बुधवार, 14 अक्तूबर 2009

देश सबसे पहले...खुशदीप

कभी कभी बहुत थोड़े में भी अपनी बात कहने की कोशिश करनी चाहिए...वहीं आज मैं कर रहा हूं...देश सबसे पहले है...और धर्म वो आंतरिक शक्ति देता है जिससे कि इंसानियत के पैगाम को सही अर्थों में समझा जा सके...
HINDU...I...SM
JAI...N...ISM
BUD...D...HISM
SIKH...I...SM
ISL...A...M
CHRISTA...N...ITY

(देश के सभी धर्मों से ही निकल रहा है...INDIAN...का संदेश)

पाबला जी...मैं...महफूज़ भाई...पीटर और देश को सबसे पहले समझने वाली सोच के सभी भाई-बहन
दीवाली के दीप साथ जलाएंगे
ईद की खुशियां मिल कर बांटेंगे
गुरपूरब पर साथ गुरु का प्रसाद छकेंगे
क्रिसमस पर साथ केक काटेंगे

( अगर नफ़रत के सौदागर अब भी भाईचारे के संदेश को नहीं समझते हैं तो हम सिर्फ उन पर तरस खाने के अलावा और कुछ नहीं कर सकते...)

स्लॉग ओवर
जापान में प्राइमरी के बच्चों को एक पाठ पढ़ाया जाता है...बच्चों तुम सबसे ज़्यादा सम्मान किसका करते हो...जवाब मिलता है...महात्मा बुद्ध का...दूसरा सवाल...बच्चों अगर कोई महात्मा बुद्ध को बुरा-भला कहे तो तुम क्या करोगे...जवाब...हम उसे ऐसा करने से रोकेंगे...तीसरा सवाल...अगर महात्मा बुद्ध ही तुम्हारे देश पर हमला कर दे तो क्या करोगे...जवाब आता है...उन्हीं का सिर काट देंगे...
 
 

23 टिप्‍पणियां:

  1. आप से पूरी तरह सहमत होने के साथ ही इस दीपावली के त्योहार पर यह भी कहना चाहूंगा :

    दीपावली के दिन घरों में की जाने वाली रोशनी केवल सजावट के लिए नहीं होती है, अपितु वह जीवन के भी एक गहरे सत्य को व्यक्त करती है.....

    वह संकेत देती है कि हम हरेक दिल में प्रेम और ज्ञान की लौ प्रज्ज्वलित करें और सभी के चेहरों पर सच्ची मुस्कान लाएं....

    इसलिये केवल एक ही दीप जला कर संतुष्ट न हों बल्कि हजारों दीप जलायें और हजारों चेहरों पर सच्ची मुस्कान लाएं :)

    स्लॉग ओवर हमेशा की तरह एक संदेश देता हुआ :)

    सभी को दीपावली की शुभ कामनायें !!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर बात कही आप ने बच्चो के मुख से. धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप को ओर आप के परिवार को दीपावली की शुभ कामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  4. कम शब्दों में बहुत ही सटीक बात कह दी आपने...देशभक्ति से बढकर कुछ नहीं...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आप से सहमत।
    दीपावली पर स्नेह के दीप जलाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. ओह अच्छी पोस्ट,,,,:)
    वैसे सर जी आपके पोस्ट २०-२० का मजा देते हैं.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. दोनों ही सुन्दर संदेश...याने स्लॉग ओवर भी.

    उत्तर देंहटाएं
  8. Waah bahut sundar..!!
    Desh se badh kar kuch bhi nahi hota...
    Deepawali ki hardik shubhkamna !!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर सन्देश -- संक्षिप्त मगर बहुत कुछ कहती हुई

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत बढिया .. देश के बाद ही कुछ है !!

    उत्तर देंहटाएं
  11. जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी।

    सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा
    हम बुलबुले हैं उसकी वो गुलसितां हमारा।

    जय हिन्द!


    दीपावली की शुभकामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. .
    .
    .
    "जापान में प्राइमरी के बच्चों को एक पाठ पढ़ाया जाता है...बच्चों तुम सबसे ज़्यादा सम्मान किसका करते हो...जवाब मिलता है...महात्मा बुद्ध का...दूसरा सवाल...बच्चों अगर कोई महात्मा बुद्ध को बुरा-भला कहे तो तुम क्या करोगे...जवाब...हम उसे ऐसा करने से रोकेंगे...तीसरा सवाल...अगर महात्मा बुद्ध ही तुम्हारे देश पर हमला कर दे तो क्या करोगे...जवाब आता है...उन्हीं का सिर काट देंगे..."

    खुशदीप जी,

    You have hit the nail on the head! और वह भी हथौड़े से नहीं भारी भरकम 'घन' के साथ...
    वक्त आ गया है कि हमारे यहाँ भी हर कोई यह समझ ले ... कि... "सबसे बढ़कर देश ही है"
    देश विचारधारा, धर्म, परंपरा, ईश्वर, धर्मग्रंथ, परिवार, कुनबा आदि आदि. इन सब से बड़ा है... जापान का उदाहरण इसे साबित करता है... देश के बाद ही फिर इन सब का नंबर आता है... आना चाहिये...

    आपके स्लॉग ओवर ने तो आज २०-२० स्टाइल में पूरी टेस्ट सीरिज का ज्ञान दे दिया भाई...

    उत्तर देंहटाएं
  13. उस जापान के मा साब को अपने यहां भी बुलाओ खुशदीप जी...सोटे मार मार के ये क्लास लें सबकी..शायद तब सबकी समझ में आ जाये..

    उत्तर देंहटाएं
  14. यह हुआ सच्चा देशनामा... पिछले कुछ दिनों से ब्लोग्नामा बना हुआ था... अनूप सर के साथ - जय हो!

    उत्तर देंहटाएं
  15. Khushdeep Sir......... bas zara 5 minute ke liye ghar aaya tha......... Mobile ka SIM kharaab ho gaya hai......... wahi lene ja raha tha........ to Documents lene aaya tha ghar........pe..... socha ki aapse milta chaloon....... kal se net pe baith nahin paya hoon, yeh post bahut achchi lagi........ slog over bahut badhiya hai......

    aap mujhe plz apna mobile number email kariyega......... mailtomahfooz@gmail.com par


    Abhi aata hoon phir..........


    JAI HIND.

    उत्तर देंहटाएं
  16. इसी भावना के साथ दिवाली मनाएं. शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  17. जापान मे यदि बुद्ध के सन्देश को इस तरह से लिया गया तो इस दुनिया का क्या होगा क्योंकि बुद्ध तो अहिंसावादी थे । यह बात अलग है कि हर् धर्म मे अब न जाने कितनी विक्रतियाँ आ गई है । खैर छोड़िये दिवाली का अवसर है हम प्रेम मोहब्बत की बाते करें गला काटने की नही गले मिलने की बाते करे .. यही हर धर्म का सही सन्देश है ( जिसे भुला दिया गया है और जिसे हम सब मिलकर बार बार याद दिलाना चाहते हैं ) शुभकामनायें आप सभी को ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. bahut bahut badhai aapko sabse pahle desh jaisi soch dikhane va batane ke liye,........ diwali ki shubhkaamnaaye

    उत्तर देंहटाएं