शनिवार, 9 जनवरी 2010

पत्नियों को समझने के 10 Commandments...खुशदीप

तो लो जी जनाब, आज आपको वो चीज़ बताने जा रहा हूं जिसके लिए बड़े बड़े दार्शनिकों ने अपने पूरे जीवन का तज़ुर्बा लगा दिया...पत्नी को समझने के लिए इन Ten Commandments पर बस गौर कीजिए...बिना कोई हाथ-पैर मारे वो सब जानिए जिसके लिए बड़े-बड़े सूरमाओं ने अपना पूरा हुनर झोंक दिया...लीजिए जनाब, गौर से और दिल थाम कर पढ़िए Ten Commandments....

1.अगर आप की पत्नी को कोई आपसे चुरा लेता है तो उससे सबसे बड़ा बदला यही होगा कि पत्नी को उसके पास ही रहने दिया जाए...David Bissonette

2.शादी के बाद पति-पत्नी की हालत एक सिक्के के दो पहलुओं जैसी हो जाती है जो हमेशा साथ तो रहते हैं लेकिन एक दूसरे को आमने-सामने बर्दाश्त नहीं कर सकते...Sacha Guitry

3.संसार की सबसे बड़ी पहेली- जिसे बड़े से बड़े सूरमा भी नहीं सुलझा पाए हैं...आखिर एक महिला चाहती क्या है...Dumas

4.मेरी पत्नी बड़ी दयालु है...मैं उससे कुछ शब्द बोलता हूं और वो पूरे पैराग्राफ के पैराग्राफ मुझे सुनाती है...Sigmund Freud

5.इंसान को शादी ज़रूर करनी चाहिए...अगर इंसान को अच्छी पत्नी मिल जाती है तो वो हमेशा खुश रहता है और अगर बुरी पत्नी मिलती है तो वो बहुत बड़ा दार्शनिक बन जाता है....Socrates
(ये वाला सूत्र खास तौर पर अनिल पुसदकर जी के ध्यानार्थ)

6.इलैक्ट्रॉनिक बैंकिंग से भी तेज़ फंड ट्रांसफर का तरीका आप जानते हैं क्या है...वो है
शादी...Sam Kinison

7.पत्नियों के मामले में मेरी किस्मत खराब ही रही है...पहली मुझे छोड़ कर चली गई और दूसरी ने कहीं का नहीं छोड़ा...James Holt McGavra


8.पतियों के लिए शादी को सफल बनाने के दो स्वर्णिम सूत्र-
पहला- जब आप गलत हो इसे खुले दिल से स्वीकार करें..
दूसरा- जब आप सही हो, अपना मुंह बंद रखें...Patrick Murra

9.अपनी पत्नी के जन्मदिन को हमेशा याद रखने का सबसे अच्छा तरीका...बस किसी एक साल पत्नी का जन्मदिन भूल जाइए...Nash

10.एक अक्ल के मारे ने अखबार में एड दिया...पत्नी चाहिए....अगले दिन उसे सौ जवाबी खत मिले...हमारी ले जा... Anonymous

48 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही मजेदार... इनमे से कई का तो मैं खुद भुगत भोगी हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  2. :)
    अनिल तो खुश और दार्शनिक दोनों हैं
    पत्नी के लिए क्या बचा ?

    उत्तर देंहटाएं
  3. संजू भाभी,
    अब अपने राजीव तनेजा परा की बात मानूं या आपकी...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  4. हा हा हा हा हा हा हा... मज़ा आ गया पढ़ कर.....

    शायद इसी डर से हम इस उम्र में भी कुंवारे हैं..... ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ .....

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  5. हा हा हा !खुशदीप भाई। दस के दस मजेदार।

    महफूज़ भाई,
    हमारी मानो तो जिंदगी में शादी एक बार ज़रूर कराना।
    वरना सारी जिंदगी बिना वज़ह पड़ेगा पछताना।
    शादी करके आपकी हालत होगी सो होगी
    लेकिन पछताने की एक वज़ह तो होगी।

    उत्तर देंहटाएं
  6. कया बात है, इतनी अच्छी ओर सुंदर बात आज बता रहे है:)

    उत्तर देंहटाएं
  7. सब बड्डे बड्डे लोगों के अनुभव हैं। कुछ छोटे छोटे लोगों के भी हो जाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. ज़रा एक बार चित्रकथा पर आयें।
    देखें आप पत्नी की कितनी सेवा करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  9. पत्नी को समझाने /सलटाने के लिए कमांडेंट पढ़िए -खुशदीप !

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह खुशदीप भाई ,आज तो ब्रह्मचारियों और शादीशुदा दोनों को बराबर लाभ हुआ होगा इन अमर वचनों का जय हो जय हो , आपको भी ससुराल से वापस आने पर दिव्य ज्ञान की प्राप्ति हो गई है ,

    उत्तर देंहटाएं
  11. खुशदीप भाई..हालाँकि अभी तो इसकी ज़रूरत नही आई है फिर भी आपकी यह सलाह सर आँखों पर भविष्य में काम आ सकती है.. सत्य वचन ढूढ़ कर प्रस्तुत किए है आप...बढ़िया विषय वस्तु कुछ भाइयों के लिए..

    उत्तर देंहटाएं
  12. देखा महफूज़,

    डॉक्टर दराल सर, कितनी खूबसूरती से कभी अपनी की हुई गलती का बदला तुम से लेना चाहते हैं...दार्शनिक तो तुम पहले से हो ही...डॉक्टर साहब अब तुम्हें दीवाना बना कर छोड़ेंगे...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  13. अजय कुमार झा भइया,

    मान गए, खूब पहचाना...आखिर जिस पर खुद बीती हुई हो, वो ही दूसरे का दर्द ठीक से समझ सकता है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  14. यथार्थ लेखन।
    गांभीर्य का परिचय।

    उत्तर देंहटाएं
  15. मनोज जी,
    साधुवाद, कम से कम आपने तो इस लेख के यथार्थ और गांभीर्य को पहचाना...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  16. क्या गजब किये हो खुशदीप जी इतना सारा ज्ञान एक ही किश्त में?

    जय हो:)

    जय हिंद.....

    उत्तर देंहटाएं
  17. वैसे खुशदीप जी इन पर भी गौर करें:

    एक पत्नी ही एक पति के दिल की खुशी है। -- Talmud

    मेरी सबसे शानदार उपलब्धि थी अपनी पत्नी को मुझसे शादी करने को मनाने में सक्षम होना। -- Winston Churchill

    जय हिंद.....

    उत्तर देंहटाएं
  18. अरे! सतिन्द्र जी....

    नमस्कार....

    कैसे हैं आप?

    उत्तर देंहटाएं
  19. Khushdeep ji....ye kya kia aapne....itne sare Raaz ek sath khol diye...apne to RAAZ-3 bana dali....

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत खूब खुशदीप जी।
    सबसे अच्छा ये वाला....
    .संसार की सबसे बड़ी पहेली- जिसे बड़े से बड़े सूरमा भी नहीं सुलझा पाए हैं...आखिर एक महिला चाहती क्या है.

    उत्तर देंहटाएं
  21. Bahut khoob....Ab ye bataoye patiyon kesamjhne ke 10 commandments yahin bataun ya agli post main ? :)

    उत्तर देंहटाएं
  22. सुनो मक्खन अपनी बीवी दुश्मन के घर छोड़ आया है
    झूठ-मूठ दुश्मन पर उसने इलज़ाम चोरी का लगाया है
    कहता है चोरी गयी चीज़ वो वापिस नहीं लेता है...
    पहले सोचना था चोर बाबू अब वापिस क्यूँ देता है
    कहाँ कभी कोई पहेली उससे सुलझ भी पाती है
    एक शब्द कहता है वो बीवी सप्रसंग व्याख्या बताती है
    जब से शादी हुई मक्खन की bankrupt सा लगता है
    और कभी मुझे वो कोई दार्शनिक सा दीखता है
    हा हा हा हा ....

    उत्तर देंहटाएं
  23. बड़ा मजा आ रहा है अभी तो ...जब पत्नियाँ पतियों की पोल खोलने लग जायेंगी तब देखेंगे ...किस खोह में जाकर छुपेंगे ....
    हा हा हा ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  24. शिखा वार्ष्णेय जी.
    वाणी गीत जी,

    मुझे बेसब्री से आपकी पोस्ट का इंतज़ार है...जलेबी सरीखे पति जैसे सीधे और निरीह प्राणी को समझने के लिए 10 commandments निश्चित रूप से मज़ेदार होंगे...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  25. अदा जी,

    अभी अभी मक्खन को,
    उसके दुश्मन का फोन आया है...
    पूछा है, गुरुदेव,
    ये कौन से जन्म का बदला चुकाया है...
    मैं और मेरे बाप की तौबा,
    ये कौन सा रॉंग नंबर मिलाया है...
    कोटि कोटि नमन आपको हुज़ूर,
    जो आपने साथ रहने का हौसला पाया है...
    उसे फांसी पर लटकना होगा मंज़ूर,
    जो इस बला के जाल में आया है...

    और कुछ सुनना है मक्खन के दुश्मन का दर्द...या बस...

    अब संतोष जी से ये गाना सुनने का मन कर रहा है..

    कौन सुनेगा, किसको सुनाए,
    इसलिए चुप रहते हैं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  26. पतियों के लिए शादी को सफल बनाने के दो स्वर्णिम सूत्र-
    पहला- जब आप गलत हो इसे खुले दिल से स्वीकार करें..
    दूसरा- जब आप सही हो, अपना मुंह बंद रखें..

    यही सत्य है . आर्ट आफ़ लिविंग विद वाइफ़

    २,३,४,५,६,८,९ को जो जी रहा हूं . ७ नम्बर के पह्ले चरण क इन्तज़ार है कोई विधि हो तो बताये

    उत्तर देंहटाएं
  27. धीरू भाई,
    आपने पहला और दसवां सूत्र छोड़ दिया, उसी में आपके सातवें सूत्र की समस्या का हल छुपा है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  28. यह सूत्र तो सही हैं पर अगर कोई कुँवारा हमसे पूछने आता है/था कि शादी करनी चाहिये या नहीं हम तो केवल एक वाक्य कहकर खिसक लेते हैं/था, अपनी खुन्नस और बदला निकालने के लिये "शादी वो लड्डू है, जो खाये वो भी पछताये और जो न खाये वो भी पछताये" तो भैया खाके ही पछता लो। और फ़ँसा देते हैं फ़िर शादी के बाद रोता रहता है कि तुमने ये सब पहले क्यों नहीं बताया था। तब हमारा जबाब होता है/था कि जब हम बच नहीं पाये तो बच्चू तुमको कैसे बचने देते, जब तकलीफ़ होती है तभी पता चलता है। :)

    उत्तर देंहटाएं
  29. खुशदीप जी ये सभी फंडे मैने अपने पति को दे दिये मगर इन मे से कोई भी उनके काम न आया अब? हा हा हा आशीर्वाद्

    उत्तर देंहटाएं
  30. खुशदीप जी, जिस चीज को बनाकर ब्रह्मा भी खुद चकरा गये और समझ नहीं पाये तो हमारी क्या औकात है कि उसे समझ सकें?

    10 Commandments तो क्या 1001 Commandments बना लें पर पत्नी को समझना "टेढ़ी खीर" ही बनी रहेगी।

    अब टिप्पणी में एक रीठेलः

    एक आदमी अपनी पत्नी के कटु व्यवहार से इतना त्रस्त हुआ कि उसने शराब पीना शुरू कर दिया। पत्नी को चिन्ता हुई कि पति के शराब की आदत को कैसे छुड़ाया जाये। वह आदमी रात में जब शराब पीकर घर आता था तो रास्ते में श्मशान पड़ता था। एक रात्रि उसके आने के समय में उसकी पत्नी अपनी सूरत शकल बदल कर विकराल भूत के रूप में श्मशान के पास अंधेरे स्थान में बैठ गई। ज्योंही उसका पति वहाँ पर पहुँचा उसने भयंकर आवाज करते हुए उसे रोका। घोर अंधेरे और नशे में होने के कारण पति ने उसे भूत ही समझा।

    भूतरूपी पत्नी ने भैरवनाद करते हुए उससे कहा, "कल से तूने यदि दारू पीना नहीं छोड़ा तो मैं तुम्हें खा जाउँगा।"

    उस आवाज को सुनकर पहले तो पति भयभीत हुआ, फिर हिम्मत जुटाकर उसने कहा, "तू मुझे नहीं नहीं खा सकता।"

    भयंकर आवाज, "क्यों नहीं खा सकता?"

    "अबे, मुझे खा कर अपनी बहन को विधवा बनायेगा क्या?"

    उत्तर देंहटाएं
  31. हाहाहा...एक से एक बढ़कर अनमोल वचन...पर सब बेचारे पतियों के लिखे हुए....अब तो वाणी शिखा से मंत्रणा कर लिखना ही पड़ेगा..कुछ...इंतज़ार करिए...:)

    उत्तर देंहटाएं
  32. दस नम्बर तो आपका लगता है?


    पत्नी गुस्से में बोल रही हो तो हँस मतो, नहीं तो जलती पर घी हो जाएगा : कुलवंत हैप्पी

    उत्तर देंहटाएं
  33. hahahaha...........yahan to patniyon ke samjhne ke gur bataye hain magar amal kitne laye hain.

    उत्तर देंहटाएं
  34. जब आप पत्नियों को जानने के नुस्के सीखने सिखाने लगे तब तो भई आप बाबाजी बनाने के कगार पे हैं!!! जय शम्भू!!!

    उत्तर देंहटाएं
  35. लगता है आप शादी शुदा नही हैं ......... या आपकी पत्नी नेट पर नही है .......... वरना ऐसी बात .......... कभी नही करते .....

    उत्तर देंहटाएं
  36. खुश दीप जी सब के सब तरीके नायाब और एक से बढ़कर एक है.फिर भी पत्नी को समझा नहीं जा सकता.जिसको जाना नहीं जा सकता उसे अज्ञेया कहते है.

    उत्तर देंहटाएं
  37. खुशदीप भाई मुझे नही बनना है दार्शनिक अपुन ऐसे ही मस्त हैं और मज़े मे हैं।हां मगर आई(माताजी)ज़रूर पीछे पड़ी हुई है, लगता है दार्शनिक बना कर ही छोड़ेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  38. खुशदीप भाई-शादी वो कमरा है जिसमे पति दरवाजे से तो सीना तान कर आ जाता है पर उसके बाद खिड़की से कुद कर भागना भी चाहता है।
    हा हा हा लेट आने के लिए माफ़ी देना भाई

    उत्तर देंहटाएं
  39. kya baat hai...khushdeep bhi...lekin iska ..jawab zaroor milega...

    उत्तर देंहटाएं
  40. ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha

    khusdeep ji hum to kunware hai ......par ha kuch baate kunware ke liye bhi fit hai....

    jawabhi hamle ke liye tyaare rahegaa,.,...mahia morcha aane wala hai aap par

    uske baad yahi 10 rule kaam aayenge...

    उत्तर देंहटाएं
  41. Satye bachan Bahiye, eko na jhootha,
    aur bhi add karo,

    shukriya

    उत्तर देंहटाएं