मंगलवार, 23 फ़रवरी 2010

अमीर बनना है, इसे पढ़िए...खुशदीप

अमीर बनने का नुस्खा आपको बताऊंगा...ऐसा नुस्खा जिसमें आपकी धन-दौलत छिनने का कभी डर ही नहीं रहेगा, लेकिन पहले ज़िंदगी...

जिंदगी कैसी है पहेली हाय, कभी ये रुलाए, कभी ये हंसाए...

इस पहेली को सुलझा तो नहीं सकता लेकिन आज विद्वान पुरुषों के अनमोल ख़जाने से कुछ मोती निकाल कर आपके साथ ज़रूर बांट सकता हूं...

1. सांप और चींटें

जब सांप ज़िंदा होता है तो चींटें खाता है...जब सांप मर जाता है तो चींटें सांप को खाते हैं...वक्त कभी भी बदल सकता है...ज़िंदगी में कभी किसी की कमतर समझते हुए अनदेखी मत करो...

2.रोज़ नई गलती

एक ही गलती को दुबारा मत करो...कई नई गलतियां इंतज़ार कर रही हैं...हर दिन अलग गलती पर हाथ आजमाओ...सीखने से बेहतर और कोई चीज़ नहीं...

3. जैसी सोचो, वैसी ज़िंदगी

किसी दूसरे का व्यवहार बदलने का सबसे अच्छा तरीका है खुद उसके साथ बदल जाओ...याद रखिए सूरज मक्खन को पिघलाता है तो मिट्टी को कड़ा भी बनाता है...ज़िंदगी वैसी ही होती है, जैसे कि हम सोचते हैं...इसे खूबसूरती के साथ सोचिए....

4. हम बहते धारे हैं

ज़िंदगी समुद्र की तरह है...बिना किनारे हम आगे बढ़ रहे हैं...कुछ भी हमारे साथ नहीं रहता है...साथ रहती हैं तो कुछ लोगों की यादें जो हमें लहरों की तरह छूते हैं...



5. सही अमीर

जब भी आप जानना चाहो कि आप कितने अमीर हो गए हो....अपनी धन-दौलत मत गिनो...बस आंखों में आंसू लाओ...फिर उन हाथों की गिनती करो जो उन आंसुओं को दिल से पोंछने की कोशिश करते हैं...यही असल अमीरी है...

36 टिप्‍पणियां:

  1. बस आंखों में आंसू लाओ...फिर उन हाथों की गिनती करो जो उन आंसुओं को दिल से पोंछने की कोशिश करते हैं...यही असल अमीरी है..
    काश लोग इस बात को समझ पाते !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. महत्वपूर्ण सूक्तियां पढवाने के लिए बहुत-बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं
  3. भैया ...क्या कहूँ....आपने तो आँखें खोल दीं.... सही मायने में अमीर बना दिया...

    बहुत अच्छी लगी यह पोस्ट....दिल को छू गई.....


    जय हिंद....

    उत्तर देंहटाएं
  4. याद रखिए सूरज मक्खन को पिघलाता है तो मिट्टी को कड़ा भी बनाता है..बिलकुल सही कहा आप ने, एक एक शव्द दिल मे उतरा है आप का धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. बस आंखों में आंसू लाओ...फिर उन हाथों की गिनती करो जो उन आंसुओं को दिल से पोंछने की कोशिश करते हैं...यही असल अमीरी है...
    सटीक बातें
    एक एक बात हजार बातों से बढकर

    उत्तर देंहटाएं
  6. समुद्र की तरह जिंदगी ...किनारों से टकरा कर लौट जाती लहरे ....मत देखो कि कितनी लहरों ने छुआ ..देखो कि कौन सी लहर जज्ब हो गयी ...पुरानी इन्टरनेट बोध कथा याद आ गयी ...
    सबसे ज्यादा अमीर वही जिसके आंसुओं ने सबसे ज्यादा दिल दुखाये ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. जे गरीब पर हित करें, ते रहीम बड़ लोग।
    कहा सुदामा बापुरो, कृष्ण-मिताई जोग।।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत उम्दा सुक्तियाँ लाये हैं..एक जीवन दर्शन!

    उत्तर देंहटाएं
  9. "सूरज मक्खन को पिघलाता है तो मिट्टी को कड़ा भी बनाता है..."

    वाह खुशदीप जी!

    क्या बात कही है ओय तौबा ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. ज़िंदगी समुद्र की तरह है.nice

    उत्तर देंहटाएं
  11. अमीरी के बहुत बढ़िया नुस्खे दिए हैं।
    अंतिम पंक्तियों में जिंदगी का सार है।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत बढ़िया..रुपयों और पैसों वाले अमीर के अमीरी की कोई उम्र नही होती..इसकी नींव बस पैसों पर टिकी होती है पैसा गया सब गया..सच में अमीर कौन है ये आपने बिल्कुल सत्य बताया...

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत बेहतरीन सुक्तियां, आभार.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  14. MUJH KO MUFLIS MAT SAMAJHIYE
    PAS MERE KYA NAHIN
    DARD KI DAULAT NAHIN
    K GAM KA SARMAAYA NAHIN

    उत्तर देंहटाएं
  15. इस प्रेरक पोस्ट के लिये धन्यवाद
    मेरा अहोभाग्य है जो मैं यह पोस्ट पढ पाया

    प्रणाम स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  16. इस को पढ़ने के बात एक दिल से आवाज निकली, आपकी खिदमत में।

    कहूँ तो क्या कहूँ,
    चुप रहूँ तो कैसे रहूँ,
    शब्द आते होठों पर
    नि:शब्द हो जाते हैं।
    ढूँढने निकल पड़ता हूँ
    जो खो जाते हैं।
    फिर मिलता है एक शब्द
    अद्बुत
    वो कमतर सा लगता है
    तुम ही बतला देना
    सूर्य को क्या दिखाऊं।

    उत्तर देंहटाएं
  17. एक से बढ़कर एक सूक्तियां...पर मेरा मन तो तस्वीर ने मोह लिया..बस जी कर रहा है...ऐसी ही एक पेंटिंग बना डालूं.....अच्छी नज़र है आपकी

    उत्तर देंहटाएं
  18. एक ही गलती को दुबारा मत करो...कई नई गलतियां इंतज़ार कर रही हैं...हर दिन अलग गलती पर हाथ आजमाओ...सीखने से बेहतर और कोई चीज़ नहीं...

    वाह बहुत बढ़िया

    उत्तर देंहटाएं
  19. भई हम तो वाकयी में अमीर हो गए। बढिया पोस्‍ट, बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  20. 5. सही अमीर

    जब भी आप जानना चाहो कि आप कितने अमीर हो गए हो....अपनी धन-दौलत मत गिनो...बस आंखों में आंसू लाओ...फिर उन हाथों की गिनती करो जो उन आंसुओं को दिल से पोंछने की कोशिश करते हैं...यही असल अमीरी है...


    sahi baat kahi..........magar aajkal aise hath milte kahan hain sabhi pair ke neeche se jameen bhi khiska lena chahte hain.

    उत्तर देंहटाएं
  21. bahut badhiyaan baat bol gaye hain aap baba ji..
    mera haath dekh kar bataiyega zara ham ameer bane hain ki nahi ? :):)

    5. सही अमीर

    जब भी आप जानना चाहो कि आप कितने अमीर हो गए हो....अपनी धन-दौलत मत गिनो...बस आंखों में आंसू लाओ...फिर उन हाथों की गिनती करो जो उन आंसुओं को दिल से पोंछने की कोशिश करते हैं...यही असल अमीरी है...

    उत्तर देंहटाएं
  22. वाह!!बेहतरीन सुक्तियां.....आभार
    http://kavyamanjusha.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  23. इस पैमाने से हमारा नाम "बी.पी.एल." सूची में पक्का।

    उत्तर देंहटाएं
  24. लाजवाब.............बिलकुल सही कहा आपने जिंदगी हर पल बदलती है और हमें गलतियों से सीखना चाहिए न कि उन्हें दोहराना ।

    उत्तर देंहटाएं
  25. aapne bhut achhi bat kahi is trah se aur publish kariye thank u

    उत्तर देंहटाएं