गुरुवार, 20 मई 2010

ज़िंदगी की प्रार्थना...खुशदीप

प्रार्थना आपकी ज़िंदगी की गाड़ी की स्टेप्नी नहीं है कि संकट के वक्त ही बाहर निकाली जाए...ये आपकी गाड़ी का स्टेयरिंग-व्हील है जो हमेशा आपको सही रास्ता दिखाती है...



क्या आप जानते है कि आपकी कार का विंडशील्ड क्यों इतना बड़ा और रियरव्यू मिरर क्यों इतना छोटा होता है...क्योंकि आपका आने वाला कल ही अहम है, बीता हुआ कल नहीं...इसलिए आगे देखिए और बढ़ते रहिए...





स्लॉग ओवर

एक बार कालेज के तीन स्टूडेंट्स जॉय राइड पर निकले हुए थे...मस्ती में सौ की स्पीड में गाड़ी भगा रहे थे कि एक्सीडेंट हो गया...तीनों बिना टिकट यमराज के पास पहुंच गए...नरक में यमराज के दरबार में इंटरव्यू देने के बाद तीनों बाहर आए...उनमें से एक आंख मार कर बोला...

...


...


...

अबे, यमराज की लड़की देखी क्या ?...

...BOYS ARE ALWAYS BOYS

31 टिप्‍पणियां:

  1. ha ha ha...baad me to maza hi dila diya aur pehle ek achcha sandesh bhi diya...

    उत्तर देंहटाएं
  2. हाय रब्बा.....!!
    ये मुंडे गली दे गुंडे....

    बाकि ये विंडशील्ड और रियरव्यू मिरर ...वाली बात तो बस सुभानाल्लाह...!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे नरक मै गये तो क्या भाई!!! ऎश तो हर जगह हो सकती है,एक भिखारी भी रोजाना खुब पीता है दारू, ओर धन्ना सेठ बचत कर कर के भुखा मरता है

    उत्तर देंहटाएं
  4. अब उस आंख मारने वाले मुंडे का नाम भी बतला दो ... क्‍योंकि यमराज ने उसे उसी वक्‍त वापिस जमीन पर लौटा दिया था और वो यहां तहां लोटता फिर रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. एक विचारणीय पोस्ट.....सुंदर बात कही आपने..और स्लॉग ओवर मजेदार ..बढ़िया प्रस्तुति के लिए बधाई खुशदीप भाई

    उत्तर देंहटाएं
  6. BOYS ARE ALWAYS BOYS


    -कई मैन भी सारा जीवन Boys ही रह जाते हैं..हा हा!!


    बाकी आले वाले कल की बात अहम है,.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत बढ़िया .....जिंदगी में आगे बढते रहने की अच्छे प्रेरणा दी है ......और मजा आगया स्लाग पढ़ कर

    उत्तर देंहटाएं
  8. आगे की सोचना -अच्छी सोच है । लेकिन बीते दिनों के अनुभव भी काम आते हैं ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. आगे देखने वाले ही तो आगे बढ़ते हैं
    पीछे देखने वाले पीछ रह जाते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  10. सही कहा आपने!

    दुख में सुमिरन सब करै सुख में करै ना कोय।
    जो सुख में सुमिरन करै तो दुख काहे होय॥

    उत्तर देंहटाएं
  11. भईया स्लोग ओवर लाजवाब रहा हमेशा की तरह ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. .क्योंकि आपका आने वाला कल ही अहम है, बीता हुआ कल नहीं...इसलिए आगे देखिए और बढ़ते रहिए...

    बिलकुल सही बात है....लेकिन बीते कल से सीखा तो जा सकता है...

    उत्तर देंहटाएं
  13. .क्योंकि आपका आने वाला कल ही अहम है, बीता हुआ कल नहीं...इसलिए आगे देखिए और बढ़ते रहिए...

    बिलकुल सही बात परन्तु आगे बढ़ने के लिए कभी कभी रियर मिरर में भी देखना जरुरी होता है सेफ्टी के लिए :).
    स्लोग ओवर मजेदार है ..भाटिया जी से सहमत.:) कल ही एक अखबार में पड़ा कि यहाँ एक कैदी ने जेल में सेक्स की मांग की है .."कि वह उसके मूल अधिकारों के अंतर्गत आता है.:)

    उत्तर देंहटाएं
  14. ये टिप्पणियां आज बीच में कहां चाय-पानी के लिए अटक रही हैं...क्या औरों के साथ भी ये समस्या आ रही है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  15. टिप्पणीयां मेरे यहां भी प्रकट, नेपथ्य में आ जा रही है। लगता है ब्लॉगर में कोई सुधार आदि की कवायद चल रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  16. ये आपकी गाड़ी का स्टेयरिंग-व्हील है जो हमेशा आपको सही रास्ता दिखाती है...
    कई बार महसूस किया है ...

    @ यमराज की बेटी ...
    मुझे याद आया किसी को मैं पुलिस के एक उच्च अधिकारी के बारे में बता रही थी ...सामने वाले का जवाब यही था ..." उसकी बेटी बड़ी सुन्दर है "...हद है ...:):):)

    उत्तर देंहटाएं
  17. विंडशील्ड और रियरव्यू के बहाने बड़ी बात कह गए
    स्लोग ओवर तो जबरदस्त है..

    उत्तर देंहटाएं
  18. ब्‍लॉगस्‍पाट की मरम्‍मत के कारण टिप्‍पणियां कभी कभी बीच में खड्ढे में गिर जाती हैं फिर किसी तरह बाहर निकल आती हैं क्‍योंकि कुंए का मेंढक नहीं बनना चाहती हैं। पर एक दिन ब्‍लॉगस्‍पाट कुंए का मेंढक बन सकता है इसलिए अपनी सुरक्षा स्‍वयं करें। माह में दो बार अपने ब्‍लॉग का बैकअप अवश्‍य लिया करें।

    उत्तर देंहटाएं
  19. बढ़िया सन्देश.. सुन्दर चुटकुला..

    उत्तर देंहटाएं
  20. स्लोग ओवर से ऊपर .... वाली पोस्ट ने .... मन को छू लिया.... और स्लोग ओवर में ख़ुद को पाया....

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  21. नरक मे भी स्वर्ग का मज़ा .......वाह खूब रही

    उत्तर देंहटाएं
  22. वह आंख मारने वाला मुंडा ही तो कहीं इस जन्म में देश-नामा खोल के बैठा है ? वैसे गुरु पोस्ट लाज़वाब रही..

    उत्तर देंहटाएं
  23. मरने के साथ भी मरने के बाद भी

    उत्तर देंहटाएं