उन्होंने बैंक लूटने का प्लान बनाया...

बैंक में उन्हें कैश तो नहीं मिला लेकिन रेड वाइन की चिल्ड बॉटल्स मिली...पूरी रात वो मज़े से बॉटल्स उड़ाते रहे...

अगले दिन अखबारों में हेडलाइंस थी...

....


....



ब्लड बैंक लुट गया...

--------------------------------------------

मक्खन की ए, बी, सी

मक्खन ने बेटे गुल्ली से पूछा...ए, बी, सी आती है...

गुल्ली... हां, मुझे 9 तक आती है...

मक्खन...खोते दे पुतर...9 ए, बी, सी में नहीं क, ख, ग में आता है...

---------------------------------

मक्खन को कोई तो बताए


मक्खन... यार इसका मतलब क्या होता है, आई एम गोइंग...

ढक्कन... मैं जा रहा हूं...

मक्खन.... साले ऐसे कैसे जाने दूंगा तुझे...तेरे से पहले भी बीस यही बात कह कर फूट चुके हैं...पहले जवाब बता,फिर जाने की सोचियो...

---------------------------------------------

मक्खन की शूटिंग


जज...तुमने अपनी पत्नी को शूट क्यों किया...उसके प्रेमी को क्यों शूट नहीं किया...

मक्खन...जज साहब, एक औरत को एक बार शूट करना आसान है...बजाए इसके कि हर हफ्ते एक नए आदमी को शूट किया जाए...

----------------------------

मक्खन का सवाल

मक्खन के बारह बच्चों में बस एक ही बाकी से अलग दिखता था...

जब मक्खन की बीवी मरने वाली थी, मक्खन ने पूछा...भागवान हमेशा के लिेए जा रही है, अब तो सच बता दे कि ये खोते (गधे) की शक्ल वाला बच्चा किसका है...

मक्खनी... सची दसां, बस एइयो कल्ला ई त्वाडा वे....(सच बताऊं, बस ये अकेला ही आपका है)

16 टिप्‍पणियां:

  1. मक्खन...जज एक औरत को एक बार शूट करना आसान है...बजाए इसके कि हर हफ्ते एक नए आदमी को शूट किया जाए...
    वल्ले वल्ले जी ऎ किती ना कम दी गल :)

    उत्तर देंहटाएं

  2. मक्खन का एक रैपर उड़ कर यहाँ तक आ पहुँचा । ले वापस रख ले !
    ढक्कन का तोता लल्लन रोज जब मक्खन को जाते हुये देखता तो पूछता, " और सुनाओ, खोत्या मक्खणे की हाल णे ? " मक्खन ने हार कर ढक्कन से शिकायत की । ढक्कन ने अपने लल्लन तोते को बड़ा हड़काया और उससे सॉरी बुलवाई ।
    अगले दिन मक्खन जब लल्लन तोते के सामने से गुज़रा तो उसने आज कुछ न कहा ।
    कुछ आगे जाकर मक्खन ने मुड़ कर हैरत से तोते को देखा ।
    तोता हँस पड़ा.." टी टि टी, ऒये जा कोई बात नहीं, तू तो खुद ही समझ गया है ।"

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा हा!! आखिरी वाला जबरदस्त!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब !! मक्खन का जवाब नहीं

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत खूब ...............क्या कहने आपके और आपके मक्खन के !!
    जय हिंद !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. मक्खन की तो बात ही निराली है और उससे भी निराला है आपका प्रस्तुतीकरण!

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा हा हा ! सब के सब , एक से बढ़कर एक ।
    ब्लड बैंक लुट गया ---इसे पढ़कर मुझे याद आया एक बार एक लड़के ने खांसी के शरबत को तेल समझ कर बालों में लगा लिया । सोचिये उसके बात क्या हुआ होगा !

    उत्तर देंहटाएं
  8. बल्ले बल्ले .....मक्खन ने तां बैजा बैजा कर दित्ती जी ....एइयो कल्ला ई त्वाडा वे......बहुत खूब......!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. हे भगवान् ..मक्खन नरभक्षी भी है ...
    पहले क्यों नहीं बताया ..!

    उत्तर देंहटाएं