रविवार, 10 जनवरी 2010

मक्खन का ख़त बिल गेट्स के नाम...खुशदीप

मक्खन घर नया कंप्यूटर खरीद कर लाया...गुल्ली और मक्खनी भी बहुत खुश...लेकिन मक्खन मैकेनिक आदमी...हर चीज़ में उंगली करने की आदत...पहले कंप्यूटर को अच्छी तरह देखा...कुछ बातें समझ नहीं आईं...मक्खन ठहरा मक्खन...कंप्यूटर संबंधी अपनी शंकाओं का निवारण करने के लिए उस स्टोर पर जाने की जेहमत नहीं उठाई, जहां से कंप्यूटर खरीदा था...न ही कंप्यूटर  कंपनी के सर्विस सेंटर से संपर्क किया...यही सोचा कि कंप्यूटर वाली कंपनी में बिल गेट्स से बड़ा कौन हैं...इसलिेए तड़ाक से बिल गेट्स को ही ख़त लिख डाला...क्या लिखा, पेश-ए-खिदमत है...

मक्खन का ख़त बिल गेट्स के नाम

प्रिय श्रीमान् बिल गेट्स,

(संदर्भ...नये कंप्यूटर के साथ समस्या)



मैंने घर के लिए कंप्यूटर खरीदा है...उसी से संबंधित समस्याओं की तरफ़ आपका ध्यान दिलाना चाहता हूं...


1.कंप्यूटर पर 'Start' का बटन तो है 'Stop' का नहीं हैं...कृपया इस ओर ध्यान दीजिए...


2.एक संदेह का निवारण करना चाहता हूं...क्या सिस्टम में 're-scooter' उपलब्ध है, इसमें सिर्फ़
're-cycle' दिख रहा है...जबकि घर पर मेरे पास स्कूटर है...


3. कंप्यूटर पर 'Find' का बटन है, लेकिन सही ढंग से काम नहीं कर रहा है...मेरी पत्नी ने दरवाज़े की चाबी खो दी...हमने 'Find' से लाख चाबी ढ़ूंढने की कोशिश की लेकिन वो नहीं मिली...कृपया आगे से ऐसी समस्या न आए, इसे सुनिश्चित कराएं...


4. मेरे बेटे ने 'Microsoft word' सीख लिया है, अब वो 'Microsoft sentence' सीखना चाहता है, आप वो प्रावधान कब तक करेंगे...


5. मैंने कंप्यूटर, CPU, माउस और कीबोर्ड खरीदा है, लेकिन सिस्टम पर सिर्फ एक आइकन दिखता है 'My Computer'...बाकी की चीज़ें आप कब उपलब्ध कराएंगे...


6. ये आश्चर्यजनक है कि विंडोज़ कहती है 'MY Pictures', लेकिन वहां एक भी मेरी फोटो नहीं है...तो बताएं, आप कब मेरी फोटो उसमें डालेंगे...


7. सिस्टम में 'MICROSOFT OFFICE' तो है लेकिन 'MICROSOFT HOME' क्यों नहीं...जबकि मैं घर पर ही पीसी का इस्तेमाल करता हूं...


8. आपने 'My Recent Documents' उपलब्ध कराया है लेकिन 'My Past Documents' कब दिलवाएंगे...


9. आपने 'My Network Places' बता रखा है लेकिन कृपया करके 'My Secret Places' कभी मत बताइएगा...मैं नहीं चाहता कि मेरी पत्नी को पता चले कि मैं आफ़िस के बाद कहां-कहां जाता हूं...


भवदीय

मक्खन

(NB...बिल गेट्स से एक निजी प्रश्न...सर, आप का नाम Gates है, फिर आप WINDOWS क्यों बेचते हैं...)

31 टिप्‍पणियां:

  1. भाई, आज तो पागल हो गया हूँ हँस हँस कर। कमाल का ह्यूमर है जी इस में।

    उत्तर देंहटाएं
  2. कमाल कर दिया खुशदीप भाई,द्विवेदी जी सच कह रहे हैं हंसते हंसते पागल हो गया हूं।मान गये गुरूजी आपको।छा गये सर जी तुस्सी गरेट हो जी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिल गेट्स मान गये होंगे की ऐसे कमाल के इंसान तो इंडिया में ही हो सकते है जो हमेशा नई नई आविष्कार की बातें करते है.वैसे प्रश्न लाजमी है अब बिल गेट्स जब विंडो लांच करेंगे तो ज़रूर इन बातों का ख्याल रखेगे..

    उत्तर देंहटाएं
  4. बिल गेट्स अगर इसे पढ ले तो माथा कहा फ़ोडेगा बेचारा!!! मकखन सिंह जी तुहाडा जबाब नही

    उत्तर देंहटाएं
  5. खुशदीप सहगल असली पंजाबी पुत्तर है जी...
    बहुत खूब प्यारे, जबर्दस्त ठिठोली है मखनिये की। गेट्स को ऐसी प्रतिभा को अपने प्राडक्ट-सर्वे में स्थान देना था। आज से चौगुना रईस तो यकीनन होता। काम के प्रावधान गिनाए हैं मक्खन ने...

    उत्तर देंहटाएं
  6. ਮੱਖਣ ਦਾ ਪੱਤਰ ਪੜ੍ਹਕੇ ਦਿਲਖੁਸ਼ ਹੋ ਗਿਆ। ਮੇਰੇ ਪੰਜਾਬੀ ਪਰ ਚੱਲ ਰਹੇ ਇਸ਼ਕ ਦੇ ਵਰਕੇ ਨਾਵਲ ਦਾ ਮੁੱਖ ਖੁਸਦੀਪ ਹੈ, ਜੇਕਰ ਪਹਿਲਾਂ ਪਤਾ ਹੁੰਦਾ ਤਾਂ ਮੈਂ ਮੱਖਣ ਰੱਖ ਲੈਂਦਾ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. मक्खन का पत्र पढ़कर दिलखुश हो गया। मेरे पंजाबी ब्लॉग पर चल रहे उपन्यास का मुख्य किरदार खुशदीप है, अगर पता होता तो मक्खन ही रख लेता।

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा!! ओए मख्खन!!! क्या चीज हो भई!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह भाई! मक्खन ने दिमाग तो बहुत लगाया, इतना दिमाग कहां से पाया? खोज का विषय है। हा हा हा क्या बात है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बिल गेट्स की तो आज यकीनन लग गयी।

    वह तो आज यही कहेगा मक्खन जी तुस्सी ग्रेट हो तोह्फ़ा कबूल करो:)

    हा हा हा हा हा हा !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

    जय हिन्द....

    उत्तर देंहटाएं
  11. मजेदार...
    मुझे पता है कि बिल गेट्स विण्डोज़ क्यों बेचता है?...क्योंकि उसके गेट बेचने के धंधे में मैं कूद पड़ा हूँ(मेरा रेडीमेड दरवाज़ों का बिज़नस जो है)...वैसे अब मैंने उसके लिए और चिंता बढ़ा दी है क्योंकि अब मैं खिड़कियां(विंडोज) भी बेचने लगा हूँ

    उत्तर देंहटाएं

  12. दिल खुश हो गया.. बकौल मक्खन कम्प्यूटर इज़ अ बँडल ऑफ ब्लँडर्स !
    यह पढ़ कर बिल गेट्स कहीं छिपने के लिये गेट न ढ़ूँढ़ने लगें ?

    उत्तर देंहटाएं

  13. भूल सुधार :
    कहीं यह पढ़ कर बिल गेट्स छिपने के लिये कोई बिल ही न ढ़ूँढ़ने लगें ?

    उत्तर देंहटाएं
  14. गेट्स की जबाबी चिट्ठी आये तो पढ्वाये जरुर . वैसे मक्खन के उठाये गये सवालो का जबाब मै भी चहता हू . सही बात है नाम Gates है, फिर आप WINDOWS क्यों बेचते हैं...)

    उत्तर देंहटाएं
  15. बिल गेट्स भी बेचारा कोस रहा होगा ...कम्प्यूटर बनाने वाले को ...और मक्खन को तो माथा कूट कूट कर ...
    और खुद को भी ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  16. हंसाते हंसाते लोट पोट कराने वाला है यह पत्र .. आपकी संगति में मक्‍खन काफी आगे बढता जा रहा है !!

    उत्तर देंहटाएं
  17. हे भगवान् !!!
    बिल गेट्स ...ये पढ़कर गेट लगा कर बैठ गया होगा....
    हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  18. हा हा हा हा

    मक्खन के दिमाग की जितनी तारीफ की जाये कम है!

    उत्तर देंहटाएं
  19. वो बेचारा इसका ज़वाब देने के बजाय अब संन्यास ले लेगा।

    हा हा हा ! आज तो सुबह सुबह कल की टीचर्स मुलाकात का मज़ा आ गया।

    उत्तर देंहटाएं
  20. यह मख्खन भी ना... कुछ ज्यादा ही समझदार हो गया है..

    जय हिंद.....

    उत्तर देंहटाएं
  21. खुशदीप जी ये मक्खन पक्का सरदार ही होगा है न.......???
    गुल्ली और मक्खनी से तो यही जान पड़ता है
    बस अपना दिमाग तो लड़ाना ही था फिर उसने
    अब बिल गेट बंद करे या खिड़कियाँ ऊँगली तो कहीं न कहीं से घुस ही जाएगी .....!!

    उत्तर देंहटाएं
  22. खुशदीप जी,
    22 सितम्बर 2005 को नईदुनिया में प्रकाशित हो चुके तथा 27 फ़रवरी 2007 को मेरे ब्लॉग पर पोस्टेड इस लिंक को देखें…
    http://sureshchiplunkar.blogspot.com/2007/02/complaint-to-bill-gates.html

    इससे एक बात यह भी साबित होती है कि इंटरनेट पर बहुत पुरानी-पुरानी बातें अभी भी मौजूद हैं… :) जो हमेशा नई लगती हैं, क्योंकि पढ़ने वाले बदल जाते हैं…

    उत्तर देंहटाएं
  23. bahut khub kahi aapne! makkhan zyada samjhdaar ho gaya hai ji .....

    उत्तर देंहटाएं
  24. हा हा हा आज तो 'लाफ्टर क्लब' वालों को इसका प्रिंट आउट बाँट देना था...उनके हफ्ते भर की हंसी का कोटा पूरा हो जाता...

    उत्तर देंहटाएं
  25. खुशदीप भाई, हमें तो लगता है ये मक्खन एक दिन बिल गेट्स से लेकर बिल क्लिंटन तक सबको पटक देगा ,अपने उत्तम प्रश्नों से ,
    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  26. खुशदीप सर, ध्यान रखना मक्खन की लोकप्रियता बढ्ती जा रही है, कल को आप पर भारी न पड जाये। हम तो यही कहेंगे कि मक्खन का आई.क्यू. गजब का है।

    उत्तर देंहटाएं
  27. bahut gahan gambhir prashan hain makhkhanji ke.i.q. test karwane jaayenge to prashan paani bharege.wah kya dimag paaya hai.

    उत्तर देंहटाएं
  28. आज पढ़ा ..गेट्स और विंडोस हाहाहाहाहाहाहाह्

    उत्तर देंहटाएं