शनिवार, 5 जून 2010

क्रोध अनलिमिटेड...खुशदीप

एक शख्स अपनी नई कार को पॉलिश से चमका रहा था...तभी उसके चार साल के बेटे ने एक नुकीला पत्थर उठा कर कार पर कुछ उकेर दिया...शख्स ने नई कार का ये हाल देखा तो क्रोध से पागल हो गया...उसने गुस्से के दौरे में ही बच्चे के हाथों पर कई बार मारा...वो ये भी भूल गया जब वो ऐसा कर रहा था उसके हाथों में रैंच था...

अस्पताल में बच्चा भर्ती किया गया...मल्टीपल फ्रैक्चर की वजह से वो अपनी सारी उंगलियां खो चुका था...जब बच्चे ने पिता को देखा तो उसकी आंखों से झलक रहा दर्द  सहन करना मुश्किल था...मानो वो आंखे कह रही हों...डैड मेरी ये उंगलियां वापस कब आएंगी...

बुरी तरह टूट चुका वो शख्स कार के पास गया और उस पर कई बार लातों से प्रहार किया...थक कर वो वहीं कार के पास बैठ गया...अचानक उसकी नज़र कार पर उस जगह पड़ी जहां बच्चे ने नुकीले पत्थर से कुछ उकेरा था...वहां लिखा था...

...

...

...


'I LOVE YOU DAD'...





स्लॉग चिंतन

गुस्से और प्यार की कोई सीमा नहीं होती...


सुंदर और खुशहाल ज़िंदगी जीनी है तो हमेशा प्यार को मौका दीजिए...


हमेशा याद रखिए...


चीजें इस्तेमाल के लिए होती हैं और लोग प्यार करने के लिए...


आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं और चीजों से प्यार किया जाता है...





35 टिप्‍पणियां:

  1. औल दैट वॉट वी नीड इस लव....

    जय हिंद....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिलकुल सही लिखा एक विचारणिया लेख. धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदमी जोश मे होश खो बैठता है और होश आने पर जोश उड़ जाता है। परिणाम, पाश्चाताप के सिवा क्या? बहुत मार्मिक!

    उत्तर देंहटाएं
  4. I LOVE YOU DAD पढ़ते ही सीधे दिल पर चोट करती है यह पोस्ट.
    ..एक अच्छा दर्शन.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं और चीजों से प्यार किया जाता है...
    यही तो विडंबना है !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. यही तो फ़र्क है, बडे और छोटे में....

    उत्तर देंहटाएं
  7. क्या यार खुशदीप भाई ..............रुला दिया आज तो !

    उत्तर देंहटाएं
  8. आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं ...
    kitni sacchi bat kah di aapne...
    bahut khoob..

    उत्तर देंहटाएं

  9. भई, तुम भी एक चीज हो..
    मेरी टिप्पणी दर्ज़ कर लो ।
    प्यार मॅनी-ऑर्डर कर दूँगा !

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत गहरी बात कह दी आपने! शायद इसीलिये कहते हैं कि क्रोध अंधा होता है! लेकिन इसका अंत सिर्फ और सिर्फ पछतावा ही होता है! पढते हुए आंखे छलक गईं! क्योंकि ऎसे लोग भी देखे हैं जो अपने फूल से बच्चों को ज़रा सी गलती पर बेदर्दी से पीटते हैं! जाने लोग फूल से मासूम बच्चों पर हाथ कैसे उठाते हैं?
    आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं और चीजों से प्यार किया जाता है...

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत दिल को छू लेने वाली कथा..बढ़िया खुशदीप!

    उत्तर देंहटाएं
  12. जोश और होश का तार्किक और मार्मिक प्रस्‍तुतिकरण।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुन्दर बात और सन्देश देती पोस्ट
    क्रोध बवंडर सा होता जब आता है बहुत कुछ ले जाता है

    उत्तर देंहटाएं
  14. आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं और चीजों से प्यार किया जाता है...

    आज की दुनिया का कटु शाश्वत वास्तविक सत्य ...

    सुंदर और खुशहाल ज़िंदगी जीनी है तो हमेशा प्यार को मौका दीजिए..
    उम्दा खयाल

    उत्तर देंहटाएं
  15. आज की दुनिया का कटु शाश्वत वास्तविक सत्य ..

    उत्तर देंहटाएं
  16. विवेक की जरूरत शायद यहीं पर होती है...

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत सी सार्थक और सुन्दर प्रस्तुती ,इसलिए ही कहते हैं की क्रोध जब आये तो कम से कम सौ बार सोचकर कुछ करना चाहिए |

    उत्तर देंहटाएं
  18. i love u dad vaaqyi khbsurt dil ko jhkjhor dene vaali prstuti he. akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  19. "आज की दुनिया की दिक्कत यही है कि अब लोग इस्तेमाल किए जाते हैं और चीजों से प्यार किया जाता है"

    कटु सत्य

    उत्तर देंहटाएं
  20. बैटर्ड चाइल्ड सिंड्रोम --विदेशों में बहुत देखा जाता है । यह टूटते परिवारों की निशानी होती है ।
    सार्थक लेखन ।

    उत्तर देंहटाएं
  21. आज के दिन अब तक पढ़ी गई सबसे बढ़िया और सार्थक पोस्ट !
    आनन्द आ गया

    उत्तर देंहटाएं
  22. क्रोध पर नियन्त्रण ना रख पाने से बाद में पछताना ही पड़ता है।

    उत्तर देंहटाएं
  23. बिलकुल सटीक...मन को छू गयी आपकी बात

    उत्तर देंहटाएं
  24. दिल को छू लेने वाली शानदार पोस्ट !

    उत्तर देंहटाएं
  25. उफ़ …………………बेहद मार्मिक्………………कल के चर्चा मंच पर आपकी पोस्ट होगी।

    उत्तर देंहटाएं
  26. sahi kaha..
    aur post to bht achha tha..emotional n seekh dene wala :)

    उत्तर देंहटाएं
  27. प्रेम ही सत्य है.......दिल प्यार से लबालब भरा हो तो गुस्से के लिए जगह ही नही रहती... मासूम बच्चे के दर्द ने रुला दिया.. बहुत प्यारा और खूबसूरत सन्देश दिया आपने इस पोस्ट के माध्यम से ..आभार ..

    उत्तर देंहटाएं
  28. स्लॉग चिंतन बहुत अच्छा लगा

    उत्तर देंहटाएं
  29. बेहद दर्दनाक खुशदीप भाई !
    गुस्से में यह भी हो सकता है ?

    उत्तर देंहटाएं
  30. बात तो लाख टके की है।

    वैसे दादा हमने तो प्यार करने के लिए बहुत मौका दिया है। आप समझ सकते हैं। पर सहज मिला प्यार लोगो की समझ में बकवास होता है।

    उत्तर देंहटाएं
  31. दिल में उतार गयी आपकी बात सीधे से ..

    उत्तर देंहटाएं
  32. चर्चामंच के माध्‍यम से इस पोस्‍ट पर आयी हूँ, पता नहीं कैसे मिस हो गयी। वास्‍तव में यदि मिस हो जाती तो बहुत अच्‍छा सा कुछ मिस हो जाता। दिल में समाने वाली पोस्‍ट।

    उत्तर देंहटाएं