रविवार, 21 मार्च 2010

कहां महफूज़ है एक स्टार ब्लॉगर...खुशदीप

कल मैनपुरी से ब्लॉगर भाई शिवम मिश्रा का फोन आया...उन्होंने बड़ी फ़िक्र जताई कि न तो ये स्टार ब्लॉगर महोदय फोन उठा रहे हैं, न ही इनका कोई अता-पता चल रहा है...मैंने भी कहा, भैया मुझसे आखिरी बार पांच छह दिन पहले जनाब ने बात की थी...आखिरी बार ये मिस्टर हैंडसम जबलपुर के ब्लॉगरों के बीच हीरो बने हुए मीडिया से मुखातिब होते हुए देखे गए...जबलपुर में ही इनकी ननिहाल है...मुझे तो पूरा शक है कि लखनऊ के इस नवाब के हाथ-पैर नीले (पीले लड़कियों के होते हैं) करने की तैयारी चल रही है...तभी ये शख्स कहीं अंडरग्राउंड हो गए हैं....

अब मैंने थक-हार कर लापता इस स्टार ब्लॉगर की तलाश में एड देने की सोची है...शुरुआत ब्लॉगवुड से ही कर रहा हूं...शायद यही बात बन जाए, थाने के चक्कर काटने की नौबत ही न आए...



तलाश......तलाश....तलाश 



नाम....मिस्टर एक्स (कुछ लोग बड़बोला होने का आरोप भी लगाते हैं)


उम्र....जितनी भी हो लगते जनाब पच्चीस से ऊपर के नहीं हैं...


इस स्टार ब्लॉगर का ताल्लुक नफ़ासत और नज़ाकत के शहर से है, लेकिन हैं पूरे रोडी (रिफाइन्ड, वेल एडुकेटेड, कल्चर्ड रोडी)....


पढ़ाई में हमेशा आला ...तर्क में अच्छे से अच्छे शास्त्री का मुकाबला


खूबसूरती के मामले में हैंडसम सलमान ख़ान सरीखा...


दिल का भला और दूसरों के हमेशा काम आने वाला...अपनों की परेशानी में सब कुछ झोंक देने वाला....


कभी अपने सुंदर मुखारबिन्दु से ऐसे मधुर वचन कह जाते हैं कि दूसरा तिलमिलाता हुआ पैर पटकता रह जाता है...इसके अलावा वो बेचारा करे भी क्या


जनाब का पैट डॉयलॉग है...हम जहां जाकर खड़े हो जाते हैं, लाइन वहीं से शुरू होती है...


सुपर कॉन्फिडेंट जनाब गजब के फ्लर्ट भी हैं...दिल हथेली पर लिए घूमते हैं...इसलिए हसीनाएं खास तौर पर इनकी भोली सूरत पर न जाएं और अपने विवेक से काम लें...


किसी को भी ये शख्स दिखाई दें तो तत्काल अपने सबसे नज़दीकी ब्लॉगर को इसकी सूचना दें...सूचना देने वाले के लिए जबरदस्त ईनाम भी है...सूचना देने वाले के गले में 51 नरमुंड की माला डालकर इस स्टार ब्लॉगर की शादी में चीफ़ गेस्ट बनाया जाएगा...यही नहीं पहले राम प्यारी की अगुआई में ताऊ के प्यारे जानवर सूचना देने वाले का लखनऊ स्टेशन पर स्वागत करेंगे और फिर जुलूस की शक्ल में स्टार ब्लॉगर के घर तक ले जाएंगे...जनाब, अब आप किस बात का इंतज़ार कर रहे हैं...लग जाइए न फौरन स्टार ब्लॉगर की तलाश में...



लाल टी शर्ट में सजे ये महाशय आखिरी बार सार्वजनिक तौर पर इस महीने की 14 तारीख को जबलपुर में देखे गए...



स्लॉग गीत

स्टार ब्लॉगर की तलाश में मेरे जैसे कई ब्लागर ये गाना गाते हुए मारे मारे फिर रहे हैं...

चंदा को ढूंढने तारे निकल पड़े....


फिल्म... जीने की राह 1969

43 टिप्‍पणियां:

  1. सूचना देने वाले को एक कविता का इनाम मेरे पास से भी..वैसे हम भी तलाश में हैं.....

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाई ये गाना याद आ रहा है " तुम न जाने किस जहाँ में खो गए हम इधर तन्हा रहा गए " भाई महफूज जी जो जबलपुर से गए है तो उनका फोन भी नहीं मिला . अब खोज करना पड़ेगी . मैंने आपके बारे में बताया था की महफूज जी किसी लड़की के चक्कर में तो नहीं है . भाई यहाँ सहारा समय न्यूज़ चैनल और सिटी बी. टी. में खूब छाये रहे . ऐसा तो नहीं कहीं और कन्या की जुगत में लगे हो ?

    उत्तर देंहटाएं
  3. जो लापता(भाई महफूज} की फोटो आपने लगाई है वह मेरे द्वारा उतारी गई है .... आभार लगाने के लिये .

    उत्तर देंहटाएं
  4. जब मिलने की खबर लगे तो खबर करियेगा मै भी नोटों की नहीं फूलो की माला लेकर आ जाऊंगा ....

    उत्तर देंहटाएं
  5. उनको सुनाओ ये गाना
    लौट के तुमको , है यहीं आना ।

    चिंता न करें।
    महफूज़ भाई समझदार हो गए हैं। इसलिए ब्लोगिंग से एक कमर्शियल ब्रेक ले लिए है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. खुशदीप जी ......बल्ले ...इह कदों दे गायब हो गए .......????

    इस तलाश में हम आपके साथ हैं ....अभी फोन लगाते हैं ......अभी थोड़े दिन पहले ही तो जनाब का फोन आया है .....अपनी नैंसी ( कुतिया ) की फ्राक लेने गए हुए थे..... !!

    मुखारबिन्दु से ऐसे मधुर वचन कह जाते हैं कि दूसरा तिलमिलाता हुआ पैर पटकता रह जाता है......मख्दूश गुण ......!!
    सुपर कॉन्फिडेंट जनाब गजब के फ्लर्ट भी हैं...दिल हथेली पर लिए घूमते हैं......इस पंक्ति से तो हमें खतरा ही लग रहा है .....आप तो F .I .R लिखा ही दो ......!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुना तो है जी कि जबलपुर में ही अटके हैं यह जनाब!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. चंदा रे मेरे भैया से कहना ..बहना याद करे ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. हां खुशदीप भाई कल शिवम भाई का फ़ोन मुझे भी आया था और मैंने आशंका जताई थी कि शायद जनाब गोरखपुर में हैं मगर पता चला कि भाई जान वहां भी नहीं है शायद ...कहीं अपने लाठी बल्लम को तेल तो नहीं पिला रहे हैं ..शायद रविंद्र प्रभात जी को कुछ पता हो ..
    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  10. अपने महफूज़ जिधर हैं महफूज़ हैं
    दरअसल कुछ ऐसी बातें हैं जिसे सबको
    बताना अभी ज़रूरी नहीं
    उनकी तीन सौ प्रेमिकाएं हंगामा मचा देंगी न

    उत्तर देंहटाएं
  11. अच्छी खिंचाई......
    ..........
    कृष्ण की बांसुरी, ..बिस्मिल्लाह खान की शहनाई..... और जीसस का क्रॉस....
    लड्डू बोलता है ....इंजीनियर के दिल से....
    http://laddoospeaks.blogspot.com/2010/03/blog-post_1697.html

    उत्तर देंहटाएं
  12. खुशदीप जी,
    अच्छा हुआ आपने ये 'वांटेड' कि पोस्टर बना दी है..
    लेकिन आपने जो ईनाम रखा है ठीक नहीं है ...शादी जैसी शुभ बात के साथ ये ठीक नहीं लग रहा है ....
    सूचना देने वाले के गले में 51 नरमुंड की माला डालकर इस स्टार ब्लॉगर की शादी में चीफ़ गेस्ट बनाया जाएगा...
    कुछ अच्छा सा गिफ्ट देना चाहिए न....
    ये तो बड़ा ही अशुभ सा लग रहा है...ऐसा मेरा सोचना है ....आगे आपकी मर्ज़ी...
    चंदा को ढूँढने में बाकी तारों के साथ हम भी हैं....

    http://swapnamanjusha.blogspot.com/2010/03/blog-post_9293.html

    Breaking news...abhi-abhi mahfooz miyaan ka pata upar likhit pate par mil gaya hai...

    dhanyawaad..

    उत्तर देंहटाएं
  13. अदा जी,
    आप को पता नहीं ये पहले ही तय हो चुका है कि महफूज़ की बारात वैसी ही मस्ती के साथ निकलेगी जैसी भोले बाबा की निकली थी...और सारे बाराती भी उसी गणवेश में होंगे जैसे कि भोले की बारात में थे...इस गणवेश की अवधिया जी पहले अच्छी तरह व्याख्या भी कर चुके हैं...महफूज़ मियां की बारात है, कुछ तो अलग होनी चाहिए न, धूमधाम ऐसी होगी कि दुनिया देखेगी...मैंने तो शरीर पर मलने के लिए अभी से विभूत इकठ्ठा करना शुरू कर दिया है...

    जय हिंद..

    उत्तर देंहटाएं
  14. 27 मार्च 2010 को दिल्‍ली में अवतरित हो रहे हैं। सब ईनाम शिनाम लेकर इधर ही चले आएं। अलबेला बाबा भी अवतरित हो रहे हैं। दो दो बाबाओं का मिलन है 27 के दिन। समय स्‍थान की सूचना के लिए अलबेला जी के ब्‍लॉग को खड़खड़ाते रहें। बार बार वहीं पर जाते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  15. जबलपुर मे ही बंदर-कुदनी मे कूदने की प्रेक्टिस कर रहे हैं।खुशदीप भाई मैने तो कल ही शिवम भाई को बता दिया था कि चिंता की बात नही है वो जबलपुर मे ही अज्ञातवास सरीखा कुछ नया कर रहे हैं।मैने भी सोचा था कि एकाध विज्ञापन मै भी चिपका दूं मगर मुझे लगा गरीब मेरी तरह सेल मे न लटक जाये।भई ब्लागिंग ही तो करता है उसके अलावा तो कोई खास बुराई नही है उसमे,आखिर उसकी भी तो इमेज का सवाल है।

    उत्तर देंहटाएं
  16. मेरी ननिहाल जबलपुर की है । बाद मे ससुराल भी जबलपुर की ही बनी । महफूज़ मियाँ एक दिन कह रहे थे भैया मै भी आपके नक्शे कदम पर चलना चाहता हूँ । गिरीश ... यह क्या कर रहे हो भई .. इसे भी कहीं ....?

    उत्तर देंहटाएं
  17. abhi ada ji ki post dekh kar aai hoon ..aapka ishtehaar kaam kar gaya khushdeep ji :).

    उत्तर देंहटाएं
  18. खुशदीप जी ,
    ये शत्रुघ्न सिन्हा जी के छोटे भाई कौन है...बार-बार हमलोगों को खामोश किये जा रहे हैं ...
    बच्चे को बता दीजिये...कि ब्लाग कुँवारों के तारणहार आप ही हैं...पंगा न ले...
    मेरे ब्लॉग पर भी खामोशिया आये हैं महाराज....
    बताइए ...इनके बॉस हमलोगों से हडकते हैं ..और ई महाराज हमलोगन को हड़का रहे हैं...हाँ नहीं तो...!!

    उत्तर देंहटाएं
  19. अरे हम तो भूल ही गए कहना

    "छोटा बच्चा जान के न कोई आँख दिखाना रे"

    बस कह दिए इतना ही काफी हैं

    यह साजिशे कामयाब होने न देंगे

    कुंवारों की आजादी को छिनने न देंगे

    कुंवारों की आजादी के कट्टर समर्थक

    कम से कम अपनी आजादी बचे रहने तक ;-)

    उत्तर देंहटाएं
  20. खुशदीप जी जिसके पीछे आप पड़ जाएं उसकी खबर न निकले ये हो ही नहीं सकता.....महफूज जी की बात छोडिए, पता लगाइए कौन है वो चांद जहां ये अटक गए हैं. या अटकाए जा रहे हैं.....

    उत्तर देंहटाएं
  21. खुशदीप भाई-
    महफ़ुज जबलपुर मे ही बसने की तैयारी कर रहे हैं।
    वहां प्लाट देख रहे हैं, रजिस्ट्री होते ही नमुदार हो जाएंगे।
    काहे चिंता कर रहे हैं। कोई बच्चा नही रह गया है कि
    कहीं गुम हो जाए। जवान हो गया है। घुम फ़िर कर वापस्।
    बस इतनी सी बात है।

    उत्तर देंहटाएं
  22. आपकी पोस्‍ट भी पढ़ी और सारी टिप्‍पणियां भी। आपने महफूज भाई के गुम होने पर चिन्‍ता जताई है और टिप्‍पणी आयी है नाइस। आपकी चिन्‍ता नाइस है या महफूज भाई का गुम हो जाना? उन्‍हें बिलाई डालकर ढूंढों, भाई मुझे तो चिन्‍ता हो रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  23. भाई सच कहूं तो चिंतित तो हम भी थे......खैर शादी मैं तो बुलायेंगे ही.....

    उत्तर देंहटाएं
  24. अजित जी,
    ये नाइस बाबा सांसारिक मोह-माया से ऊपर उठे हुए हैं...ये सुख में खुश होना और दुख में दुखी होना हम जैसे तुच्छ इंसानों का काम है...नाइस बाबा हर भावना को निर्विकार होकर एक ही तरह से लेते हैं...आप बस भावनाओं को समझिए...वैसे मैंने नाइस बाबा के इस महान गुण पर एक पोस्ट भी लिखी थी उसका लिंक दे रहा हूं ...

    http://deshnama.blogspot.com/2010/02/nice.html

    जय हिंद..

    उत्तर देंहटाएं
  25. खुशदीप जी हम आपको कैसे बताये की ये स्टार ब्लॉगर कहा है. कोई इ मेल एड्रेस, टेलीफोन नंबर बताइए जहा हम आपको सूचित कर सके .
    हमे इनका पक्का पता मालूम है पर कैसे बताये ...ज्योति

    उत्तर देंहटाएं
  26. ज्योति जी,
    वैसे तो आप यहीं कमेंट में बता देतीं तो अच्छा रहता, पूरी ब्लॉगर बिरादरी उनके बारे में जानने को बेचैन हैं...हां अगर कुछ सीक्रेट मामला है तो मेरा ई-मेल है...sehgalkd@gmail.com

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  27. जब मिलने की खबर लगे तो खबर करियेगा मै भी नोटों की नहीं फूलो की माला लेकर आ जाऊंगा ....

    उत्तर देंहटाएं
  28. खुशदीप भाई-
    महफ़ुज जबलपुर मे ही बसने की तैयारी कर रहे हैं।
    वहां प्लाट देख रहे हैं, रजिस्ट्री होते ही नमुदार हो जाएंगे।
    काहे चिंता कर रहे हैं। कोई बच्चा नही रह गया है कि
    कहीं गुम हो जाए। जवान हो गया है। घुम फ़िर कर वापस्।
    बस इतनी सी बात है।

    उत्तर देंहटाएं
  29. अरे मिला की ्नही अभी तक..... बोलो को जर्मनी से स्पेशल पुलिस फ़ोर्स भेजे....देखना कोई सुंदर सा बालक समझ कर उठा कर ना ले गया हो.... वेसे तो अब तक सब नाईस नाईस ही लग रहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  30. अरे अरे यह सब क्या चल है. कहाँ भाग रहे हो. महफूज़ मियाँ.बिना पार्टी दिए

    ब्लॉग पर गूगल बज़ बटन लगायें, सबसे दोस्ती बढ़ायें

    उत्तर देंहटाएं
  31. हा हा महफूज़ कि खोज खबर तो अदा ले आयीं...और वे अकेले नहीं हैं,अब...चलिए थोड़ी शान्ति दे दीजिये उन्हें अब

    उत्तर देंहटाएं
  32. lo ji yahan to kafi kuch ghat gaya ...........chalo ab shamil ho jate hain ........ada ji ne to pata thikana dhoondh hi liya hai bas taiyaariyan shuru kar dijiye jor shor se..................black and white ka adbhut sangam hai .

    उत्तर देंहटाएं
  33. लखनऊ के नवाब
    जबलपुर में हैं,
    जैसे किसी बगीचे में गुलाब।
    जानते वाले सब जानते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  34. मजेदार तलाश है। मौका मिला तो हम भी इस तलाश अभियान में शामिल हो जाएंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  35. Anonymous said :
    mere $50,000 wapis karo

    खुशदीप जी,
    महफूज़ की तलाश के लिए आपने कहीं $५०.००० देने का वादा तो नहीं कर दिया है ईनाम में...
    मुझसे कोई मांगने भी चला आया है इतना पैसा...
    आप ही समझिये ...कोई बेनामी जी थे...

    उत्तर देंहटाएं

  36. इत्ती सारी ख़ूबियाँ.. एक ही ज़िस्मो-दिमाग़ में ?
    लेकिन एक अफ़सोस कि वह ऎसा राजपाल यादव जी के डँडे के जोर पर बन पाये हैं
    काहे से कि ज़नाब ज़रूर रूपा फ़्रँटलाइन पहनते होंगे..


    चलता हूँ आगे, बहुत सी पोस्ट लाइन में हैं !

    उत्तर देंहटाएं
  37. अच्छा अब हम बता ही दे की कहाँ है स्टार ब्लॉगर जी!
    आज कल वह अज्ञातवास में साहित्य पान कर रहे है. कोई जगह है MPB वही पर विराजमान है, ऐसा जनाब ने दूरभाष यन्त्र पर बताया है . यदा कदा जनाब IR में भी घुमते है.

    उत्तर देंहटाएं
  38. हर खास-ओ-आम के लिए इत्तला है कि महफूज़ मियां जहां कहीं भी हैं पूरी तरह महफूज़ है...इंशा अल्ला जल्दी ही हमारे बीच होंगे...शायद एक हफ्ते में ही...और हां हसीना जैसा भी कोई चक्कर नहीं है...हमारे मित्रवत चैनल अदा ड्रामा कंपनी ने जिस मोहतरमा को महफूज़ की शरीके-हयात होने की बात कही थी, वो फ्रॉड निकली...महफूज़ को कुछ सुंघा भी दिया था...ये तो अच्छा हुआ महफूज़ सही वक्त पर होश में आ गए और अपनी दौलत लूटे जाने से बच गए...इसलिए सब कुछ ठीक-ठाक है, ब्लॉगर बिरादरी बेफ़िक्र रहे...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं