शनिवार, 17 जुलाई 2010

मनी फोल्डर का कूड़े के ट्रक में आशियाना...खुशदीप

कल जहां पोस्ट छोड़ी थी, आज वहीं से शुरू करता हूं...कल की पोस्ट में जापान की पेपर फोल्डि़ंग कला ओरिगेमी का ज़िक्र किया था... साथ ही वादा किया था कि मनी फोल्डर के नाम से मशहूर वोन पार्क का आशियाना दिखाने का..

आशियाना जो कूड़े को ठिकाने लगाने के काम आने वाले ट्रक में बना हुआ है...




अब इस ट्रक के अंदर वोन पार्क जैसा क्रिएटिव आदमी कैसे रहता होगा, ये जानने को आप उत्सुक होंगे...वो भी दिखाता हूं, थोड़ा सब्र कीजिए...पहले वोन पार्क की उस कला की छोटी सी झलक फिर देख लीजिए जिसमें उन्होंने एक डॉलर के नोट को फोल्ड कर कर के मास्टरी हासिल कर रखी है...कल अर्चना जी ने सवाल उठाया था कि मैंने फोल्ड कर बनाए गए ऑब्जेक्टस का नाम क्यों लिखा तो आज वो भूल नहीं दोहरा रहा...आज अर्चना जी के साथ आप सब भी मशक्कत कीजिए...वोन पार्क जनाब ने आखिर बना क्या क्या रखा है...














चलिए अब वोन पार्क जनाब के ट्रक मे बने आशियाने के दीदार भी कर लीजिए....

































स्लॉग ओवर

चार साल के गुल्ली को किसी शरारत पर उसकी मां मक्खनी ने जमकर कूटा...

गुल्ली मुंह फुला कर पिता मक्खन के पास जाकर बोला...

डैडी जी, डैडी जी, बस बहुत हो गया...

अब मैं आपकी वाइफ़ के साथ और ए़डजस्ट नहीं कर सकता...


मुझे आज ही मेरी पर्सनल वाइफ़ चाहिए...

17 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढिया औरेगामी भी और स्ल़ग ओवर भी ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आशियाना तो मस्त है और गुल्ली तो मख्खन का भी बाप निकला. :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे बढ़िया ..आप ये खजाना कहाँ से निकाल कर लाये ?

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. भूल सुधारने का शुक्रिया.......बस एक गीत याद आ रहा है ---
    ये तेरा घर,ये मेरा घर,
    किसी को देखना हो गर,
    तो पहले आके मांग लें,
    तेरी नजर ,मेरी नजर ,
    ये घर बहुत हसीन है ..........

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस पोस्ट में डॉलर से बनी आकृतियां मकड़ी, बिच्छू, चमगादड़ और शार्क की हैं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  7. अमेरिका में ऐसी गाडियां आम है। लेकिन मक्‍खन परिवार को बता दें कि अब बच्‍चों को मारने पर जेल की सजा हो सकती है। सावधान रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  8. मेरा पुत्तर भी गुल्ली से कम नहीं है।

    कल ही कह रहा था

    "बापु ब्याह करवा दे,मेरा होता नहीं गुजारा"

    अब उसके ब्याह के लिए चिंतित हूँ

    कोई छोरी हो तो बताना।

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस आशियाने के लिए एक ही शब्द है मेरे पास, वो है "कल्पनातीत"।

    उत्तर देंहटाएं
  10. अब तो लानी ही पडेगी पर्सनल वाइफ़्………………हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  11. य़े घर मिल जाए तो सरकार पार्किंग का टैक्स लगा देगी। क्योंकी सरकारी बाबू के पास नहीं होगी.

    उत्तर देंहटाएं
  12. हमारे यहाँ के नेताओ की चुनव प्रचार के समय की वैन नही देखी ?

    उत्तर देंहटाएं