शनिवार, 22 मई 2010

मेरे लाल से तो सारा जग झिलमिलाए...खुशदीप

एक यात्री उड़ान भरने के लिए बोइंग 747 में अपनी सीट पर जाकर बैठ गया...उसके साथ वाली सीट एक युवती की थी...युवती की गोद में नवजात शिशु भी था...युवती अपने शिशु पर बड़ा लाड बरसा रही थी...युवती ने सहयात्री को अपना शिशु दिखाते हुए पूछा...है न बहुत सुंदर...


यात्री कोई राजा हरिश्चंद्र का वंशज था...झूठ बोल नहीं सकता था...उसने कहा, माफ़ करना मैडम...मैं झूठ नहीं बोलता...मैंने इस जैसा बदसूरत बच्चा पहले कभी नहीं देखा...

युवती ने हैरत का भाव जताते हुए कहा...एक्सक्यूज़ मी...आपने क्या कहा...

यात्री ने जवाब दिया...मैं आपका दिल नहीं दुखाना चाहता था, लेकिन जो सच है वो सच है...वाकई इस बच्चे को थोड़ी देर तक देखना भी बर्दाश्त से बाहर है...

यह सुनना ही था कि युवती का पारा सातवें आसमान पर चढ़ गया...

युवती ने चीख चीख कर सारे प्लेन को इकट्ठा कर लिया...इस आदमी की ये मज़ाल...मेरी इन्सल्ट करे...मैं इसके साथ इस एयरलाइंस, इसके पूरे स्टॉफ पर केस दर्ज़ कर दूंगी...ऐसे यात्रियों को प्लेन पर चढ़ने ही कैसे देते हैं जिन्हें बात करने की तमीज़ न हो...

तभी युवती के पास क्रू की एक सीनियर मैंबर आई...उसने युवती को शांत करने की नीयत से कहा...मैम, प्लीज़ काम डाउन...आप ऐसा कीजिए मैं आपके लिए बिज़नेस क्लास में और भी कम्फर्टेबल सीट दे देती हूं...वहां आप गर्म काफ़ी का मज़ा लीजिए...आपको टेक लगाने के लिए पिलो भी मिल जाएगा...और हां...

...

...

...


आपके प्यारे मंकी के लिए मैं बनाना भी ला देती हूं...




निष्कर्ष...बच्चा कैसा भी हो, मां के लिए वो दुनिया में सबसे खूबसूरत ही होता है...

स्लॉग गीत


यशोदा का नंदलाला, बृज का उजाला है,
मेरे लाल से तो सारा जग झिलमिलाए...

24 टिप्‍पणियां:

  1. wah bahut acha collection hai.


    www.vibhutrivedi.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत खूब ..............क्या कहने मेडम के लाल के !!!

    मजेदार पोस्ट !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. माँ कभी बदसूरत बच्चे को जन्म नहीं देती।

    उत्तर देंहटाएं
  5. थे तो हम भी अपनी माँ के लिए..प्यारे से लाल...ठिठोना तक लगाया जाता था कि नजर न लग जाये. :)

    कभी कभी तो झूठ बोल देना चाहिये. काहे किसी का दिल दुखाना भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  6. माँ के इस लाल से जो वाकई जग झिलमिला रहा है ....
    ऐसा झूठ जिससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचे , किसी को ख़ुशी देता हो ....कभी कभार बोल देना चाहिए ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. @ समीर जी...सच में कभी-कभी झूठ भी बोल देना चाहिए...
    वैसे धिठोना नज़र तो आता होगा नई.... :)

    वैसे मेरे लिए तो मेरे लाल, पीले और नीले सबसे सुन्दर हैं...ई बात अलग है कि मेरे पिता जी कहते हैं हमसे ...कि मेरी बेटी को देखो और तुम्हारे बच्चो को देखो..कितना फर्क है ....और हम मान लेते हैं...आखिर ऊ हमरे बाप हैं..
    हाँ नहीं तो...!!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. बच्चा किसी का भी हो सुन्दर तो होता ही है .

    उत्तर देंहटाएं
  9. सच्‍चाई जिसे प्रत्‍येक इंसान को जानना चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  10. सिर्फ मां के लिए ही नहीं , सब बच्चे सभी के लिए सुन्दर होते हैं । बस बड़े होकर सब का रंग बदलने लगता है ।
    आखिर ये ज़माना भी तो रंग छोड़ता है ना ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. ये बिजनेस क्लास में बैठाने का अच्छा तरीका बताया है। :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत जोरदार. बच्चा तो खूबसूरत ही होता है.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  13. मुझे तो बंदर की तस्वीर भी बड़ी प्यारी लगी। देखिए न अपनी मां के सिर पर बैठकर जुएं निकाल रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. हर मां को अपना बच्चा दुनिया का सब से सुंदर बच्चा लगता है,

    उत्तर देंहटाएं
  15. दिल्ली के ब्लागर इंटरनेशनल मिलन समारोह में भाग लेने के लिए पहुंचने वाले सभी ब्लागर साथियों को कुमार जलजला का नमस्कार. मित्रों यह सम्मेलन हर हाल में यादगार रहे इस बात की कोशिश जरूर करिएगा। यह तभी संभव है जब आप सभी इस सम्मेलन में विनाशकारी ताकतों के खिलाफ लड़ने के लिए शपथ लें। जलजला भी आप सभी का शुभचिन्तक है और हिन्दी ब्लागिंग को तथाकथित मठाधीशों से मुक्त कराने के एकल प्रयास में जुटा हुआ है. पिछले दिनों एक प्रतियोगिता की बात मैंने सिर्फ इसलिए की थी ताकि लोगों का ध्यान दूसरी तरफ भी जा सकें. झगड़ों को खत्म करने के लिए मुझे यही जरूरी लगा. मेरे इस कृत्य से जिन्हे दुख पहुंचा हो उनसे मैं पहले ही क्षमायाचना कर चुका हूं. हां एक बात और बताना चाहता हूं कि थोड़े से खर्च में यह प्रतियोगिता के लिए आप सभी हामी भर देते तो भी आयोजन करके इस बात की खुशी होती कि चलो झगड़े खत्म हुए. मैं कल के ब्लागर सम्मेलन में हर हाल में मौजूद रहूंगा लेकिन यह मेरा दावा है कि कोई मुझे पहचान नहीं पाएगा.
    आप सभी एक दूसरे का परिचय प्राप्त कर लेंगे फिर भी मेरा परिचय प्राप्त नहीं कर पाएंगे. यह तय है कि मैं मौजूद रहूंगा.
    आप सभी को शुभकामनाएं. अग्रिम बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  16. हा हा हा.....बहुत बढ़िया !
    :)

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत प्यारा बेटा है....

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  18. @कुमार जलजला
    यार तुम्हारी हरकतों से तो उस ब्लॉगर की याद आ गई जो आईपीएल के पहले एडीशन में कोलकाता नाइटराइडर्स की अंदर की बातें ब्लॉग पर लिखता था...सब सोचते रहे वो ब्लॉगर कौन सा खिलाड़ी है, लेकिन उसकी पहचान आखिर तक नहीं खुल पाई...इसी तरह अब तुम कह रहे हो कि कल तुम ब्लॉगर्स मीट में मौजूद रहोगे...लेकिन तुम्हे कोई पहचान नहीं पाएगा...ये बात कह कर तुमने मेरे सामने एक धर्मसंकट पैदा कर दिया है...इस तरह तो ब्लॉगर्स मीट में जो जो ब्लॉगर्स भी पहुंचेंगे, उन सब पर ही शक किया जाने लगेगा कि उनमें से ही कोई एक कुमार जलजला है...मान लीजिए पच्चीस-तीस ब्लॉगर्स पहुंचते हैं...वैसे ब्लॉगवुड में इस वक्त पंद्रह से बीस हज़ार ब्ल़ॉगर्स बताए जाते हैं...यानि इन पंद्रह से बीस हज़ार से घटकर कुमार जलजला होने की शक की सुई सिर्फ पच्चीस-तीस ब्लॉगर्स पर आ जाएगी...तो क्या तुम इस तरह कल की मीटिंग में मौजूद रहने वाले दूसरे ब्लॉगर्स के साथ अन्याय नहीं करोगे...अविनाश वाचस्पति भाई से भी कहूंगा कि इस विरोधाभास को दूर किया जाए, अन्यथा पूरे ब्लॉगवुड में गलत संदेश दिया जाएगा...

    जय हिंद..

    उत्तर देंहटाएं
  19. ese bussiness class men baitha ja sakta hai kya ? to "agli baar main bhi apne puttar nu sang hi bithavangi :).

    उत्तर देंहटाएं
  20. भई बच्चा तो हमेशा प्यारा होता है आदमी का हो मंकी का या पिग का

    उत्तर देंहटाएं