बुधवार, 2 दिसंबर 2009

अलविदा, अलविदा...खुशदीप

अलविदा, अलविदा...कितने जानलेवा हैं ये शब्द अलविदा....आप के सफ़र में कोई साथी बन गया हो...रोज़ आपका उससे वास्ता हो...और फिर अचानक वो कह दे, अलविदा...ये शब्द फिर कानों में पिघलते लावे से कम नहीं लगता...कैसे कोई एकतरफ़ा फैसला ले सकता है...जबकि उस पर अब औरों का भी हक है....क्या सिर्फ एक एसएमएस करने से ही दूसरों का ये हक़ छीना जा सकता है...

यहां मैं और किसी की नहीं झा जी कहिन वाले हरदिलअज़ीज़ अजय कुमार झा जी की बात कर रहा हूं...झा जी का ही कहना था कि मैं सारे गीत ब्लॉगर भाइयों को सुना देता हूं, कोई गीत अपनी पत्नी के लिए भी बचा कर रखा करूं...तो आज अजय भाई, पहले एक गीत मैं आपको सुना लूं...आपने कैसे कह दिया अलविदा....


गीत को सुनने और देखने के लिए यू ट्यूब का लिंक है...

http://www.youtube.com/watch?v=ZNdpoWhLDFE&feature=fvw

चुपके से कहीं, धीमे पांव से
जाने किस तरफ़, किस घड़ी
आगे बढ़ गए हमसे राहों में
पर तुम तो अभी थे यहीं
कुछ भी न सुना, कब का था गिला
कैसे कह दिया अलविदा...


जिनके दरमिया गुज़री थी अभी
कल तक ये मेरी ज़िंदगी
दोनों बाहों को, ठंड़ी छांव को
हम भी कर चले अलविदा
अलविदा अलविदा, मेरी राहें अलविदा
मेरी सांसें कहती हैं, अलविदा
अलविदा, अलविदा, अब कहना और क्या
जब तूने कह दिया, अलविदा...


सुनले बेख़बर, यूं आंखें फेर कर आज तू चली जा
ढ़ूंढेगी नज़र हमको ही मगर हर जगह
ऐसी राहों में लेके करवटें, याद हमारी करना
और फिर हार कर कहना क्यूं मगर, कह दिया अलविदा, अलविदा
कोई पूछे तो ज़रा, क्या सोचा और कहा अलविदा
अलविदा, अलविदा, अब कहना और क्या
जब तूने कह दिया, अलविदा...


दिल चले, फिर भी दिल कहे
काश मेरे संग होते तुम अगर, होती हर डगर गुलसिता
तुमसे है खफ़ा, हम नाराज़ है, दिल है परेशान
सोचा ना सुना तूने क्यों भला कह दिया अलविदा,अलविदा
कोई पूछे तो ज़रा, क्या सोचा और कहा अलविदा
अलविदा, अलविदा, अब कहना और क्या
जब तूने कह दिया, अलविदा...


क्या सोचा और कहा अलविदा
दोनों बाहों को, ठंड़ी छांव को
हम भी कर चले अलविदा...

( फिल्म- लाइफ़ इन ए मेट्रो, गीतकार-सैयद कादरी, संगीतकार- प्रीतम, गायक- जेम्स )

27 टिप्‍पणियां:

  1. अजय जी मजाक कर रहे होंगे. मजाक में कही बात का बुरा नही मानते

    उत्तर देंहटाएं
  2. काम से निकले हैं..आ जायेंगे..दिल भारी मत किजिये. वो यारों के यार हैं..ऐसे दुखी करके नहीं जायेंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  3. कुछ न कुछ मजबूरी होगी उनकी। विश्वास है कि मजबूरी खत्म होते ही फिर मित्रों के पास वापस आ जायेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  4. "जाने वाले हो सके तो लौट के आना", मेसेज परसों मेरे मोबाईल पे भी आया था। लेकिन मै रात को देख नही पाया,कल सुबह देखा।
    झा जी कहिन-जल्दी ही आयेंगे, ऐसी मुझे उम्मीद है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. चलो ...
    ... किसी मोड़ पर फिर मुलाकात होगी ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. खुशदीप भाई---कवि, गीतकार, या शायर !

    हम तो खुशी मिश्रित हैरानी में पड़ गए।

    वो तो बाद में पता चला की ये तो किसी फ़िल्म का गाना है।

    लेकिन भइया, बहुत सही गाना चुना है।

    झा मियां कहाँ जायेंगे भागकर।

    उत्तर देंहटाएं
  7. खुशदीप जी,
    बहुत सुन्दर गीत सुनवा दिया आपने......
    झा जी शायद फिलहाल नहीं आने वाले हैं....कोई व्यक्तिगत कारण होगा.....कभी कभी इंसान अपने लिए भी कुछ समय और जगह चाहता है.....अगर ऐसा है तो हमें उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए...
    झा जी को आपके द्वारा प्रेषित सम्मान में हम सभी आपके साथ हैं...और ये भी बता देते हैं उ जरूर इ सब पढ़ रहे होंगे और मंद-मंद मुस्किया रहे होंगे.....:):)

    उत्तर देंहटाएं
  8. अरेSSSSSS........
    एक ठो बतवा तो भूलिए गए कहने...इ 'अलविदा' हो ही नहीं सकता है जरूर commercial break होगा......और मिलेंगे वो एक छोटे से ब्रेक के बाद...:):)

    उत्तर देंहटाएं
  9. "अजय झा जी...मैँ इक दिन लौट के आऊँगा...ये मत भूल जाना तुम"...ये सुनने को हमारे कान तरस रहे हैँ

    उत्तर देंहटाएं
  10. अरे वाह ! आपको नए गाने भी पसंद हैं... ऐसे में दुष्यंत कुमार याद आते हैं
    "कैसे -कैसे मंज़र आने लगे हैं.
    लोग गाते-गाते चिल्लाने लेंगे हैं" ...... )

    उत्तर देंहटाएं
  11. झा, जी कहीं नहीं गए हैं, यहीं हैं। बस कुछ समय के लिए अवकाश पर हैं। फिर लौट कर आएंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  12. गाना तो बहुत ख़ूबसूरत है....और अजय जी यह जान यक़ीनन बहुत खुश होंगे....कि सारे ब्लोगेर्स बन्धु उन्हें कितना मिस कर रहें हैं

    उत्तर देंहटाएं
  13. भैया ..... मैं तो शीर्षक पढ़ कर डर ही गया था.......

    इसी बहाने बड़ा अच्छा गाना सुनने को मिल गया.....

    अजय जी से बात हो गई है.... मेरी.....

    घबराने कि कोई बात नहीं है......

    जय हिंद....

    उत्तर देंहटाएं
  14. भाई इतना डरावना शीर्षक न लिखा करें ... शीर्षक देखकर डर गया पर आगे कविता पढ़कर आत्मा को शांति मिली की आप कहै नहीं जा रहे है और हमारे बीच रहेंगे....... कविता अच्छी लगी .....

    उत्तर देंहटाएं
  15. आप तो डरा ही दिए थे ...अब झा साहब कोई दुर्योधन नहीं है जो किसी कमलनाल में जा छिपे हैं और ब्लॉग भीमों को बार बार उन्हें ललकारना पड़े !
    आ ही जायेगें अगर सचमुच दुर्योधन न हुए तो ! मुझ्र न आजने क्यूं शंका है की श्रीमती झा ने उन्हें कोई किरिया करम धरा दिया है -बिचारे भोले भाले हैं और गृहस्थी भी अभी नयी है !
    नहीं नहीं अभी सम्पन्न लगातार ब्लॉगर मीट से उनका ब्लागरों के यथार्थ से मोहभंग हुआ नहीं लगता -ऊपर वाली बात ही सही है !

    उत्तर देंहटाएं
  16. जाने वाले हो सके तो लौट के आना !
    ख़ुशदीपजी, जिस वर्ज़न का लिंक आपने दिया है, उसे जेम्स ने गाया है, केके ने दूसरा वर्ज़न गाया है।

    उत्तर देंहटाएं
  17. प्रबुद्ध भाई,
    भूल की ओर इंगित करने के लिए शुक्रिया...नए गायकों के बारे में कम ही जानता हूं...जो यू ट्यूब पर गायक का नाम दिया था, उसी पर भरोसा कर लिया था...अब आपकी बात पर भरोसा करते हुए पोस्ट में के के की जगह जेम्स नाम दे दिया है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  18. सागर जी की बात गौर फरमाने लायक है

    उत्तर देंहटाएं
  19. hamare dil ki dharkan tej ho jati hae alwida word sunkar hum tu iska kuch aur hi matlab nikal rahe the.

    उत्तर देंहटाएं
  20. खुशदीप जी क्या हो गया है आपको आज कल बहुत डराने लगे हैं उस दिन डरा दिया था कि प्रलय आने वाली है और आज ये प्रलय की खबर सुना दी। अरे वो कहीं नहीं जाने वाले। ब्लाग से दूर भी भला कोई जा कता है चलो इसी बहाने आपका गीत सुन लिया। झा जी जरा मजालिया हैं उनको ये भी पता है कि खुशदीप भाई जल्दी भावुक हो जाते हैं इस लिये आपका इम्तिहान ले रहे हैं अरे झाजी कहीं आप सुन रहे हैं तो जल्दी से आ जाईये । सभी आपका इन्तज़ार कर रहे हैं शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  21. अरे बिमार भी तो हो सकते है, यह जुकाम ओर सर्दी ने सब को तंग कर रखा है, बस ३,४ दिनो मे फ़िर से झा जी आ जायेगे, लेकिन आप का मखन आज दिखाई नही दिया:)

    उत्तर देंहटाएं
  22. हम इंतजार करेंगे तेरा कयामत तक
    खुदा करे कि कयामत हो और तू आये?

    कयामत जरुर और जल्द होगी.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  23. बढ़िया गीत..एक ये भी गीत है जो दूसरे अंदाज में है मगर बढ़िया है..अभी अलविदा मत कहो दोस्तों न जाने कहाँ फिर मुलाकात होगी...

    उत्तर देंहटाएं
  24. जाने वाले को आना होगा :)
    आएगा आनेवाला...आएगा....आएगा ... आएगा...

    उत्तर देंहटाएं
  25. हमे तो एक ही गीत आता है
    चलते चलते मेरे कमेंट याद रखना
    कभी अलविदा ना कहना कभी अलविदा ना कहना .....

    उत्तर देंहटाएं
  26. बहुत सुन्दर गीत सुनवा दिया आपने...... बहुत ही अच्छी प्रस्तुती.....

    उत्तर देंहटाएं
  27. मियां कहाँ जायेंगे???????



    हा हा हा हा हा हा हा हा हा !!
    मजेदार रोचक!!!

    उत्तर देंहटाएं