मंगलवार, 16 फ़रवरी 2010

यही है NICE च्वायस बाबा...खुशदीप

आप कहेंगे कि ये तो सुना था कि यही है राइट च्वायस बेबी...लेकिन ये क्या...यही है NICE च्वायस बाबा...क्यों सिर्फ पेप्सी के लिए ही कह सकते हैं कि यही है राइट च्वायस बेबी...पेप्सी तो पराए घर की है...और क्या उसने पेटेंट कराया हुआ है...नहीं भैया पेटेंट तो किसी और ने कराया है...और वो है खालिस भारतीय सिद्धपुरुष...दिल थाम कर बैठिए, सुनने के लिए कि किसने पेटेंट कराया है और क्यों पेटेंट कराया है...ये हैं अपने नाइस (NICE) बाबा...

ये बाबा सांसारिक मोह-माया से ऊपर उठे हुए हैं...दुख-सुख, जीवन-मरण...ये सभी को निर्विकार भाव से लेते हैं...न सावन हरे, न भादो सूखे...लेकिन इनके अविष्कार किए हुए एक मंत्र NICE का संसार के तुच्छ प्राणी इतना अमानवीय प्रयोग कर रहे हैं कि बाबा का क्रोध से त्रिनेत्र खुल गया है....बस किसी भी घड़ी NICE बाबा का तांडव शुरू हो सकता है..

.ऐसा नहीं कि NICE बाबा को आधुनिक नियम-क़ानूनों का पता न हो...बाबा ने रात-रात जाग कर और अमेरिकी वकीलों से सलाह लेकर अपने मंत्र NICE को पेटेंट करा लिया...इसलिए पहले ही आगाह कर देता हूं कि अगर कोई सज्जन इस पोस्ट पर अब तक NICE कमेंट करने की सोच रहा है तो अंजाम भुगतने के लिए खुद ही ज़िम्मेदार होगा...इधर आपने NICE लिखा नहीं कि ऑटोमेटेड तकनीक से आपका नाम अमेरिका के पेटेंट डिपार्टमेंट के पास पहुंच जाएगा...फिर आपको पहले अफगानिस्तान-पाकिस्तान की सीमा पर स्थित पहाड़ियों की किसी कंदरा में पहुंचाया जाएगा...और ऊपर से ड्रोन आप पर अचूक निशाना लगाने के लिए आकाश में विचरण करते रहेंगे...अब बताइए कभी लिखेंगे किसी को कमेंट में NICE, VERY NICE...लेंगे NICE बाबा से पंगा...





स्लॉग ओवर

कभी अंग्रेजी में हाथ तंग होना वरदान भी साबित हो सकता है...एक बार मक्खन अपने परम सखा ढक्कन के साथ विदेश घूमने गया...अब मक्खन ने विदेश में भी खाली सड़क के किनारे वही काम कर दिया जो हमारे देश में सुसु कुमार कहीं भी करने से नहीं घबराते...सड़क को ओपन टायलेट समझने वाले मक्खन पर एक सार्जेंट की नज़र पढ़ गई...सार्जेंट ने मक्खन के पास आकर जमकर अंग्रेजी में हड़काना शुरू किया...मक्खन को कुछ समझ आया नहीं...लेकिन मक्खन के दिमाग की बत्ती जली और उसने पलटवार किया...BABA BABA BLACK SHEEP, HAVE YOU ANY WOOL..सार्जेंट को मक्खन के भोलेपन पर तरस आ गया और उसने चेतावनी देने के साथ मक्खन को छोड़ दिया...ढक्कन दूर से ये नज़ारा देख रहा था....सार्जेंट के जाने के बाद ढक्कन दौड़ा आया और मक्खन को शाबाशी देते हुए बोला...यार तेरा तो बड़ा जलवा है...तूने तो अंग्रेजी में सार्जेंट की छुट्टी कर दी...चुपचाप चला गया...मक्खन सीना फुलाते हुए बोला...अभी तो सिर्फ BABA BABA ही सुनाई थी...सोच अगर TO, THE PRINCIPAL, I BEG TO SAY...पूरी सुना देता तो उसका क्या हाल होता...

38 टिप्‍पणियां:


  1. Nice Post
    Thank you Khushdeep.

    Take it easy, Its abbreviated
    Non-Involvement Comment Extravaganza.
    May be a deliberate certitude to get noticed, and he succeeds here.
    .

    उत्तर देंहटाएं
  2. IN DEFENCE OF NICE
    हमें खुशी है कि इस ब्लॉग-जगत में निस्वार्थ निष्पक्ष कमेन्ट करने वाले भी हैं. वरना लोग तो पोस्ट का मज़ा भी ले लेते हैं और एक शब्द भी लिखे बिना चुपचाप निकल लेते हैं. बल्कि कई बार तो पोस्ट में से विचार लेकर अपनी पूरी पोस्ट ही बना डालते हैं.

    शुक्र है कोई तो समय निकालकर NICE लिखता है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. हमें तो नाईस की स्पेलिंग ही नहीं आती. :)

    इसलिए बेहतरीन लिखते हैं..बेहतरीन को भी न कोई बाबा पेटेंट करा ले.

    स्लॉग ओवर मस्त रहा!

    उत्तर देंहटाएं
  4. nice baba का nice अब तक नहीं आया. लगता है सुसुप्तावस्था में हैं. और हाँ अब इनका क्या जो आपकी इस पोस्ट पर nice लिख रहे हैं?
    जो nice है उसे nice ही कहा जायेगा.
    nice

    उत्तर देंहटाएं
  5. you slawsy poodle you tike you crapourous paddering pipsqeek,you monument of nor attechment...

    आप सोच रहे होंगे यह क्या है ... भैया एक अंग्रेजी की किताब मे पढ़ा था ..आज तक समझ मे नही आया मक्खन तो समझने वाली बोल रहा है haahhaahaa

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. एम वर्मा जी,
    फ़िक्र मत करिए, ये पोस्ट लिखी ही इस लिए गई है...आप समेत जो जो भी nice लिख रहा है, nice बाबा सभी का नाम नोट कर रहे हैं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  8. पंगा!?

    कहीं इसे भी पेटेंट नहीं कराया हुआ?

    बी एस पाबला

    उत्तर देंहटाएं
  9. लिखने की बड़ी इच्छा हो रही है, परंतु महाशक्तिशाली बाबा नजर रखे हुए हैं और वो कंदरा वाली जगह से तो अपने को ऐसे ही डर लगता है, उपर से ड्रोन मिसाईल, बाबा रे बाबा !!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. ये बाबा सांसारिक मोह-माया से ऊपर उठे हुए हैं...दुख-सुख, जीवन-मरण...ये सभी को निर्विकार भाव से लेते हैं...न सावन हरे, न भादो सूखे.
    नाईस बाबा सबको एक ही नज़र से देखते हैं।
    यही तो सात्विक विचारों की निशानी है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. वाह!
    इस का पेटेंट नहीं हुआ है। होने भी नहीं दिया जाएगा। वर्ना कवियों का क्या होगा?

    उत्तर देंहटाएं
  12. @पाबला जी,
    मैं पंगे का पेटेंट कराने गया था...लेकिन उन्होंने बताया कि पाबला जी पंगा तो क्या पंगे वाली जगह का भी साथ ही पेटेंट करा के ले गए हैं...इसे कहते हैं पंग्वाटिंग...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  13. नाईस क्या हिन्दी मे लिख दें तब तो कोई एतराज़ नही? वैसे नाईस बाबा आपकी पोस्ट आत्3ए ही हाज़िर हो गये मंद मंद मुस्कुरा रहे हैं कि उनका मंत्र काम कर रहा है। अब मक्खन को भी यही मन्त्र दे दो शायद वो अंग्रेज की तरह नाईस बाबा को भी खुश कर सके। हाँ मुझे भी अपना एक कमेन्ट पेटेंट करवाना है करवा दोगे? समझ ही गये होंगे। आशीर्वाद

    उत्तर देंहटाएं
  14. Nice का पेटेंट न हुआ है. Very Nice का थोड़ी हुआ है. इसलिए मैं कहूँगा Very Nice.

    उत्तर देंहटाएं
  15. हो SSSSSSSS
    बाबा जान कर क्यों इन्हें तुम यूँ सताते हो
    ये कोमेंटिया नहीं सकते हैं और तुम पोस्टियाते हो
    हो SSSSSSSS

    उत्तर देंहटाएं
  16. nice .................... slog over very nice........khushdeep jee always nice and nice'100

    उत्तर देंहटाएं
  17. Nice...

    Very nice....

    O! yeah!!!!!!!!!!!!!!


    achcha????????

    nice....nice....

    veryyyyyyyyyyyy nice....

    Makkhan's naiveness....getting me rolling over the floor....

    hee....huuuuuuuuuuuu........



    Jai hind....

    उत्तर देंहटाएं
  18. NICE ...
    पंगा ले कर देखते हैं .... शायद हमारे ब्लॉग पर भी टिप्पणियों की बोचार लग जाए ......
    वैसे स्लॉग ओवर निशाने पर लगा है ....

    उत्तर देंहटाएं
  19. khushdeep ji
    makkhan is nice.......blog is nice........post is nice..........everything is nice.........now what to do?.......jab sab nice hai to hai.............kya karein nice kahe bina raha nhi ja raha.........ab to nice baba ki sharan leni hi padegi aur nice nice hi kahna padega........hahahaha

    उत्तर देंहटाएं
  20. मैं तो इनकी बड़ी जबरदस्त फैन हो गयी हूँ...जिस निर्विकार भाव से ये "नाइस" लिखते हैं....अहहः...आनंद आ जाता है पढ़कर...
    मैं तो इनसे विनती करने वाली हूँ कि बाज़ार की चकाचौंध में फंसे बिना ये अपने पेटेंट पर टिके रहें...उस एक अमर शब्द के आगे पीछे कुछ भी लगा हुआ बिलकुल शोभा नहीं देता...

    उत्तर देंहटाएं
  21. हम तो जानिए रहे थे कि देर सवेर आप ई एक पोस्ट नाइसिया के लिखबे करिएगा , और नाईस जी बिना बुरा भला माने लिख जाएंगे नाईस ,
    वत्स, और सभी ब्लोगवासियों को अपार हर्ष के साथ सूचित किया जाता है कि नाईस जी , इन सबसे ऊपर उठ चुके हैं ....कमेंटात्मा में लीन एक भक्त का आशीष सबको यूं ही मिलता रहे तो क्या हर्ज़ है जी ??? नाईसे नाईस है सब जग जानी , नाईसे नाईस में का बेइमानी , तो लो बच्चा एक ठो खुशदीप नाईस ..और एक ठो मक्खन नाईस विथ स्लाईस

    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  22. nice shabd ne kisi na kisi ko uska pryay bna diya hai....nice me kafi dum hai...nice

    उत्तर देंहटाएं
  23. हम हिन्‍दी वाले लोग हैं नाइस का अर्थ समझते नहीं। लेकिन किसी भी शब्‍द की व्‍याख्‍या जरूर कर सकते हैं। एन से नो आई से मैं या मैंने सी से देखा और इ से इसे, अर्थात मैंने इसे नहीं देखा। बहुत ही अच्‍छी पोस्‍ट है बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  24. @ खुशदीप जी

    वह पंग्वाटिंग नहीं पंगास्क्वैटिंगिज़्म है
    जिसे गुरूमुखी में
    ਪਂਗਾ-ਲੈ-ਕੇ-ਚੌਕਡੀ-ਮਾਰਨੀ/ ਪਂਗਾ-ਲੈ-ਕੇ-ਚੌਂਕੜਾ-ਮਾਰਨਾ/ ਪਂਗਾ-ਲੈ-ਕੇ-ਧਰਨਾ-ਦੇਣਾ
    कहा जा सकता है :-)

    बी एस पाबला

    उत्तर देंहटाएं
  25. nice nice nice nice nice nice nice nice nice nice nice nice बाकी कल दुंगा नाईस वेसे आज क्या नाईस डे है? जहां देखो नाईस ही नाईस दिख रहे है.
    मक्खन नही सुधर सकता उसे भी दो चार नाईस दे दो

    उत्तर देंहटाएं
  26. एक पोस्ट तो मैं भी इसी विषय पर लिख चुकी, किन्तु आपकी तरह साहस न था कि पेटेन्ट हुए शब्द का उपयोग करती सो पर्यायवाची शब्द का ही उपयोग किया।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  27. आपने तो सबसे नाईस लिखवा लिया..... बढ़िया पोस्ट....:):)

    उत्तर देंहटाएं
  28. मान गए जी बिलकुल मान गए !!
    जय nice बाबा की !!

    उत्तर देंहटाएं